लॉकअप में छेड़छाड़ के आरोपी का सुसाइड:कंबल से फंदा बनाया; डेढ़ घंटे टहलता रहा, पुलिसकर्मी के जाते ही फांसी लगाई

भोपाल2 महीने पहले
फोटो में मृतक गोलू। दूसरे फोटो में उसका शव ले जाते हुए। - Dainik Bhaskar
फोटो में मृतक गोलू। दूसरे फोटो में उसका शव ले जाते हुए।

भोपाल के कमला नगर पुलिस स्टेशन में 28 साल के एक युवक ने शनिवार सुबह करीब 5.30 बजे फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। रात को करीब डेढ़ घंटे तक वह टहलता रहा। उसने कंबल को फाड़कर उसका फंदा बनाया था। जैसे ही पुलिसकर्मी उसे देखकर रवाना हुआ वैसे ही उसने सुसाइड कर लिया। करीब एक घंटे बाद दोबारा पुलिसकर्मी उसे देखने गया तो वह फंदे पर मिला। सूचना मिलते ही सभी अधिकारी मौके पर पहुंच गए। मामले की मजिस्ट्रियल जांच शुरू हो गई है। आरोपी को उसकी भाभी से छेड़छाड़ के आरोप में कमला नगर पुलिस ने शुक्रवार शाम करीब 5 बजे गिरफ्तार किया था।

कमला नगर पुलिस के अनुसार 28 साल का गोलू कमला नगर में रहता था। उसके खिलाफ शुक्रवार दोपहर करीब 11 बजे उसकी 31 साल की भाभी ने छेड़छाड़ की शिकायत की थी। महिला की शिकायत पर कमला नगर पुलिस ने गोलू को शाम करीब 5 बजे गिरफ्तार कर लिया। उसके खिलाफ छेड़छाड़ और जान से मारने की धमकी देने समेत अन्य धाराओं में FIR की गई थी। शाम होने के कारण उसे कोर्ट में पेश नहीं किया जा सका। पुलिस ने उसे लॉकअप में बंद कर दिया।

सुबह करीब 5 बजे के बाद ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मी लॉकअप तक आया। वह गोलू को देखकर वहां से काम में लग गया। पुलिसकर्मी बीच-बीच में बंदी पर नजर रखते रहते हैं। पुलिसकर्मी साढ़े 5 बजे उसे देखने पहुंचा तो गोलू फांसी लगा चुका था। सूचना मिलते ही अधिकारी और डॉक्टर की टीम भी मौके पर पहुंच गई, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए हमीदिया भेज दिया है।

लॉकअप के गेट से लगाई फांसी

सीसीटीवी में गोलू रात करीब साढ़े 3 से 4 बजे के बीच उठता हुआ नजर आता है। कुछ देर लॉकअप में ही टहलता रहा। इसके बाद वह कंबल को फाड़कर उसकी रस्सी बना लेता है। 5 बजे से साढ़े 5 के बीच वह फंदा लॉकअप के गेट से बांधता है और उससे लटक जाता है। कुछ ही देर में उसकी मौत हो जाती है।

सुसाइड के कारणों का खुलासा नहीं

महिला ने पुलिस को आशंका जताई थी कि अगर गोलू को गिरफ्तार नहीं किया, तो वह घर में हंगामा करेगा। पुलिस ने महिला की शिकायत पर मामला दर्ज करने के करीब 5 घंटे के अंदर उसे गिरफ्तार कर लिया था। बताया जाता है कि गोलू कोई खास काम नहीं करता था, लेकिन अब तक सुसाइड के कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है।

मामले की जांच शुरू

ड्यूटी पर मौजूद पुलिसकर्मियों द्वारा लापरवाही की जांच की जा रही है। वहीं पुलिस सूत्रों का कहना है कि अधिकारियों के सामने अपना पक्ष रखते हुए नाईट एचसीएम ने बताया कि वह तड़के सवा पांच बजे पेशाब करने के लिए गए थे, एसआई व प्रधान आरक्षक प्रभात गश्त पर थे। जबकि संतरी थाना परिसर में ही लॉकअप से दूर मौजूद था।