• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • 9 youths got off their bicycle on their way to Gorakhpur and Jharkhand, thousands of kilometers away from Pune.

पलायन अभी जारी / पुणे से हजारों किमी दूर गोरखपुर व झारखंड के सफर पर साइकिल से ही निकल पड़े 9 युवक

X

  • 7 दिन बाद सूखी सेवनिया पहुंचे, आधा सफर अब भी बाकी है
  • पैदल चलकर अपने घरों की ओर जाने वाले मजदूर कम ही दिखने लगे हैं

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

भोपाल. मजदूरों का पलायन अभी भी जारी है। हालांकि अब पैदल चलकर अपने घरों की ओर जाने वाले मजदूर कम ही दिखने लगे हैं। शुक्रवार दोपहर 2 बजे सूखी सेवनिया, विदिशा वायपास पर एक साथी छूट जाने पर 3 मजदूर उसका इंतजार कर रहे थे। यह चारों साइकिल से ही पुणे से गोरखपुर के लिए 15 मई को निकले थे। अभी 900 किमी से अधिक दूरी तय करना बाकी है। इनमें शामिल शौखत अंसारी कहते हैं कि अपनी सवारी अपनी ही होती है। कोई किसी को नहीं पूछता। ट्रेन, गाड़ी सब कहने के लिए हैं, इसलिए साइकिल से ही निकल पड़े।

पहले बोले- पैसे नहीं लगेंगे, फिर मांगने लगे
शौखत ने बताया कि रास्ते में दो जगह बस मिलीं। एक बस में बैठ गए। तब एक साहब ने बोला था कि पैसा नहीं लगेगा, फिर बस का ड्राइवर 200-200 रुपए मांगने। खाने के लिए पैसा है नहीं तो बस के कहां से देते, इसलिए उतर कर साइकिल से अपनी राह तय करने लगें।  

अपने घर में नमक संग रोटी खाने में भी सुकून मिलता है

पुणे से ही 5 मजदूरों ने 16 मई को को साइकिल से झारखंड के गड़वा जिले के लिए यात्रा शुरू की। इन्हें डेढ़ हजार किमी से भी अधिक का सफर तय करना है। शुक्रवार दोपहर 1.50 बजे सूखी सेवनिया पहुंचे। यह पैसा कमाने के लिए पुणे गए थे। इनमें शामिल सुमित कुमार व अन्य साथी बताते हैं कि गए थे पैसा कमाने, लेकिन जो कमाया था वह वहीं खत्म हो गया। अपने घर में एक रोटी नमक से भी खाने वाला सुकुन से रहता है। पुणे में लोग टेंशन में रह रहे थे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना