सिंधिया समर्थक मंत्रियों को नसीहत, गैरजरूरी बयानबाजी से दूर रहें:​​​​​​​बीजेपी संगठन ने ली बंद कमरे में क्लास; कहा-कार्यकर्ताओं से बनाएं तालमेल

भोपाल14 दिन पहले
बंद कमरे में मंत्रियों की बैठक लेते हुए भाजपा के राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री।

मध्यप्रदेश में मिशन 2023 की तैयारियों में जुटी बीजेपी ने सत्ता और संगठन में कसावट शुरू कर दी है। इसे लेकर बुधवार को भोपाल में बीजेपी ऑफिस में बैठकों का दौर चलता रहा। इस बीच, भाजपा के राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिवप्रकाश ने सिंधिया समर्थक मंत्रियों की आधे घंटे तक क्लास ली।

उन्होंने सिंधिया समर्थक मंत्रियों को गैरजरूरी बयानबाजी से दूर रहने और चुनावी तैयारियों में जुटने के लिए कहा। हालांकि बैठक के बाद मंत्री बाहर निकले तो मंत्री गोविंद सिंह राजपूत, तुलसी सिलावट, प्रभुराम चौधरी, राज्यवर्द्धन सिंह दत्तीगांव ने चुप्पी साध ली। हालांकि बिजली कर्मचारियों की हड़ताल पर मंत्री द्युम्न सिंह तोमर ने सिर्फ इतना कहा- बिजली आई- बिजली गई।

भाजपा के राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिवप्रकाश ने सिंधिया समर्थक मंत्रियों से बंद कमरे में आधे घंटे तक चर्चा की। उन्हें कार्यकर्ताओं से तालमेल बनाने के लिए कहा।
भाजपा के राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिवप्रकाश ने सिंधिया समर्थक मंत्रियों से बंद कमरे में आधे घंटे तक चर्चा की। उन्हें कार्यकर्ताओं से तालमेल बनाने के लिए कहा।

कार्यकर्ताओं के बीच रखें तालमेल
सूत्रों की मानें तो भाजपा के राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिवप्रकाश ने सिंधिया समर्थक मंत्रियों को पार्टी के कार्यक्रमों के हिसाब से तय प्रवास और कार्यक्रमों में शामिल होने के लिए कहा है। स्थानीय स्तर पर बढ़ रहे गतिरोध को भी कंट्रोल करने, साथ ही कार्यकर्ताओं से तालमेल बनाने के लिए कहा है। शिवप्रकाश ने अनावश्यक बयानबाजी से बचने की भी सलाह भी दी है। उपचुनाव में जो बूथ हारे थे, उन बूथों पर फोकस करने को भी कहा गया है। साथ ही, मंत्रियों को अपने विभागों में होने वाले नवाचारों को भी पब्लिक के सामने प्रचारित करने की सलाह दी है।

भूपेन्द्र सिंह बोले- भाजपा में कोई किसी का समर्थक नहीं
सिंधिया समर्थक मंत्रियों की क्लास लेने के सवाल पर मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा- पार्टी की सभी बैठकें निर्णायक होती हैं। शिवप्रकाश जी समय-समय पर नेताओं का मार्गदर्शन करते हैं। इसमें कौन सी नई बात है। सिंधिया समर्थक मंत्रियों के सवाल पर बोले- भाजपा में कोई किसी का समर्थक मंत्री नहीं होता। सभी भाजपा के कार्यकर्ता होते हैं। जो भी कमजोर सीटें हैं, उन्हें जीतने की तैयारी है।

इस बार कमलनाथ को फेयरवेल देंगे: भूपेन्द्र सिंह
भाजपा की विकास यात्रा को ‘फेयरवेल यात्रा’ कहने पर भूपेन्द्र सिंह ने कमलनाथ पर निशाना साधा। उन्होंने कहा- कमलनाथ की फेयरवेल यात्रा हो चुकी है। हम विकास यात्रा शुरू कर रहे हैं। कमलनाथ का बचा हुआ फेयरवेल हम इस बार कर देंगे।

युवाओं को मौका देने पर उन्होंने कहा - भाजपा ऐसा दल है, हमारे जिलाध्यक्ष 35 साल तक की उम्र के बने हैं। जितना युवा नेतृत्व इस समय भाजपा के पास है, उतना दूसरी पार्टी के पास नहीं है।

रामभद्राचार्य जी के भोपाल का नाम बदलने की मांग पर मंत्री ने कहा कि महाराज जी ने विषय रखा है, तो सरकार उस पर विचार करेगी। पठान के विरोध पर मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा कि मुझे लगता है सेंसर बोर्ड ने देख लिया है। उसे सामने आने दीजिए। कोई ऐसा विषय होगा, तब विरोध करें। अभी तो सेंसर बोर्ड के देखने के बाद ही फिल्म आई है।

प्रदेश भाजपा कार्यालय में विभिन्न समितियों की बैठक हुई। इसमें राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री, प्रदेश प्रभारी, प्रदेश अध्यक्ष समेत मंत्री और नेता शामिल हुए।
प्रदेश भाजपा कार्यालय में विभिन्न समितियों की बैठक हुई। इसमें राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री, प्रदेश प्रभारी, प्रदेश अध्यक्ष समेत मंत्री और नेता शामिल हुए।

दिनभर में हुईं 4 बैठकें
भोपाल भाजपा कार्यालय में सुबह 10 बजे से बैठकों का दौर शुरू हुआ। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यालय में विभिन्न समितियों की बैठक हुई। बैठक में राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिवप्रकाश, प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव, क्षेत्रीय संगठन महामंत्री अजय जामवाल, प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा, प्रदेश संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा मौजूद रहे।

सुबह 10 से शाम 5 बजे तक चार बैठकें हुईं। इनमें मंत्रियों के साथ ग्रुप में बैठक हुई। दूसरी भाजपा कोर कमेटी की बैठक की गई। आकांक्षी (हारी हुई सीटें) विधानसभाओं के प्रभारियों की बैठक भी की गई। आखिरी में डाटा प्रबंधन एवं उपयोगित पर भी प्रदेश कार्यसमिति की बैठक हुई। इसमें बूथ विस्तारक अभियान की जानकारी देते हुए दूसरे चरण के बारे में चर्चा हुई।

प्रदेश प्रभारी ने जिलाध्यक्षों को अपने क्षेत्र में दौरे करने को कहा। साथ ही इसकी रिपोर्ट संगठन के ऐप में करने को कहा। ऐसा नहीं करने पर कार्रवाई की चेतावनी भी दी।
प्रदेश प्रभारी ने जिलाध्यक्षों को अपने क्षेत्र में दौरे करने को कहा। साथ ही इसकी रिपोर्ट संगठन के ऐप में करने को कहा। ऐसा नहीं करने पर कार्रवाई की चेतावनी भी दी।

भाजपा प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव ने दी चेतावनी
जिलाध्यक्ष, जिला महामंत्री और जिला आईटी सेल की बैठक में भाजपा के प्रदेश प्रभारी ने क्षेत्र में प्रवास नहीं करने वाले जिलाध्यक्षों को चेतावनी दी। उन्होंने कहा कि जो जिलाध्यक्ष प्रवास को संगठन ऐप में रिपोर्ट नहीं करेगा, वह जिलाध्यक्ष हमारी दृष्टि से प्रवास नहीं कर रहे। आपको भी अगले दिन अखबार में पढ़ने को मिल सकता है कि आप जिलाध्यक्ष नहीं रहे।

बैठक में बिना बुलाए शामिल होने पर उमा भारती की सफाई
उमा भारती मंगलवार को प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में शामिल होने पहुंची थीं। करीब आधे घंटे रुकने के बाद वे चली गईं। इसके बाद सोशल मीडिया पर चर्चा होने लगी कि उमा भारती को बैठक में नहीं बुलाया गया। बावजूद वे पहुंच गईं। इसी बात की जानकारी उन्हें लगी, तो उन्होंने बुधवार को ट्वीट करके सफाई दी।

ये कहा उमा भारती ने
उन्होंने कहा- लगता है कि मध्यप्रदेश में 2018 का माहौल आ गया, जब हमारे जैसे लोगों को लेकर झूठी बातें फैलाई जाती थी। मैं मध्य प्रदेश से राष्ट्रीय कार्यसमिति की सदस्य हूं, इस नाते से मैं मध्य प्रदेश की कार्यसमिति की स्थाई आमंत्रित सदस्य हूं, इसलिए मैं कल प्रदेश कार्यसमिति में थोड़ी देर के लिए मध्य प्रदेश भाजपा का सम्मान रखने के लिए गई, क्योंकि यह चुनावी वर्ष है। सोशल मीडिया पर जानबूझकर फैलाया जा रहा है कि मैं बिना बुलाए कार्यसमिति में गई, मैं डर्टी ट्रिक्स डिपार्टमेंट को आगाह करूंगी कि ऐसी झूठी बातें फैलाने से भाजपा को दुश्मनों की जरूरत ही नहीं पड़ेगी। आप जैसे लोग ही काफी होंगे। पढ़ लिख कर, समझबूझ कर ही अफवाह फैलाइए, मूर्खता मत करिए।

अगले 4 दिन बैठकों का दौर

भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा ने बताया कि 26- 27 जनवरी को सभी जिलों की कार्यसमिति की बैठकें होंगी। 28 जनवरी को एक साथ सभी मंडलों की बैठक की होंगी। इसी दिन कुछ शक्ति केंद्रों की बैठकें होंगी। 29 जनवरी को मध्यप्रदेश के 64,100 बूथों की बैठक होंगी। सभी बूथों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मन की बात का प्रसारण किया जाएगा। प्रत्येक बूथ को संगठन ऐप में रियल टाइम में अपलोड किया जाएगा।