• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • After 18 Years In Bhopal, It Rained The Most In January, Even In 2004, On 6 January, The Capital Was So Wet.

अजब संयोग:भोपाल में 18 साल बाद जनवरी में सबसे ज्यादा बरसा मावठा, 2004 में भी 6 जनवरी को इतनी भीगी थी राजधानी

भोपाल13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मैं शाम नहीं... सुबह हूं। तस्वीर भोपाल में सुबह 8:30 बजे की है। उस समय घने काले बादल छाए थे और तेज बारिश हो रही थी। सूरज बादलों में छिपा था। - Dainik Bhaskar
मैं शाम नहीं... सुबह हूं। तस्वीर भोपाल में सुबह 8:30 बजे की है। उस समय घने काले बादल छाए थे और तेज बारिश हो रही थी। सूरज बादलों में छिपा था।

नए साल के छठवें दिन राजधानी में मौसम बदल गया। गुरुवार देर रात ढाई बजे के बाद गरज- चमक के साथ करीब 2 मिनट चने बराबर ओले गिरे। इसके बाद कुछ देर तेज बारिश हुई। फिर सुबह 5:30 बजे के बाद तेजी से मावठा बरसा। शुक्रवार सुबह 8:30 बजे तक डेढ़ इंच से ज्यादा बारिश दर्ज की गई।

ऐसा 18 साल बाद हुआ है, जब जनवरी में इतनी बारिश हुई हो। इससे पहले 6 जनवरी 2004 को इतना पानी बरसा था। मौसम वैज्ञानिक पीके साहा के मुताबिक प्रदेश के 32 जिलों के 100 से ज्यादा शहर-कस्बों में मावठा बरसा। इस कारण ठंड भी बढ़ गई।

दो सिस्टम, जिन्होंने जनवरी को भिगो दिया
उत्तर भारत पहुंचे वेस्टर्न डिस्टरबेंस और राजस्थान के पास बने इंड्यूज़ साइक्लोनिक सर्कुलेशन का असर मध्य प्रदेश के मौसम पर पड़ा। इनके कारण अरब सागर से नमी भी आई।

आज भोपाल में येलो अलर्ट

शनिवार को भी भोपाल सहित 14 जिलों में बारिश का येलो अलर्ट है। गरज-चमक के साथ बारिश की संभावना।

खबरें और भी हैं...