पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • After The Death Of One Victim, Another Girl Became Ill, SIT Constituted For Investigation, Child Commission Wrote To The Collector Asking For Report On 7 Points In 3 Days

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

प्यारे मियां यौन शोषण मामला:एक पीड़िता की मौत के बाद एक और लड़की हुई बीमार; बाल आयोग ने कलेक्टर से मांगी रिपोर्ट

भोपालएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नेहरु नगर स्थित बालिका गृह। - Dainik Bhaskar
नेहरु नगर स्थित बालिका गृह।
  • जांच के लिए एसआईटी गठित
  • बाल आयोग ने कलेक्टर को लिखा पत्र, 7 बिंदुओं पर 3 दिन में मांगा जवाब

प्यारे मियां यौन शोषण केस में एक बच्ची की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत मामले में आज कई घटनाक्रम हुए। एक तरफ जहां सीएम शिवराज सिंह चौहान के आदेश के बाद भोपाल पुलिस ने स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) ​​​​बना दी, तो वहीं दूसरी तरफ मध्य प्रदेश बाल संरक्षण आयोग ने कलेक्टर को पत्र लिखकर 7 बिंदुओं में जानकारी मांगी है। इसके पहले राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग जिला प्रशासन को पत्र लिखकर 9 बिंदुओं पर जानकारी मांग चुका है। बालिका गृह में रह रहीं पीड़ितों की समस्या खत्म होने का नाम नहीं ले रही। एक बच्ची की मौत के बाद दूसरी की बीमार होने का मामला भी सामने आ गया है। बताया जाता है कि दूसरी लड़की भी बीमार होने से प्रशासन सकते में है।

पहले 9 बिंदुओं पर कलेक्टर से बाल आयोग ने मांगा था जवाब

गौरतलब है कि राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग द्वारा 9 जनवरी 2021 को भोपाल में बच्चों से मुलाकात की गई। प्यारे मियां मामले में जो नाबालिग पीड़िता बालिका गृह में बंद थी। उन से चर्चा के दौरान अलग-अलग बिंदु पर एक रिपोर्ट तैयार की थी। इसके बाद भोपाल कलेक्टर को पत्र लिखकर 9 बिंदुओं पर जानकारी मांगी। इसमें महिला एवं बाल विकास द्वारा जिस काउंसलर को पीड़ितों से बातचीत के लिए तैनात किया था। उससे बाल आयोग असंतोष दिखाई दिया और उन्होंने कहा कि इससे भी ज्यादा बेहतर काउंसलर की आवश्यकता इस मामले में है।

यह जवाब अभी पहुंचा भी नहीं था कि पीड़ितों के बीमार होने और उसके बाद उनमें से एक बच्ची की मौत हो जाने का मामला सामने आ गया। अब एक बार फिर राष्ट्रीय बाल आयोग इस मामले में एक बड़ी रिपोर्ट बनाने की तैयारी में है।

राज्य सरकार ने गठित की एसआईटी

राज्य सरकार ने एसआईटी का गठन कर दिया है। महिला अपराध की आईजी दीपिका सूरी और सीएसपी उमेश तिवारी और सीआईडी के निरीक्षक पंकज दीवान एसआईटी के सदस्य हैं। इनके साथ एक प्रशासनिक अधिकारी को इसमें रखा गया है। जो जल्द रिपोर्ट देंगे।

सज्जन सिंह वर्मा और आसिफ जकी पीड़ित नाबालिग बच्ची के घर पहुंचे

परिवार के सदस्यों से बात करते हुए सज्जन सिंह वर्मा और आसिफ जकी ने परिवार को हर संभव मदद का आश्वासन दिया।
परिवार के सदस्यों से बात करते हुए सज्जन सिंह वर्मा और आसिफ जकी ने परिवार को हर संभव मदद का आश्वासन दिया।

कांग्रेस के पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा और कांग्रेस के कार्यवाहक अध्यक्ष आसिफ जकी पीड़ित नाबालिग बच्ची के घर पहुंचे और बच्ची को श्रद्धांजलि दी। परिवार के लोगों से मिलकर उनको कांग्रेस पार्टी की तरफ से हर संभव मदद का भरोसा दिलाया।

इन बिंदुओं पर एसआईटी करेगी जांच

नींद की गोलियां बालिका तक कैसे पहुंची, वार्डन का रवैया, कौन-कब मिलने आया, इन सब बिंदुओं पर एसआईटी जांच करेगी।

यह पत्र बाल आयोग ने कलेक्टर को लिखकर 7 बिंदुओं पर रिपोर्ट मांगी है।
यह पत्र बाल आयोग ने कलेक्टर को लिखकर 7 बिंदुओं पर रिपोर्ट मांगी है।
यह पत्र बाल आयोग ने कलेक्टर को लिखकर 7 बिंदुओं पर रिपोर्ट मांगी है।
यह पत्र बाल आयोग ने कलेक्टर को लिखकर 7 बिंदुओं पर रिपोर्ट मांगी है।

बाल आयोग ने भोपाल कलेक्टर से 3 दिन में मांगी रिपोर्ट

प्यारे मियां केस में बच्ची की मौत के मामले में मप्र बाल आयोग ने संज्ञान लेते हुए भोपाल कलेक्टर को पत्र लिखा है। इसमें 7 बिंदुओं पर कलेक्टर भोपाल से 3 दिन में रिपोर्ट मांगी हैं।

इन 7 बिंदुओं पर बाल आयोग ने मांगी रिपोर्ट

  • जब नाबालिग पीड़िता की तबीयत खराब हुई, तब बालिका गृह द्वारा उसे कितनी देर में भर्ती कराया गया। पीड़िताओं में से कितनी बच्चियों का मेडिकल ट्रीटमेंट चल रहा था? किस डॉक्टर का इलाज चल रहा था? बालिकाओं का स्वास्थ्य परीक्षण कब-कब कराया गया?
  • बच्चों तक गोलियां कैसे पहुंची, क्या उन्हें डिप्रेशन/ नींद की गोलियां डिस्क्राइब की गई थी? यदि की गई थी तो गोलियां किस की देखरेख में दी जा रही थी? पीड़िताओं में क्या एक ही बच्चे की तबीयत खराब हुई थी या अन्य बच्चियों की तबीयत भी खराब हुई? यदि हुई है तो उन्हें क्या चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई गई?
  • क्या सीडब्ल्यूसी ने बच्चियों, की होम स्टडी/एसआईआर कराई है? कृपया उपलब्ध कराएं?
  • सीडब्ल्यूसी भोपाल में कितने मामले लंबित हैं? लंबित मामलों की पुर्नसमीक्षा हेतु त्रैमासिक रिपोर्ट आपको प्रस्तुत की गई है? कृपया उपलब्ध कराएं।
  • डीसीपीयू/सीडब्ल्यूसी द्वारा पांच पीड़ितों की कितनी बार काउंसलिंग कराई गई? काउंसलिंग रिपोर्ट उपलब्ध करावे।
  • जिला निरीक्षण कमेटी द्वारा नियमानुसार कितनी बार बालिका गृह का निरीक्षण किया गया एवं निरीक्षण में पाई गई कमियों में सुधार हेतु क्या कार्यवाही की गई?
  • क्या बालिका गृह में बाल समिति गठित है, इस समिति के सदस्यों ने इस यौन शोषण से पीड़ित बालिकाओं के संबंध में कोई महत्वपूर्ण जानकारी दी हो तो उस पर क्या कार्यवाही की गई कृपया उपलब्ध करावें?

अधीक्षिका हुई सस्पेंड

नाबालिग की मौत के बाद नेहरू नगर स्थित बालिका गृह की तत्कालीन अधीक्षिका को कमिश्नर कवींद्र कियावत ने शुक्रवार को सस्पेंड कर दिया है। पूर्व में भी बालिका गृह में होने वाले अनियमितता के चलते अधीक्षिका को तीन बार सस्पेंड किया जा चुका है।

एक और पीड़िता हुई बीमार

एक पीड़िता की मौत के बाद एक और पीड़िता को देर रात अस्पताल में भर्ती किया गया था। डॉक्टरों के मुताबिक पीड़िता की स्थिति स्थिर बताई जा रही है। पीड़िता को अस्थमा के चलते भर्ती किया गया था।

आज दर्ज हुए तीन पीड़िताओं के बयान

एक पीड़िता की मौत के बाद कलेक्टर के मजिस्ट्रियल जांच के आदेश देने के बाद आज तीन पीड़िताओं के बयान दर्ज किए गए।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

और पढ़ें