• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Bring Junk And Take Coupons Of Dosa, Idli, Panipuri, If Not Take It Then Take Pot, Paper File, Go Wood

भोपाल में गजब का कचरा कैफे:कबाड़ लाइए और डोसा, इडली, पानीपुरी के कूपन ले जाइए; गमले, पेपर फाइल और गो काष्ठ भी मिलेंगी

भोपाल4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कचरा कैफे का यह कंसेप्ट पूरे देश में नया है। कूपन से आप दस नंबर मार्केट की दुकानों से ले सकेंगे खाने के आइटम। - Dainik Bhaskar
कचरा कैफे का यह कंसेप्ट पूरे देश में नया है। कूपन से आप दस नंबर मार्केट की दुकानों से ले सकेंगे खाने के आइटम।

भोपाल में गजब का कैफे खुला है। यहां आपको रुपए खर्च नहीं करने पड़ेंगे। बस, कबाड़ जमा कीजिए और लिट्टी-चोखा, सेंडविच, डोसा, इडली, पानीपुरी और चाय जैसे आइटम के कूपन ले जाइए। इन कूपन से आप दस नंबर मार्केट की दुकानों से यह आइटम ले सकेंगे या फिर इकोथिन, पेपर फाइल, गौ काष्ठ, गोबर के गमले, कंपोस्ट जैसे अल्टरनेट आइटम भी ले सकते हैं। दस नंबर पर नगर निगम के जोन कार्यालय के पास समाधान केंद्र में ही यह कैफे है। 3 दिन से यहां प्रयोग के तौर पर कैफे चल रहा है। एक-दो दिन में इसका औपचारिक शुभारंभ होगा। वेस्ट टू वैल्थ और थ्री आर यानी रिड्यूज, रियूज, रिसाइकल के कंसेप्ट के साथ शुरू किए गए इस कैफे को वॉलिंटियर के रूप में काम कर रहे स्वच्छता के एक्टिविस्ट एम्बेसडर्स का ग्रुप संचालित कर रहा है। कचरा कैफे का यह कंसेप्ट पूरे देश में नया ही है।

हर आइटम के किलो के हिसाब से रेट तय
कैफे संचालित कर रहीं नगर निगम कर्मचारी दीपा मालवीय ने बताया कि टीन, स्टील, ब्रास, कॉपर, एल्यूमिनियम, न्यूज पेपर, कॉर्टन, बुक्स, ग्रे बोर्ड, बॉटल्स, ब्लैक प्लास्टिक, सीमेंट बोरी, मिक्स प्लास्टिक, ई वेस्ट, बैटरी, टायर हर आइटम खरीदने के किलो के हिसाब से रेट तय हैं। इसके लिए एक इलेक्ट्रॉनिक तराजू यहां लगाया है।

रिसायक्लर्स और कबाड़ से जुगाड़ वाले लोगों को जोड़ा
यहां इकट्ठा होने वाला कचरा रिसाइकलर्स को जाएगा और जो रिसाइकल नहीं हो सकेगा उसे कबाड़ से जुगाड़ के रूप मेंें उपयोग कर कोई अन्य उपयोगी आइटम या डेकोरेटिव आइटम बनाया जाएगा। इसके लिए इस ग्रुप ने रिसाइकलर्स और कबाड़ से जुगाड़ का प्रयोग करने वालों को भी कैफे से जोड़ा है।

एक्टर रजा मुराद शहर की स्वच्छता के ब्रांड एंबेसडर
फिल्म एक्टर रजा मुराद को निगम ने शहर का स्वच्छता एंबेसडर बनाया है। स्वच्छ भारत मिशन की नई गाइडलाइन में हर शहर को अपने शहर से जुड़ी हस्ती को ब्रांड एंबेसडर बनाना है। इसके स्वच्छ सर्वे में 40 नंबर हैं। रजा मुराद स्वच्छता के ब्रांड एंबेसडर के रूप में काम करने का कोई शुल्क नहीं लेंगे।

प्लास्टिक का कचरा कम करने के लिए पूरा जोर लगाकर काम करने की जरूरत है। उसी के तहत हमने यह कचरा कैफे शुरू किया है।
- वीएस चौधरी कोलसानी, कमिश्नर, नगर निगम

खबरें और भी हैं...