भोपाल / रेलवे काेच फैक्ट्री में बनेंगे पलंग और वेंटिलेटर्स; बुखार के मरीजों के लिए हमीदिया के बाहर बनाई ओपीडी

फाइल फोटो फाइल फोटो
X
फाइल फोटोफाइल फोटो

  • रेलवे ने अपनी सभी प्रोडक्शन इकाइयों, जोनल वर्कशॉप में मेडिकल संबंधी सामान बनाने के आदेश जारी कर दिए हैं
  • हमीदिया अस्पताल प्रबंधन ने अन्य बीमारी के मरीजाें के लिए नई ओपीडी में ही डाॅक्टर बैठा कर इलाज की व्यवस्था की है

दैनिक भास्कर

Mar 27, 2020, 01:54 AM IST

भोपाल. कोरोना के कारण अस्पतालों में भर्ती होने वाले मरीजों के लिए पलंग से लेकर सैनिटाइजर्स जैसा सामान कम न पड़े, इसकी व्यवस्था अब रेलवे करने जा रहा है। रेलवे ने अपनी सभी प्रोडक्शन इकाइयों, जोनल वर्कशॉप में मेडिकल संबंधी सामान बनाने के आदेश जारी कर दिए हैं। निशातपुरा कोच फैक्ट्री में भी इस तरह का सामान बनाया जाएगा। कोच फैक्ट्री के चीफ वर्कस मैनेजर मनीष अग्रवाल का कहना है कि उन्होंने राज्य के स्वास्थ्य विभाग से उस सामान की लिस्ट मांगी है, जिसकी उन्हें जरूरत है। जैसे ही सामान की लिस्ट मिलेगी, तत्काल उसे बनाना शुरू करवा दिया जाएगा। 

रेलवे ने अपने डीजल शेड्स में सैनेटाइजर के निर्माण से आगे बढ़ते हुए स्वास्थ्य विभाग को सहयोग देने के क्रम में मरीजों के लिए प्रारंभिक रूप से जरूरी सामान की सप्लाई अपनी प्रोडक्शन यूनिट्स में बनवाकर करने का निर्णय आपातस्थिति से निपटने के लिए किया है। रेलवे के प्रिंसिपल एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर एके तिवारी ने इस संबंध में सभी जोन के जीएम को आदेश जारी किया है। इसमें कहा गया है कि देश में बन रही स्थितियों से निपटने के लिए रेलवे की निर्माण क्षमताओं को दिखाने की जरूरत आ गई है। 

निशातपुरा कोच फैक्ट्री में भी बनेंगे सैनिटाइजर, स्ट्रेचर, मास्क और वॉश वेसिन

यह बनेगा: बिना मेट्रेस के सादा पलंग, मेडिकल ट्रॉली, आई-वी स्टैंडस, स्ट्रेचर्स, हॉस्पिटल फुट स्टेप्स, हॉस्पिटल बेड साइड लॉकर्स, वॉश वेसिन, वेंटिलेटर्स, मॉस्क, सैनिटाइजर्स आदि।

आदेश: साफतौर पर कहा गया है कि इस सामान की सप्लाई आवश्यक रूप से की जाना है, इसलिए जल्द से जल्द निर्माण शुरू किया जाए।


भारी संख्या में किया जाए निर्माण
आदेश में यह भी कहा है कि अस्पतालों में उपयोग में आने वाले इस सामान का निर्माण भारी संख्या में किया जाए, जिससे ज्यादा से ज्यादा इसका उपयोग आम लोगों के हित में किया जा सके। यह भी ध्यान रखा जाए कि शार्ट नोटिस पर बनाए जाने वाले आइटम की लिस्ट अलग से तैयार कर ली जाए।


हमीदिया में बुखार के मरीजों के लिए बाहर बनाई गई है ओपीडी
अस्पताल में आने वाले दूसरे मरीज काेराेना संक्रमित मरीजाें के संपर्क में नहीं आएं इसके लिए अस्पताल की व्यवस्थाओ में बदलाव किया गया है। हमीदिया अस्पताल काे पूरी तरह से काेराेना सेंटर बनाया गया है। ऐसे में यहां ओपीडी बंद कर दी गई है। यहां भर्ती मरीजाें काे छुट्टी देकर अस्पताल खाली कराया जा रहा है। बावजूद इसके यहां हरराेज 800 से ज्यादा लाेग सर्दी, खांसी और बुखार जैसी बीमारियाें का इलाज कराने पहुंच रहे हैं। अस्पताल की और से इन मरीजाें के लिए नई ओपीडी में ही डाॅक्टर बैठा कर इलाज की व्यवस्था की है। ओपीडी बिल्डिंग में बने कमरे में ही 4 डाॅक्टराें काे बैठाकर मरीजाें काे उपचार किया जा रहा है। ओपीडी काउंटर में ही माैजूद दवा काउंटर से ही दवाइयां देकर मरीजाें काे वापस भेजा जा रहा है। ऐसे में मरीजाें काे अब हमीदिया अस्पताल की बिल्डिंग के अंदर जाने की जरूरत ही नहीं है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना