धीमा टीकाकरण:पहले डोज में 100 % वैक्सीनेशन के बाद टीका लगवाने वाले अचानक घटे

भोपाल20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
3 लाख 70 हजार से ज्यादा के सेकंड डोज की डेडलाइन निकली। - Dainik Bhaskar
3 लाख 70 हजार से ज्यादा के सेकंड डोज की डेडलाइन निकली।

राजधानी में 252 दिन में टीकाकरण के सिंगल डोज का तय लक्ष्य 19 लाख 49 हजार 267 का 24 सितम्बर को पूरा कर लिया था। यानी पहला डोज 100 फीसदी तय आबादी को लग चुका था। पहले डोज का लक्ष्य पाने के लिए रोजाना 15 से 20 हजार लोगों को टीका लगाया जा रहा था। लेकिन पहले डोज का लक्ष्य पूरा होने के बाद अचानक रोजाना लगने वाले टीकाकरण की रफ्तार धीमी हो गई है।

तय लक्ष्य पूरा होने के 13 दिन बाद अब रोजाना 3 हजार से 12 हजार लोगों को रोजाना टीकाकरण किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग के अफसरों का तर्क है कि 3 लाख 70 हजार से ज्यादा लोगों को सेकंड डोज लगाने की तय डेट निकल चुकी है, लेकिन लोग टीका लगवाने के लिए नहीं आ रहे हैं।

इनको टीका लगाने के लिए फोन लगवाए जा रहे हैं। बुधवार को 6 हजार 123 को टीके लगाए गए। जिनको टीका नहीं लगा है उनके वेरिफिकेशन के लिए सर्वे कराया जा रहा है। अगले 10 दिन के भीतर 3 लाख लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य तय किया गया है। बुधवार को 30 हजार लोगों को फोन कर उनको टीकाकरण के लिए बुलावा दिया गया है।

स्वास्थ्य मिशन ने 1623 एएनएम को संविदा आधार पर दी नियुक्ति, तेज होगा टीकाकरण

इधर, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन ने 1623 एएनएम को भर्ती किया है। संविदा आधार पर भर्ती की गई इन एएनएम को राजधानी समेत जरूरत के मुताबिक प्रदेश के अलग-अलग जिलों में तैनात किया जाएगा। इतनी बढ़ी संख्या में नई एएनएम और बढ़ने से अब प्रदेश में कोरोना टीकाकरण के साथ ही गर्भवती महिलाओं और नवजात समेत पांच साल तक के बच्चों के टीकाकरण की रफ्तार में तेजी आएगी।

बुधवार को चयनित उम्मीदवारों की अंतिम सूची जारी कर दी गई है। एएनएम को 12 हजार रुपए मासिक वेतन दिया जाएगा। इनकी संविदा अवधि 31 मार्च 2022 तक की है। जो कार्य मूल्यांकन के आधार पर बढ़ाई जा सकेगी। चयनित उम्मीदवारों को नियुक्ति आदेश प्राप्ति के बाद 15 दिन में उपस्थिति दर्ज करानी होगी।

खबरें और भी हैं...