• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Avinash Lavania Said That The District Administration Is Committed For The Safety Of Women In Tourist Places.

भोपाल सुरक्षित पर्यटन पर कार्यशाला:अविनाश लवानिया ने कहा कि पर्यटन स्थलों में महिलाओं की सुरक्षा के लिए जिला प्रशासन कटिबद्ध है

भोपाल4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मध्यप्रदेश पर्यटन में महिला सुरक्षा को लेकर ‘सुरक्षित पर्यटन परियोजना उन्मुखीकरण’ विषय पर कार्यशाला गुरुवार को कलेक्टर सभा कक्षा में आयोजन किया गया। इस का उदघाटन कलेक्टर अविनाश लवानिया ने की। उन्हाेंने कहा कि पर्यटन स्थलों में महिलाओं की सुरक्षा के लिए जिला प्रशासन कटिबद्ध है और हर संभव प्रयास करेंगा। वहीं, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत विकास मिश्रा ने कहा कि जिला पंचायत द्वारा चलाई जा रही कौशल विकास की योजनाओं में भोपाल के पर्यटन स्थलों के समीपस्थ क्षेत्रों की महिलाओं को जोड़ा जा सकता है।

संयुक्त कलेक्टर राजेश गुप्ता ने कहा कि मध्य्प्रदेश शासन की महिलाओं की सुरक्षा के प्रति प्रतिबध्दता है,जिसके लिए सरकार द्वारा हर संभव प्रयास किये जा रहे हैं। इस परियोजना के माध्यम से भोपाल के पर्यटन उद्योग में स्थानीय महिलाओं की भागीदारी और उनके लिए अवसर बढाकर , उनकी क्षमतावृद्धि और जन जागरूकता से पर्यटन स्थल पर हम महिला सुरक्षा को सुनिश्चित करेंगे। समुदाय विशेषकर महिलाओं को साथ जोड़कर मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड की यह पहल जमीनी स्तर पर सकारात्मक बदलाव लाएगी। सभी विभागों का समन्वय इस परियोजना में आयश्यक है । साथ ही स्थानीय लोग का व्यवहार पर्यटकों से इस प्रकार हो कि वो वर्षो तक मध्यप्रदेश के पर्यटन को याद रखे । क्योंकि 1 टुरिस्ट कई लोगो को रोज़गार दिलवाने में मदद करता है। व हमारी इकनॉमि को बढ़ाने में उपयोगी साबित होंगे । यदि हमे मध्यप्रदेश में पर्यटन को बढ़ाना है तो हमको महिला सुरक्षा को सुनिश्चित करना होगा । साथ ही पर्यटन स्थलों को स्वच्छ बनाना होगा ।

महिला एवं बाल विकास से योगेन्द्र यादव जिला कार्यक्रम अधिकारी ने कहा कि महिला एवं बाल विकास महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा सभी आंगनबाड़ी व शौर्य दलों को परियोजना की जानकारी दी जाएगी। साथ ही कोविड के कारण जिन महिलाओं के पति नही रहे उनको भी इस परियोजना से जोड़ कर आत्मनिर्भर बनाया जायेगा।

मध्यप्रदेश पर्यटन बोर्ड के डॉक्टर आलोक चौबे ने कहा कि यह परियोजना मध्य प्रदेश शासन का नवीन प्रयास है जो विभिन्न विभागों के समन्वय से मध्य प्रदेश टूरिज्म बोर्ड द्वारा संचालित की जा रही है। इस परियोजना के माध्यम से प्रथम चरण में सभी 6 सांस्कृतिक जोन के 20 क्लस्टर के 50 पर्यटन स्थलों पर काम करेंगे। कोविड के कठिन दौर से ऊबर कर अब प्रदेश में सुरक्षित पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।

मध्य प्रदेश टूरिज्म बोर्ड की इस महत्वपूर्ण परियोजना के तहत महिलाओं के लिए सुरक्षित माहौल बनाने के लिए एक ओर जहां सामाजिक, सम्वेदनशीलता और नीतिगत निर्णयों के लिए पैरवी करना होगा , वहीं आधारभूत संरचनात्मक ढांचे को भी बेहतर बनाना होगा। इस परियोजना में ये दोनों ही कार्य शासन कर रहा है। जो न केवल भारत बल्कि सम्पूर्ण विश्व के लिए एक नज़ीर बन रही है। इस परियोजना की संकल्पना को शुरुआत में ही वर्ल्ड ट्रेवल मार्किट ,लंदन द्वारा पुरुस्कृत कर विश्वव्यापी पहचान मिल चुकी है।

कार्य्रकम में महिला हिंसा रोकने के लिए एक शपथ पत्र केलेंडर का विमोचन किया गया व सभी विभागों के अधिकारियों द्वारा हिंसा नही करने की शपथ ली गई। कार्यशाला में महिला एवं बाल विकास विभाग, उच्च शिक्षा विभाग, वन विभाग, शिक्षा विभाग पुलिस विभाग, वन विभाग के प्रतिनिधि भी सम्मिलित हुए व अपने सुझाव प्रस्तुत किए।

खबरें और भी हैं...