पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हमीदिया:कोरोना वार्ड में बेड खाली और मेडिसिन डिपार्टमेंट में स्ट्रेचर पर भर्ती गंभीर मरीज

भोपाल3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एक अस्पताल की ही दो तस्वीरें - Dainik Bhaskar
एक अस्पताल की ही दो तस्वीरें
  • अन्य वार्डों को कोरोना वार्ड में तब्दील करने से बिगड़े हालात

हमीदिया अस्पताल में भर्ती नॉन कोविड मरीज परेशान हो रहे हैं। उन्हें बेड नहीं मिल रहे हैं, स्ट्रेचर पर ही भर्ती किया जा रहा है, जबकि कोरोना वार्ड में 350 से ज्यादा बेड खाली पड़े हैं। मेडिसिन डिपार्टमेंट के वार्ड में आलम यह है कि दो बेड के बीच की जगह में स्ट्रेचर फंसाकर इन पर मरीजों को एडमिट कर इलाज किया जा रहा है। यह स्थिति मेडिसिन डिपार्टमेंट के वार्डों को कोरोना वार्ड में तब्दील करने के कारण बनी है।

करीब 4 महीने पहले जब भारी तादाद में कोरोना मरीज मिल रहे थे, तब हमीदिया अस्पताल प्रबंधन ने 1 से लेकर 6 नंबर वार्ड तक सभी को कोविड डेडिकेटेड वार्ड में तब्दील कर दिया है। ऐसे में महज 1 वार्ड ही मेडिसिन डिपार्टमेंट के मरीजों को भर्ती करने के लिए बचा था।

तब मरीज कम ही पहुंच रहे थे, ऐसे में कोई परेशानी नहीं हो रही थी। अब परिस्थितियां पूरी तरह से बदल गई हैं, कोरोना मरीजों की संख्या में गिरावट के साथ ही नॉन कोविड मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। ऐसे में नॉन कोविड मरीजों के लिए बेड की किल्लत होना शुरू हो गई है।

कोविड मरीज 100 से कम

हमीदिया में कोरोना मरीजों के लिए करीब 440 बेड आरक्षित हैं। यहां कैजुअल्टी की बिल्डिंग में 100 बेड की डेडिकेटेड कोरोना यूनिट बनी है, जबकि पुरानी बिल्डिंग में सारी वार्ड, उसके ऊपर के वार्ड समेत नई बिल्डिंग में भी अलग से बेड आरक्षित किए हैं। पिछले दो महीने से यहां 100 से कम कोरोना मरीज भर्ती हो रहे हैं। ऐसे में दो महीने से 350 से ज्यादा बेड खाली हैं।

इसलिए बढ़ गई है परेशानी

अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों में 50 प्रतिशत से ज्यादा मरीज मेडिसिन डिपार्टमेंट में ही भर्ती होते हैं। ऐसे में कॉर्डियोलॉजी और सर्जरी डिपार्टमेंट के वार्ड में भी मेडिसिन डिपार्टमेंट के मरीजों को भर्ती किया जा रहा था, लेकिन अब इन डिपार्टमेंट में भी मरीजों को भर्ती किया जा रहा है। ऐसे में इन वार्डों के बेड भी नहीं मिल पा रहे हैं।

समाधान- दूसरे वार्ड नॉन कोविड मरीजों के लिए देने चाहिए

अस्पताल से जुड़े जानकारों की मानें तो 100 वार्ड की डेडिकेटेड यूनिट और सारी वार्ड के ऊपर स्थिति वार्ड 4 और 6 कोरोना मरीजों के लिए डेडिकेटेड रखने चाहिए। जबकि दूसरे वार्डों को नॉन कोविड मरीजों के लिए उपलब्ध कराने से इस समस्या का समाधान हो सकता है, लेकिन अस्पताल प्रबंधन इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है। इसका खामियाजा मरीजों को भुगतना पड़ रहा है।

यहां भी परेशानी

ऑर्थोपेडिक डिपार्टमेंट- कोरोना से पहले 120 बेड थे, जो घटाकर 50 कर दिए। इन पर 58 मरीजों को भर्ती किया गया है।

सर्जरी डिपार्टमेंट- कोरोना से पहले 190 बेड थे, जो 150 किए हैं। सभी बेड भरे हैं, ऐसे में रोज 10 मरीज लौटाए जा रहे हैं।

यह सही है कि नॉन कोविड वार्ड फुल हो गए हैं। कोरोना मरीजों की संख्या कम है, ऐसे में कुछ कोरोना वार्ड को नॉन कोविड मरीजों के लिए उपलब्ध कराया जाएगा। भविष्य में जरूरत पड़ी तो इन वार्डों को फिर से कोविड मरीजों के लिए रिजर्व किया जाएगा।

- डॉ. आईडी चौरसिया, अधीक्षक, हमीदिया

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कई प्रकार की गतिविधियां में व्यस्तता रहेगी। साथ ही सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा। आप किसी विशेष प्रयोजन को हासिल करने में समर्थ रहेंगे। तथा लोग आपकी योग्यता के कायल हो जाएंगे। कोई रुकी हुई पेमेंट...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser