पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Bhopal Retired Professor Cash Withdrawal Case; His Son Spent 15 Lakh Rupees On His Girlfriend

रिटायर्ड प्रोफेसर की दु:खभरी कहानी:15 दिन के जिस बच्चे को गोद लेकर 25 साल पाला, वह धोखा और धमकी देने लगा; पिता बोले- इससे ताे बेऔलाद ही अच्छा था

भोपाल5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस आरोपी तक सीसीटीवी फुटेज के माध्यम से पहुंची। - प्रतीकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
पुलिस आरोपी तक सीसीटीवी फुटेज के माध्यम से पहुंची। - प्रतीकात्मक फोटो
  • बेटे ने एक साल में धोखाधड़ी कर 15 लाख रुपए ATM से निकाले
  • पूरे पैसे मुंबई घूमने और गर्लफ्रेंड पर कर डाले खर्च

भोपाल में रिटायर्ड प्रोफेसर के खाते से 15 लाख रुपए धोखाधड़ी कर निकाल लिए गए। यह रकम किसी और ने नहीं, उनके ही गोद लिए 25 साल के इकलौते बेटे ने एक साल में ATM से निकाली। उसने रुपए मुंबई घूमने और गर्लफ्रेंड पर खर्च कर दिए। मामले का खुलासा होने के बाद जब पिता ने उससे पूछा, तो उसने कहा कि मैं तो तुम्हारा दत्तक पुत्र हूं। अगर अब तुमने इसकी शिकायत पुलिस से की, तो जान से मार देंगे। बेटे की हरकत से दुखी पिता ने उसके खिलाफ धोखाधड़ी और जान से मारने की धमकी देने का मामला दर्ज कराया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

कोलार TI सुधीर अरजरिया ने बताया, सर्वधाम कोलार निवासी रहमान अली (75) रिटायर्ड प्रोफेसर हैं। उन्होंने बताया कि उनके खाते से 1 जनवरी 2020 से लेकर 24 दिसंबर 2020 तक करीब 15 लाख रुपए निकाले गए। उन्होंने बैंक जाकर इसका पता लगाया, तो सामने आया कि ATM कार्ड से यह रुपए निकाले गए हैं। उन्होंने बताया कि उन्होंने तो कभी कोई ATM कार्ड लिया ही नहीं है।

ऐसे में ATM कार्ड जारी कैसे हो गया और खाते से रुपए कैसे निकल गए? बैंक प्रबंधन ने उन्हें उनके साइन किए हुए डॉक्यूमेंट दिखाएं, जिसके बाद रहमान ने कोलार पुलिस से शिकायत की। पुलिस ने जब ATM कार्ड से संबंधित जानकारी निकाली, तो पता चला कि इसमें उनका बेटा आकिब अली ही शामिल है। इसी आधार पर पुलिस ने आकिब को हिरासत में लेकर जब पूछताछ की, तो उसने जुर्म कबूल कर लिया।

इस तरह बनवाया ATM कार्ड

आकिब ने बताया कि उसे लगा था कि वह रहमान अली का असली बेटा है, लेकिन कुछ दिन पहले ही उसे पता चला कि वह उनका दत्तक पुत्र है। उन्होंने उसे 15 दिन की उम्र में उसे गोद लिया था। उसने पिता के खाते से रुपए निकालने के लिए झांसे में लेकर उनसे ATM कार्ड का फॉर्म भरवा दिया था।

इसके लिए उसने कहा कि पापा लैंडलाइन फोन हटवा देते हैं, क्योंकि इसका अब उपयोग नहीं है। इसलिए आप इस फाॅर्म पर साइन कर दें। बेटे की बातों में आकर रहमान ने फाॅर्म पर साइन कर दिए थे। उसी फॉर्म से उसने ATM कार्ड बनवाया था। उसके आधार पर उसने ATM कार्ड प्राप्त कर लिया और उसी से फिर रुपए निकाले।

1 साल में 15 लाख रुपए खर्च कर दिए

TI अरजरिया ने बताया कि आकिब पहले खाते से 10 से 15 हजार ही निकालता था। यह सिलसिला उसने 1 जनवरी 2020 से शुरू किया था। अक्टूबर के बाद उसने बड़ी संख्या में खाते से रुपए निकालने शुरू कर दिया। इस दौरान वह मुंबई घूमने गया। उसने अपनी गर्लफ्रेंड के खाते में भी पैसे डाले। उनके साथ मुंबई भी घूमा। 24 दिसंबर को उसने आखिरी बार पैसे निकाले थे।

हमने उसे प्यार दिया, उसने हमारे साथ धोखाधड़ी की
रहमान अली ने बताया कि उनकी कोई संतान नहीं थी, इसलिए उन्होंने अपनी पत्नी के साथ मिलकर आकिब को तब गोद लिया था, जब वह 15 दिन का था। तब से वह इसे अपने बेटे की तरह ही पाल रहे हैं। कभी किसी तरह की कमी नहीं होने दी। हम उसे बहुत प्यार करते हैं, लेकिन उसने हमारे साथ ना केवल धोखाधड़ी की, बल्कि हमें जान से मारने की धमकी तक दी है। ऐसे बेटे से तो बेआलौद ही अच्छा था।

खबरें और भी हैं...