CM हाउस से बोल रहा हूं, लड़कों को छोड़ दो...:भोपाल में TI को फोन पर हड़काया; खुद को भाजपा नेता बताकर बोला- पचमढ़ी से बोल रहा हूं, यहां कैबिनेट चल रही है

भोपाल8 महीने पहले

भोपाल पुलिस के अफसर को भाजपा नेता बताकर हड़काने का मामला सामने आया है। युवक ने एमपी नगर थाने के टीआई के फोन कर कहा- मैं CM हाउस से नीरज वशिष्ठ बोल रहा हूं। मेरे लड़कों को छोड़ दो। TI ने जब पूछा कि आप अभी हैं कहां तो बोला- मैं पचमढ़ी में हूं। कैबिनेट की बैठक चल रही है। पुलिस ने नंबर ट्रेस कर रविवार रात आरोपी को गिरफ्तार किया। पकड़े जाने पर वह गिड़गिड़ाते हुए बोला कि दोनों लड़कों को जानता ही नहीं हूं।

TI सुधीर अजरिया ने बताया कि 26 मार्च की रात एमपी नगर जोन-2 में एक रेस्टोरेंट के पास दो युवक खड़े हुए थे। हमने जब उनसे पूछताछ की तो वे वहां खड़े होने की ठीक से वजह नहीं बता पाए। दोनों को पुलिस थाने लाया गया। एक युवक ने थाने आकर उन दोनों को छोड़ने के लिए कहा। पुलिस ने उसे वहां से भगा दिया। दोनों युवकों की पहचान देशराज शर्मा और अंश सोमनाथन के रूप में हुई है। वे वहां खाना खाने गए थे। पूछताछ के बाद दोनों को जाने दिया।

इसी दौरान एक अनजान नंबर से फोन आया था। फोन करने वाला बोला- मैं सीएम हाउस से नीरज वशिष्ठ बोल रहा हूं। TI ने बताया कि वे नीरज वशिष्ठ को जानते हैं। इस वजह से थोड़ा संदेह हुआ कि यह नीरज नहीं हो सकता। इसके बाद फोन नंबर की जांच शुरू कर दी। फोन नंबर लक्की कुशवाहा (26) के नाम पर आया। इस नंबर की सिम लक्की ने 17 मार्च को ही ली थी। इसी आधार पर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया।

पकड़े जाने पर लिया परिचित का नाम
लक्की ने पकड़े जाने के बाद बताया कि वह देशराज और अंश को नहीं जानता है। उसके लिए उसके परिचित ने फोन किया था। उसने उसके कहने पर ही पदाधिकारी बनकर CM हाउस के नाम पर कॉल किया था। मुझे लगा की CM हाउस का नाम सुनकर पुलिस ज्यादा पूछताछ नहीं करेगी और बात बन जाएगी।

खबरें और भी हैं...