• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Big Disclosure, Threatening To Make Video Viral, Used To Do Dirty Work, Teen Hit With Friend

नाबालिग से कुकर्म के चलते हुई व्यापारी की हत्या:वीडियो वायरल करने की धमकी देकर करता था गंदा काम, गे पार्टनर संग मिलकर मार डाला

रायसेनएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

भोपाल जिले के औबेदुल्लागंज में 45 साल के व्यापारी नीरज कोठारी की हत्या मामले में पुलिस ने चौंकाने वाला खुलासा किया। व्यापारी की हत्या गे ट्राएंगल के चलते हुई है।दरअसल, व्यापारी एक नाबालिग के साथ जबरन कुकर्म करता था। नाबालिग पहले से एक दोस्त के साथ भी रिलेशनशिप में था। उसके दोस्त मनोज कटारे को कोठारी के संबंध और ब्लैकमेलिंग का पता चला तो उसने सुनिश्चित ढंग से नीरज कोठारी को मौत के घाट उतार दिया। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया।

पुलिस के मुताबिक, 17 फरवरी को औबेदुल्लागंज के वार्ड नंबर 13 में रहने वाले व्यापारी देवेंद्र कोठारी ने अपने बेटे नीरज कोठारी की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। एसडीओपी मलकीत सिंह के साथ चार थानों की टीम नीरज की तलाशी में जुटी थी। जांच के दौरान ही पुलिस ने नीरज की लाश शुक्रवार सुबह होशंगाबाद रोड पर शगुन वाटिका मैरिज गार्डन के पीछे झाड़ियों से बरामद की। जांच में मामला एक नाबालिग से जुड़ा निकला। एडिशनल एसपी अमृत मीणा ने पूरे मामले का खुलासा किया।

नमकीन की दुकान पर काम करता था नाबालिग
मीणा ने बताया कि पिपलिया गांव का रहने वाला 23 साल का मनोज कटारे और एक नाबालिग की अच्छी दोस्ती थी। पहले दोनों स्टेशन रोड पर नमकीन की एक दुकान पर काम करते थे। इसी बीच, नाबालिग की मुलाकात रेलवे स्टेशन पर मृतक नीरज कोठारी से हुई। नीरज नाबालिग को अपने पास बुलाने लगा। उसके साथ गलत हरकत करने लगा। यह बात जब मनोज को पता चली तो उसने विरोध किया।

पुलिस ने हत्या के आरोप में मनोज कटारे और एक नाबालिग को गिरफ्तार कर लिया है।
पुलिस ने हत्या के आरोप में मनोज कटारे और एक नाबालिग को गिरफ्तार कर लिया है।

व्यापारी को बुलाकर धारदार हथियार से किया वार
नाबालिग का नीरज के पास जाना आरोपी मनोज को पसंद नहीं था। इसीलिए मनोज ने व्यापारी नीरज कोठारी को बुलाकर धारदार हथियारों से कई बार वार कर उसकी हत्या कर दी और लाश को झाड़ियों में फेंक दिया था।

क्या था मामला?
जानकारी के मुताबिक, मृतक नीरज ने चोरी से नाबालिग के कुछ वीडियो भी बना लिए थे, जिसे वायरल करने का दबाव बनाकर वह नाबालिग को अपने पास बुलाता था। 17 फरवरी गुरुवार की रात नीरज ने फोन कर नाबालिग को शगुन वाटिका के पीछे बुलाया था। नाबालिग ने यह बात मनोज को भी बताई। मनोज भी उसके पीछे गया। वहां व्यापारी नीरज पर मनोज ने हमले कर दिया। नाबालिग और मनोज ने मिलकर नीरज का गला दबा दिया और हाथों की नसें काट दी। उस पर धारदार हथियारों से हमला किया और इसके बाद दोनों आरोपी नीरज की स्कूटी मोबाइल लेकर मौके से फरार हो गए।

खबरें और भी हैं...