भोपाल में व्यापारी ने खुद पर गोली चलवाई:25 लाख रुपए की उधारी न चुकाने रचा षडयंत्र; इन 5 पाइंट से गलत साबित हुई व्यापारी की थ्योरी

भोपाल5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

25 लाख की उधारी न चुकाने पड़े इसलिए भोपाल में एक व्यापारी ने खुद पर ही गोली चलवाई थी। इसके लिए उसने खुद के हाथ पर गोली खाई। प्लानिंग के तहत उसने इस मामले में जिससे उधार रुपए लिए थे, उसे ही फंसाया, लेकिन पुलिस की पूछताछ में गोली चलाने वाला बदमाश और व्यापारी टूट गया और उनका झूठ 48 घंटे में सामने आ गया। आरोपी ने इसके लिए एक बदमाश को हायर किया था, लेकिन उसी ने पुलिस के सामने पूरी कहानी बता दी।

यह है पूरी कहानी
अयोध्या बायपास निवासी 31 साल के प्रवेश जैन की मेहता मार्केट में गाड़ी सुधारने की दुकान है। उन्होंने पुलिस को बताया था कि शनिवार रात करीब 9 बजे वह दुकान बंद कर घर जा रहा था। इसी दौरान उस पर किसी ने गोली उसके दाहिने हाथ में मार दी। प्रवेश ने अपने परिचित बसंत सिंह पर आरोप लगाया था।

शिकायत मिलते ही पुलिस ने बसंत सिंह को हिरासत में लिया था। संदेह होने पर पुलिस ने जब जांच की, तो कहानी उल्टी निकली। इसके बाद पुलिस ने ऐशबाग के बदमाश मोहम्मद गुराज को गिरफ्तार किया। गुराज ने ही प्रवेश के कहने पर उस पर गोली मारी थी। पुलिस की सख्ती के आगे वह टूट गया और उसने पूरा सच बता दिया।

इन बिंदुओं पर व्यापारी की प्लालिंग फेल हुई

  • प्रवेश ने पुलिस को बताया था कि किसी ने दूरी से गोली मारी थी, लेकिन जांच और फॉरेसिंक जांच में सामने आया की गोली बिल्कुल पास से मारी गई। इसके बाद पुलिस का शक प्रवेश पर बढ़ गया।
  • प्रवेश ने अपने परिचित बसंत पर गोली मारने का संदेह जताया था। पुलिस ने जब बसंत से पूछताछ की, तो सामने आया कि प्रवेश ने उससे करीब 25 लाख रुपए लिए हैं। इतना ही नहीं बंसत की लोकेशन भी घटना स्थल के आसपास नहीं आई।
  • पुलिस के आसपास पूछताछ करने पर गोली मारने जैसी किसी तरह की कोई पुष्टि नहीं हुई। इतना ही नहीं आसपास के लोगों ने प्रवेश को बदमाश गुराज के साथ घूमते देखे जाने की बात बताई थी।
  • पुलिस को प्रवेश की कॉल डिटेल में गुराज का नंबर मिला। पुलिस ने जब उससे पूछताछ की तो उसने बताया कि उसने प्रवेश के कहने पर ही उसे गोली मारी थी। इसके लिए उसे करीब 30 हजार रुपए मिले थे।
  • पूछताछ में प्रवेश भी लगातार बयान बदल रहा था। ऐसे में पुलिस को उसकी बातों पर संदेह होने लगा था। पुलिस ने अपनी थ्योरी के आधार पर सभी कड़ी जोड़कर प्रवेश के सामने रखी, तो उसने भी अपना जुर्म कबूल कर लिया।
खबरें और भी हैं...