तीसरी काउंसलिंग का न करें इंतजार:दूसरी काउंसलिंग में ही भर सकती हैं बीएड की सीटें

भोपाल3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) के पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए प्रथम चरण के रजिस्ट्रेशन समाप्त हाे गए हैं। लेकिन, इन पाठ्यक्रमों में रजिस्ट्रेशन के रुझान ऐसे हैं जिसमें दूसरे चरण के अंत तक मुख्य पाठ्यक्रमों की अधिकांश सीटे भर जाएंगी। ऐसी स्थिति में तीसरे चरण की काउंसलिंग में शामिल होने वाले छात्रों काे सीट रिक्त न होने की वजह से दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।
प्रदेश में बीएड की 56 हजार 300 सीट हैं। पहले चरण की समाप्ति पर 47,549 छात्रों ने अपना रजिस्ट्रेशन करवा लिया है जबकि 34 हजार से ज्यादा का वेरिफिकेशन हो गया है। इनमें 46,210 छात्रों ने कालेजों के विकल्प भी दे दिया है। उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इस बार पहले राउंड में ही बड़ी संख्या में छात्रों ने रजिस्ट्रेशन करवा लिया है। इस वजह से सीटें भी 65 फीसदी से ज्यादा भरने की संभावना है।स्थिति यह है कि दूसरी काउंसलिंग तक प्रमुख पाठ्यक्रमो की अधिकांश सीटें भर जाएंगी। इसलिए बाद में दाखिले का इंतजार करने वाले छात्रों को अच्छे अंक होने के बावजूद परेशानी हो सकती है।
मिल जाता है बेहतर कालेज
विभाग के अधिकारियों के मुताबिक अगर छात्र दूसरे चरण में भी रजिस्ट्रेशन करवा लेते हैं तो उन्हें अपेक्षाकृत अच्छे कालेज में दाखिला मिल सकता है। इसकी वजह यह है कि पहले और दूसरे राउंड में अधिकांश कालेजों में सीटें भर जाती हैं। ऐसी स्थिति में छात्रों के पास बाद में विकल्प नहीं बचते। इस कारण उन्हें समय रहते एडमिशन ले लेना चाहिए। गौरतलब है कि एनसीटीई के पाठ्यक्रमों के तीन राउंड होना है। 30 सितंबर तक काउंसलिंग समाप्त हो जाएगी।
सीटों से दोगुने रजिस्ट्रेशन
इधर, एमपीएड में कुल सीटों से दोगुने रजिस्ट्रेशन हो गए हैंं। इसकी सीट 235 हैं और रजिस्ट्रेशन 510 हो गए हैं। बीएडएमएड में भी 250 सीटें और रजिस्ट्रेशन 207 हो गए हैं। केवल बीएलएड में ही सबसे कम 35 रजिस्ट्रेशन हुए हैं।


खबरें और भी हैं...