MP में खुशियों वाली दिवाली:रंग-बिरंगी रोशनी से नहा उठे भोपाल-इंदौर; हर गली-बाजार जगमग

भोपाल3 महीने पहले

आज दिवाली पर धन-धान्य की देवी मां लक्ष्मी की घर-घर पूजा हुई। उनकी अगवानी के लिए घर-द्वार सजे। राजधानी भोपाल और देवी अहिल्या की नगरी इंदौर भी रंग-बिरंगी रोशनी से नहाए हुए हैं। चारों तरफ खुशियां हैं। हर गली जगमग है।

राजधानी में ऐसा कोई मंदिर या बिल्डिंग नहीं है, जो दूधिया रोशनी से न नहाए हों। बिड़ला मंदिर चारों ओर से जगमगा रहा है। न्यू मार्केट का खेड़ापति हनुमान मंदिर हो या कर्फ्यू वाली माता, बड़ वाले महादेव के मंदिर, उनकी छंटा देखते ही बन रही है। ग्राहकों को लुभाने के लिए दुकानदारों ने भी आकर्षक रोशनी की है। कोरोना बंदिशों के 2 साल बाद लोगों ने खुलकर दिवाली मनाई। आतिशबाजी की। आसमान आतिशबाजी की रंगीन रोशनी से नहा उठा। लोग एक-दूसरे मिले और शुभकामनाएं दीं।

भोपाल के करुणाधाम महालक्ष्मी मंदिर में महाआरती हुई। भारी संख्या में श्रद्धालु शामिल हुए।
भोपाल के करुणाधाम महालक्ष्मी मंदिर में महाआरती हुई। भारी संख्या में श्रद्धालु शामिल हुए।
भोपाल में आतिशबाजी का नजारा। आसमान रंग बिरंगी रोशनी में नहाया नजर आया।
भोपाल में आतिशबाजी का नजारा। आसमान रंग बिरंगी रोशनी में नहाया नजर आया।

ज्वैलरी शॉप पर सबसे ज्यादा बूम
दिवाली पर प्रदेश के मार्केट में बूम आया है। इनमें सबसे ज्यादा 45% बूम ज्वैलरी मार्केट में आया है। हैवी और कलर डायमंड वाली ज्वैलरी की डिमांड ज्यादा है। ऑटो सेक्टर में भी अच्छी ग्राहकी है। धनतेरस और रूप चौदस के दिन प्रदेश के सबसे बड़े रतलाम के सराफा बाजार में जमकर ग्राहकी हुई थी ।

भोपाल में दीये सजाती महिला। कोरोना पाबंदियों के दो साल बाद लोग खुलकर दिवाली मना रहे हैं।
भोपाल में दीये सजाती महिला। कोरोना पाबंदियों के दो साल बाद लोग खुलकर दिवाली मना रहे हैं।

भोपाल, इंदौर, उज्जैन, जबलपुर, ग्वालियर समेत अन्य शहर भी पीछे नहीं रहे। कई लोगों ने दिवाली के दिन के लिए एडवांस बुकिंग कराई थी। भोपाल के सराफा कारोबारी नवनीत अग्रवाल ने बताया कि इस बार दिवाली पर कारोबार में जमकर बूम रहा। लोगों ने नई डिजाइनों की ज्वैलरी पसंद की। ऐसा ही माहौल सोमवार को भी बना रहा।

भोपाल में एमपी नगर का खूबसूरत नजारा।
भोपाल में एमपी नगर का खूबसूरत नजारा।

दो साल बाद चमका बाजार
राजधानी के थोक किराना मार्केट से 200 किलोमीटर के दायरे में किराना सामान पहुंचता है। दो साल बाद यहां जबर्दस्त बूम रहा। बाजार विशेषज्ञ अनुपम अग्रवाल ने बताया कि सरकारी कर्मचारियों को पहले से सैलरी मिलने और सोयाबीन की फसल अच्छी आने से लोगों के पास धन आ गया है। इसके चलते बाजार गुलजार हैं।

पिछले दो साल की तुलना में इस दिवाली पर अच्छा कारोबार हो रहा है। न्यू मार्केट के व्यापारी अजय देवनानी ने बताया कि दिवाली पर लोग जरूरत का सब सामान खरीद रहे हैं। लोगों में जबर्दस्त उत्साह है।

फोटो भोपाल का है। धन-धान्य की देवी मां लक्ष्मी की घर-घर पूजा हुई। इसके बाद लोगों ने आतिशबाजी की।
फोटो भोपाल का है। धन-धान्य की देवी मां लक्ष्मी की घर-घर पूजा हुई। इसके बाद लोगों ने आतिशबाजी की।

20 हजार से ज्यादा गाड़ियों की बिक्री
भोपाल में इस दिवाली पर 20 हजार से ज्यादा टू व्हीलर और फोर व्हीलर खरीदी गई। नवरात्रि से ही लोग गाड़ियां खरीद रहे हैं। यह सिलसिला दिवाली वाले दिन भी बना रहा। भोपाल में दीपोत्सव पर 13 हजार से ज्यादा टू व्हीलर्स और 7 हजार से ज्यादा फोर व्हीलर्स की बिक्री हुई। सुरजीत हुंडई के सीईओ सौरभ सोनी ने बताया कि दिवाली पर फोर व्हीलर गाड़ियों की अच्छी सेल हुई है। कई गाड़ियों का स्टॉक खत्म हो गया। बावजूद ग्राहकों ने एडवांस बुकिंग कराई है।

इंदौर में जबर्दस्त कारोबार... आज भी बूम
इंदौर में भी दिवाली को लेकर इस बार लोगों में जबर्दस्त उत्साह रहा। शनिवार को बर्तन बाजार और सराफा में लोगों ने जमकर खरीदी की। रविवार को भी ऐसी ही स्थिति थी। बर्तन कारोबारी अवनि जैन ने बताया कि दिवाली पर भी इस बार काफी भीड़ रही और ग्राहकी भी वैसी ही रही। इसका कारण दो साल के कोरोना काल के बाद इस बार बंदिश नहीं है। लोगों ने नए-पुराने पैटर्न के बर्तन आदि खूब पसंद किए।

इंदौर का राजबाड़ा रोशनी से नहाया हुआ है।
इंदौर का राजबाड़ा रोशनी से नहाया हुआ है।

ऑटोमोबाइल सेक्टर में करोड़ों का व्यापार
दूसरी ओर ऑटोमोबाइल सेक्टर में भी नए मॉडल के वाहनों की खरीदी हुई। लोगों ने इन दोनों दिनों में वाहन खरीदने के लिए पहले ही एडवांस राशि भरकर दिन व मुहूर्त देख लिया था। वे फाइनल पेमेंट के साथ परिवार समेत शोरूम पर आए। इस दौरान हर शोरूम पर स्टाफ की भी व्यस्तता रही, क्योंकि नए वाहनों की खरीदी के साथ लोगों ने मनपसंद की एसेसरीज भी हाथोंहाथ खरीदकर लगवाई। इस सेक्टर में भी काफी कारोबार हुआ।

राजबाड़ा पर रात 1 बजे तक बाजार रहे खुले
इसी कड़ी में इन दो दिनों में राजबाड़ा और उसके आसपास के क्षेत्रों में रात 1 बजे तक लोग खरीदी करते रहे। दरअसल, इंदौर में 24 घंटे बाजार खुले होने का आदेश विजय नगर से भंवरकुआं बीआरटीएस तक है। इसके उलट खास माहौल राजबाड़ा और उसके आसपास ही रहा। यहां हजारों की संख्या में छोटे दुकानदारों ने दुकानें लगा ली थीं। इसके चलते लोगों की भी खरीदी आसान हुई क्योंकि आसपास सड़क निर्माण के चलते लोग यहीं से खरीदी करते रहे। यहां अन्य बाजारों में लोग खजूरी बाजार, पिपली बाजार, सांटा बाजार आदि रास्तों से पहुंचे।

महालक्ष्मी मंदिर में रही श्रद्धालुओं की भीड़
दीपोत्सव के तहत राजबाड़ा स्थित महालक्ष्मी मंदिर में धनतेरस पर दो दिन काफी भीड़ रही। शहर के मध्य स्थित इस मंदिर के आसपास बाजार होने से लोगों ने दर्शन भी किए। सोमवार को दीपावली पर मंदिर में मां महालक्ष्मी का खूबसूरत शृंगार होने के साथ विशेष पूजा हुई। मंदिर देर रात तक श्रद्धालुओं के लिए खुला रहेगा।