राजधानी से बंद हो गईं 9 शहरों की फ्लाइट:1 साल में हवाई यात्री साढ़े तीन गुना बढ़े, फ्लाइट सिर्फ ढाई गुना

भोपाल2 महीने पहलेलेखक: गुरुदत्त तिवारी
  • कॉपी लिंक

भोपाल में हवाई यात्रियों की संख्या दूसरे शहरों की तुलना में तेजी से बढ़ रही है। इसके बाद भी यहां नए शहरों के लिए सीधी उड़ान सेवाएं नहीं शुरू हो रहीं हैं। कोलकाता, लखनऊ, पटना, चेन्नई, रायपुर और जयपुर, इंदौर के लिए सीधी उड़ान सेवाएं शुरू करने की मांग काफी समय से हो रही है।

अभी यहां से केवल 6 शहर मुंबई, दिल्ली, बेंगलूरू, हैदराबाद, प्रयागराज और पुणे के लिए ही सीधी उड़ान सेवाएं हैं। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) के आंकड़े बताते हैं कि कोविड इफेक्ट के बाद राजधानी में हवाई यात्री 232% (साढ़े तीन गुना) बढ़े हैं। इस दौरान फ्लाइट के फेरे महज 151% (ढाई गुना) ही बढ़े। पिछले दिनों मप्र में उड़े देश का आम आदमी (उड़ान) योजना के तहत कुल 44 फ्लाइट शुरू करने का दावा किया गया है। इसमें सबसे अधिक 22 फ्लाइट ग्वालियर से, 16 फ्लाइट जबलपुर से और इंदौर से 6 फ्लाइट शुरू की गई हैं, लेकिन भोपाल से एक भी नहीं। कोविड से पहले सफलतापूर्वक चल रहीं रायपुर, जयपुर व अहमदाबाद फ्लाइट अब तक शुरू नहीं की गईं।

हर उड़ान में औसतन 72 यात्री
राजधानी में कोविड की सख्त गाइडलाइन के बाद भी हर फ्लाइट में औसतन 72 यात्री सफर कर रहे हैं, जबकि जबलपुर में हर उड़ान में 46 और ग्वालियर से 22 यात्री ही सवार हो रहे हैं।

बंद फ्लाइट जो शुरू नहीं हुईं
भोपाल से एयर कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए खास कैंपेन चलाने वालीं प्राची बलुआपुरी कहती हैं कि भोपाल प्रदेश की राजधानी है। यहां से अब तक जयपुर, रायपुर व लखनऊ की बंद पड़ीं फ्लाइट ही शुरू नहीं की गई हैं। फेडरेशन ऑफ मप्र चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष डॉ. आरएस गोस्वामी कहते हैं, शहर के विकास के लिए हवाई उड़ानों की संख्या बढ़ाना जरूरी है।

खबरें और भी हैं...