• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • A Year Ago, Both Legs Were Lost In A Road Accident, Brought Wood From The Girl To Trap The Noose, Then Hanged Her

दिव्यांगता से परेशान होकर की खुदकुशी:पड़ोस की बच्ची से लकड़ी मंगवाकर फंदा बनाया, स्टील की टंकी पर चढ़कर झूल गया; हादसे में दोनों पैर गंवाने के बाद से डिप्रेशन में था

भोपाल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सुसाइड की वजह पता कर रही पुलिस। - Dainik Bhaskar
सुसाइड की वजह पता कर रही पुलिस।

भोपाल के रातीबड़ इलाके में सड़क हादसे में दोनों पैर गंवाने वाले युवक ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। सुसाइड नोट नहीं मिलने से आत्महत्या की वजह का खुलासा नहीं हो सका है। हालांकि, परिजनों ने पुलिस को बताया कि दोनों पैर कटने के बाद से वह काफी परेशान रहता था। डिप्रेशन में रहने लगा था। टीन शेड की छत पर फांसी का फंदा लगाने के लिए उसने मोहल्ले की रहने वाली एक बच्ची से लकड़ी मंगाई थी। लकड़ी की मदद से वह फंदा बनाया। इसके बाद स्टील की खाली टंकी के सहारे वह फंदे पर लटक गया।

रातीबड़ थाने के प्रधान आरक्षक राकेश गुर्जर ने बताया कि गांव आमला का रहने वाला ज्ञान सिंह (22) का सालभर पहले सड़क हादसे में घायल हो गया था। हादसे में उसके दोनों पैर डाक्टर को काटने पड़े थे। इसकी वजह से वह चल-फिर नहीं पाता था। मंगलवार सुबह उसके पिता, मां मवेशियों के लिए घास लेने चले गए। जबकि दोनों भाई अपने-अपने काम पर चले गए। थोड़ी देर बाद जब पिता लौटे तो वह फंदे पर लटका मिला। परिजनों ने उसे फंदे से नीचे उतारा तब तक काफी देर हो चुकी थी।

लकड़ी के सहारे रस्सी का फंदा बनाया

पैर नहीं होने की वजह से ज्ञान सिंह टीन शेड की छत पर फंदा नहीं डाल पाता। इसके लिए उसने मोहल्ले की रहने वाली एक लड़की से लकड़ी मंगाई। लकड़ी के जरिए उसने छत के पिलर पर रस्सी का फंदा बनाया। इसके बाद स्टील की एक टंकी के सहारे वह फंदे पर लटक गया। फंदे पर लटकते ही टंकी को धक्का देकर दूर गिरा दिया। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

खबरें और भी हैं...