पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Amit, The Only One Among Three Sisters In Bhopal, Had Left Home Early In The Morning, Leaving His Family Members To Sleep; Father Expressed Fear Of Murder, Brother Drowned In Front Of Younger Brother

हलाली डैम के पास हादसा, 2 घरों के चिराग बुझे:भोपाल में 3 बहनों में इकलौता अमित परिजनों को सोता छोड़कर सुबह-सुबह घर से निकला था; तीनों के परिवारों को पता ही नहीं था

भोपाल9 दिन पहलेलेखक: अनूप दुबे
  • कॉपी लिंक

विदिशा के हलाली डैम के पास मिनी पचमढ़ी के नाम से मशहूर पिकनिक स्पॉट के 100 फीट गहरे कुंड में डूबने वालों में से दो तो घरों के इकलौते चिराग थे, जबकि मौत के इस कुएं ने तीसरे की छोटे भाई के सामने जिंदगी ले ली। इसमें पांच युवकों में से 2 की जान बच गई। हादसे के बाद मौके पर पहुंचे परिजनों में से एक इकलौते बेटे की मौत से दुखी पिता ने हत्या के आरोप तक लगाए हैं। तीनों परिवारों को उनके जाने के बारे में पता ही नहीं था।

भोपाल से घटना स्थल पहुंचे मृतक अमित के पिता ने बेटे की हत्या की आशंका जताई है। उनका कहना था कि अमित का किसी से कोई लेना-देना नहीं था। किसी को पता ही नहीं कि वह घर से कब निकल गया। वह गाड़ी भी नहीं ले गया था। हमें आशंका है कि साजिश के तहत उसकी हत्या की गई है। वह पढ़ाई में टॉप करता था। उसे यहां लाकर धक्का दिया गया है। इधर, विदिशा पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिए।

पढ़ाई में टॉपर था अमित

अशोका गार्डन निवासी प्रीतम सिंह ने बताया कि 17 साल के अमित ने इसी साल 12वीं क्लास पास की थी। वह टॉप ही करता था। तीन बेटियों में वह इकलौता बेटा था। वह घर में सबसे छोटा था। अशोका गार्डन में उनकी चाय की दुकान है। वे उसी दुकान में सोते हैं। बच्चों की पढ़ाई के लिए किराये से कमरा लिया था। अमित भी बहनों के साथ रहकर पढ़ रहा था।

सुबह विदिशा पुलिस का फोन आने पर अमित के वहां होने के बारे में पता चला। उसने वहां जाने के बारे में किसी को कुछ नहीं बताया। उसे कोई बहला-फुसलाकर ले गया होगा। यहां आकर उसे धक्का दे दिया। मेरा सवाल यह है कि तीन में दो कैसे बच गए।

मोहित भी इकलौता बेटा था

अशोका गार्डन में रहने वाले मोहित शर्मा के पिता प्राइवेट जॉब करते हैं। परिजनों ने बताया कि वह सुबह करीब 5 बजे किसी को बिना बताए घर से निकला था। उससे बड़ी एक बहन है। उसने इसी साल 12वीं पास की। किसी को भी नहीं पता कि वह यहां कैसे पहुंच गया। परिजनों को आशंका है कि हादसे के दौरान एक-दूसरे को बचाने के प्रयास में वह डूब गए होंगे।

विदिशा में पिकनिक स्पॉट पर बड़ा हादसा:भोपाल से गए तीन दोस्त 100 फीट ऊंचे झरने के कुंड में डूबे; एक दोस्त का पैर फिसला, उसे बचाने 4 पानी में उतरे, 2 को बचाया

भाई के सामने भाई डूबा

अशोका गार्डन निवासी 17 साल के अभिषेक शर्मा ने पुलिस को बताया कि वह भैया और दोस्तों के साथ सुबह करीब 5 बजे घर से निकले थे। यहां पहुंचने के बाद झरने में पैर फिसलने के कारण संतुलन बिगड़ गया। एक दूसरे को बचाने के प्रयास में एक के बाद एक नीचे कुंड में गिरने लगे। उसके सामने दोस्तों के साथ उसका 19 साल का बड़ा भाई अभय शर्मा भी पानी में डूब गया। वह और भीम नगर में रहने वाला उसका दोस्त अभिषेक सिंह किसी तरह बचकर बाहर निकल आए।

खबरें और भी हैं...