• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Amit Sharma Of Bhopal Was Admitted In Hyderabad For 140 Days, Spent 1.5 Crores; 97% Of Lungs Survive Even If Infected

97% फेफड़े संक्रमित होने के बाद भी बचे:140 दिन हैदराबाद में भर्ती रहे, 3 महीने विटामिन दिया, डेढ़ करोड़ खर्च हुए; पढ़ें कहानी

भोपाल13 दिन पहलेलेखक: ईश्वर सिंह परमार

भोपाल के 41 साल के अमित शर्मा। 140 दिन अस्पताल में भर्ती रहे और कोरोना को हराया। वे भोपाल के पहले ऐसे मरीज हैं, जिनका इलाज इतना लंबे समय तक चला। इलाज में डेढ़ करोड़ रुपए खर्च हुए। वे दूसरी लहर में संक्रमित हुए थे। उनके फेफड़े 97% तक इंफेक्टेड हो गए थे। उन्हें एयर लिफ्ट कर भोपाल से हैदराबाद के हॉस्पिटल में ले जाया गया था। इस दौरान उन्होंने खाने का एक निवाला तक नहीं लिया। उन्हें इंजेक्शन से विटामिन दिया गया। अमित शर्मा ने मौत को कैसे दी मात और अब कैसे हैं, पढ़िए पूरी खबर...

अमित शर्मा वार्ड क्रमांक-31 के पार्षद भी रह चुके हैं। उन्होंने बताया, 'कोरोना की सेकंड वेव के दौरान मैं जरूरतमंदों की मदद कर रहा था। उन्हें खाना समेत अन्य जरूरी सामान बांट रहा था। तभी इंफेक्शन हो गया था। भोपाल में 5 से 14 अप्रैल तक भर्ती रहा, लेकिन हालत नहीं सुधरी, क्योंकि 97% तक संक्रमण हो गया था। वहीं, ऑक्सीजन लेवल 48 से 50% तक था। इसलिए तुरंत एयर लिफ्ट करके हैदराबाद के यशोदा अस्पताल ले जाया गया। यहां पर 4 महीने तक भर्ती रहा और इलाज में करीब डेढ़ करोड़ रुपए खर्च हो गए।'

आगे उन्होंने बताया 'इलाज के दौरान मैंने खुद से हार नहीं मानी। हौसला बनाए रखा। परिजन भी दिन-रात जुटे रहे। आखिरकार इंफेक्शन कम हुआ और कोरोना को हरा पाया।'

3 महीने तक खाना नहीं खाया

शर्मा ने बताया, 'कोरोना की वजह से वजन 78 किलो से घटकर 42 किलो ही रह गया था। 3 महीने तक खाना नहीं खाया। हॉस्पिटल में विटामिन के इंजेक्शन लगते रहे। यशोदा हॉस्पिटल में इलाज के बाद अपोलो रिहैब सेंटर हैदराबाद में एक महीने तक रहा। यहां पर लंग्स को मजबूत करने के लिए एक्सरसाइज की। स्टीम भी लगी। 140 दिन में ठीक हो पाया। जब संक्रमित हुआ था, तब वैक्सीन भी नहीं लगी थी।'

बोले- एहतियात बरतें, मास्क सबसे बड़ा हथियार

पूर्व पार्षद शर्मा कहते हैं कि कोरोना की थर्ड वेव आ चुकी है। हजारों लोग रोज संक्रमित हो रहे हैं। इसलिए लोग एहतियात बरतें। सबसे बड़ा हथियार मास्क है। घर से बाहर निकलें तो मास्क जरूर लगाएं। हाथों को बार-बार सैनिटाइज करते रहें। नियमित रूप से भाप लें। लंग्स की एक्सरसाइज करें। यदि पॉजिटिव आ भी जाते हैं तो घबराएं नहीं। हिम्मत रखें। इस बीमारी से बचा जा सकता है। बस लापरवाही न बरतें।

खूब खाएं-पीएं

कोरोना पॉजिटिव होने की स्थिति में खान-पान बेहतर हो। मैदे से बनी या भारी चीजों को खाने से बचें। फल और हरी सब्जी खूब खाएं। पानी भी अधिक मात्रा में पिएं।

खबरें और भी हैं...