पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एयर टरबाइन फ्यूल के दाम बढ़ने का असर:अगस्त से 300 से 700 रुपए तक बढ़ सकता है हवाई किराया

भोपाल12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जनवरी से लेकर अब तक 40 फीसदी बढ़ चुके हैं हवाई ईंधन के दाम

हवाई किराए में 300 से 700 रुपए तक की बढ़ोतरी अगले महीने से हो सकती है। बढ़ा हुआ किराया अगस्त के पहले सप्ताह से एयरलाइन्स कंपनियां लागू कर सकती हैं। ओवर ऑल अधिकतम 10% तक किराया बढ़ने के आसार हैं।

किराया बढ़ाए जाने का कारण एयर टरबाइन फ्यूल (एटीएफ) के दामों में हाल ही में हुई करीब ढाई फीसदी तक की बढ़ोतरी होना है। यदि जनवरी से लेकर अब तक एटीएफ के दामों में बढ़ोतरी का आंकड़ा देखा जाए तो 44% तक बढ़ चुका है। एयरपोर्ट प्रबंधन के अधिकारियों का कहना है कि एटीएफ के दाम बढ़ने का असर सीधेतौर पर किराए पर पड़ता है। कंपनियों को फ्लाइट ऑपरेशन्स में समस्या न आए, इसलिए उन्हें किराया बढ़ाना पड़ता है।

एटीएफ पर 35 से 50% खर्च

एयरलाइन्स कंपनियों का फ्लाइट के संचालन के लिए 35 से 50% तक का खर्च एटीएफ पर होता है। जुलाई के दूसरे हफ्ते तक एटीएफ के दाम 68262 रुपए प्रति किलोलीटर थे। अब यह करीब ढाई फीसदी बढ़कर 69857 रुपए किलोलीटर हो गए हैं।

ये भी जाने: जून में हवाई किराए में करीब 20 से 25% तक की बढ़ोतरी हो चुकी है। पर यात्री कम होने पर कंपनियों ने उस अनुपात में किराया नहीं बढ़ाया था।

पहले से ही घाटे में कंपनियां... कोरोना के चलते एयरलाइन्स कंपनियां पहले से ही परेशान हैं। यदि कंपनियां किराए में एकदम बढ़ोतरी करती हैं तो यात्रियों की कमी हो सकती है। इससे भी कंपनियों का प्रयास यह है कि वे किराए में धीरे-धीरे बढ़ोतरी करें, जिससे यात्रियों की जेब पर एक साथ बोझ न पड़े।

खबरें और भी हैं...