• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Accused Akash Dubey Presented To The Court By The Court, The Court Granted Three Days Remand, The Accused Told Himself

रेमडेसिविर इंजेक्शन तस्करी मामला:आरोपी आकाश दुबे को पुलिस ने कोर्ट में पेश किया, कोर्ट ने तीन दिन की रिमांड दी, आरोपी ने खुद को बताया निर्दाेष

भोपाल2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस ने रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले जेके अस्प्ताल के आकाश दुबे को कोर्ट में पेश किया। - Dainik Bhaskar
पुलिस ने रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले जेके अस्प्ताल के आकाश दुबे को कोर्ट में पेश किया।
  • कोलार पुलिस ने रेमडेसिविर चोरी करने वाली जेके अस्पताल की फरार नर्स शालिनी वर्मा को छिदवाड़ा से गिरफ्तार किया

भोपाल में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले जेके अस्पताल के आकाश दुबे को पुलिस ने बुधवार को कोर्ट में पेश किया। पुलिस ने कोर्ट से आरोपी से पूछताछ और सबूत एकत्रित करने के लिए सात दिन की रिमांड मांगी। कोर्ट ने तीन दिन ही रिमांड की इजाजत दी। पुलिस आकाश से पूछताछ करेगी। इसमें बड़ा खुलासा होने की संभावना है। कोर्ट परिसर में मीडिया के सवाल पूछने पर आकाश दुबे ने खुद को कालाबाजारी मामले में निर्दोष बताया और मदद करने की बात कही। पुलिस को उसके खाते में 75 हजार की रेमडेसिविर के पेमेंट का ट्रांजेक्शन मिली थी।

बता दें मंगलवार को आकाश दुबे ने 12 दिन बाद थान में आकर सरेंडर कर दिया था। उस पर पुलिस ने 7500 हजार रुपए का इनाम घोषित किया हुआ था। आकाश ऑटो से थाने पहुंचा था। जिसके बाद उसे पकड़ लिया गया था। आकाश से इंजेक्शन खरीदने वाले इंदौर सीट कवर के मालिक समेत तीन लोगों को पकड़ने के बाद से ही पुलिस उसकी तलाश कर रही थी, लेकिन वह उनके हाथ नहीं लगा। उसके अचानक सरेंडर करने के पीछे राजनीतिक प्रेशर बताया जा रहा है।

यह है मामला

कोलार पुलिस ने 13 मई की रात 12:45 बजे सिग्नेचर रेसीडेंसी के पास कुछ संदिग्धों को पकड़ा था। उनकी पहचान सिग्नेचर रेसीडेंसी कोलार निवासी अंकित सलूजा (36), दिलप्रीत उर्फ नानू सलूजा (26) और ग्रीन मिडोज अरेरा हिल्स निवासी आकाश सक्सेना (25) के रूप में हुई। दिलप्रीत उर्फ नानू की इंदौर सीट कवर नाम से एमपी नगर में शॉप है। उनके पास से पुलिस ने मौके से 5 इंजेक्शन जब्त किए।

अंकित ने बताया, 28 अप्रैल 2021 में उसने जेके अस्पताल में काम करने वाले आकाश दुबे से इंजेक्शन 25 हजार में खरीदा था। उसने आकाश को ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर किए थे। इसके बाद 8 मई को उसने आकाश से पांच और इंजेक्शन खरीदे थे। इस बार एक इंजेक्शन 12 हजार के हिसाब से मिले। उसने 60 हजार रुपए आकाश को ऑनलाइन ट्रांसफर किए। करीब 3 दिन पहले उसने आकाश से फिर पांच इंजेक्शन खरीदे, लेकिन इस बार आकाश ने 12 हजार की जगह 1 इंजेक्शन 16 हजार रुपए में दिया। उसने 80 हजार रुपए आकाश को नकद दिए थे।

आकाश के साथ राजनीतिक चेहरे

आकाश दुबे के साथ कई राजनेताओं की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ आकाश की तस्वीर पोस्ट की है। वहीं, बीजेपी के एक कार्यकर्ता ने दिग्विजय सिंह के साथ आशीष ठाकुर की तस्वीर पोस्ट की है। आशीष इंदौर में हुई रेमडेसिविर की कालाबाजारी के आरोप में पकड़ा गया है।

रेमडेसिविर चोरी करने वाली फरार नर्स गिरफ्तार

कोलार पुलिस ने रेमडेसिविर चोरी करने वाली जेके अस्पताल की फरार नर्स शालिनी वर्मा को उसके छिदवाड़ा स्थित घर से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस की प्रारंभिक पूछताछ में शालिनी ने बताया कि वह अपने प्रेमी के लिए मोटरसाइकिल खरीदने के लिए पैसे एकत्रित कर रही थी। इसलिए इंजेक्शन की चोरी की थी। शालिनी ने बताया कि उसने एक ही इंजेक्शन चोरी किया था। शालिनी वर्मा अपने प्रेमी झलकन के साथ इंजेक्शन की चोरी कर रही थी। पुलिस ने झलकरण को पहले ही गिरफ्तार कर लिया था।

बता दें कोलार पुलिस को सूचना मिली थी एक युवक रेमडेसिवीर ब्लैक में बेच रहा है। पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी को पकड़ लिया। आरोपी दानिशकुंज के गिरधर कुंज में रहने वाला झलकन निकाला। आरोपी ने पूछताछ में बताया कि उसकी प्रेमिका मरीजों को रेमडेसिविर की जगह दूसरा स्लाइन वाटर का नॉर्मल इंजेक्शन लगा देती थी। फिर रेमडेसिविर इंजेक्शन लाकर उसे दे देती और वह इंजेक्शन को 20-30 हजार रुपए में बेचता था। इसके बाद से ही शालिनी फरार थी।

खबरें और भी हैं...