पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Can Apply Vaccine Anytime After Two Weeks Of Recovery From Corona MP में वैक्सीन की कम्पलीट गाइड

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

MP में वैक्सीन की कम्पलीट गाइड:अगर आपने कोरोना की वैक्सीन लगाई है या लगवाने वाले हैं तो इन 22 सवाल-जवाबों से होगा आपकी हर शंका का समाधान...

मध्यप्रदेशएक महीने पहलेलेखक: राजीव कुमार तिवारी
  • कॉपी लिंक

1. कभी संक्रमित नहीं हुआ लेकिन एलर्जी है। क्या मैं भी वैक्सीन लगवा सकता हूं।

हां, साधारण एलर्जी के मरीज वैक्सीन लगवा सकते हैं लेकिन यदि आपको पूर्व में कोई गंभीर इंजेक्शन या ड्रग रिएक्शन हुआ हो तो डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

2. हार्ट और डायबिटीज के मरीजों को वैक्सीन लगाते समय क्या सावधानियां बरतना चाहिए?

साधारणत: वैक्सीन लगाने के लिए कोई सावधानी बरतने की जरूरत नहीं है। फिर भी हो सके तो उन्हें डॉक्टरी सलाह लेकर वैक्सीन लगाना चाहिए।

3. कोविड के नए स्ट्रेन के खिलाफ मौजूदा दोनों वैक्सीन कितनी प्रभावी है?

वैक्सीन बिल्कुल असरदार है। हम देख रहे हैं कि वैक्सीन लगाने वाले लोगों में बीमारी की गंभीरता कम है।

4. वैक्सीन लेने के पहले डोज के बाद भी क्या एंटीबॉडी डेवलप होती है? यदि होती है तो कितनी प्रभावी होती है?

वैक्सीन के पहले डोज लगने के बाद शरीर में एंटीबॉडी बनने की प्रक्रिया प्रारंभ हो जाती है। दूसरा डोज लगने के बाद एंटीबॉडी की प्रभावी मात्रा बढ़ जाती है जो रोग से लड़ने में मदद करती है।

5. वैक्सीन का दूसरे डोज लगने के कितने दिन बाद कोरोना से लड़ने की प्रतिरोधक क्षमता पैदा हो जाएगी?

वैक्सीन का दूसरा डोज लगने के दो से तीन सप्ताह बाद एंटीबॉडी डेवलप हो जाती है। टीका लगने के 15 दिन बाद यदि कोई पॉजिटिव होता है तो उसे मामूली समस्या ही होती है। वे जल्दी ठीक हो जाते हैं।

6. मैं पॉजिटिव हो चुका हूं, क्या वैक्सीन लगवा सकता हूं और कब ?

आप बिल्कुल वैक्सीन लगा सकते है। पूरी तरह ठीक हो जाने के तीन से चार सप्ताह के बाद लगवा सकते हैं।

7. मध्यप्रदेश में सप्ताह में कितने दिन वैक्सीनेशन हो रहा है?

मध्यप्रदेश के मेडिकल कॉलेज, जिला अस्पताल और प्राइवेट अस्पतालों में सात दिनों सुबह नौ से शाम 5 बजे तक वैक्सीनेशन किया जा रहा है। डिस्पेंसरी और छोटे ग्रामीण अस्पतालों में सोमवार, बुधवार, गुरुवार और शनिवार को वैक्सीनेशन हो रहा है।

8. क्या वैक्सीन लगाने के बाद कोई गंभीर समस्या या दुष्प्रभाव पैदा होता है?

वैक्सीन लगाने पर हल्का बुखार आना स्वाभाविक है। इसमें चिंता की कोई बात नहीं है। गंभीर समस्या और दुष्प्रभाव के ऐसे कोई मामले अभी सामने देखने नहीं मिले हैं। किसी को उल्टी भी हो सकती है। उम्र के अनुसार यह दिखाई दे सकता है।

9. वैक्सीन लेने के बाद मुझे न बुखार आया, न हाथ पैर दर्द हुए। क्या यह इस बात का संकेत है कि वैक्सीन मुझ पर प्रभावी नहीं हुई?

ऐसा जरूरी नहीं है कि वैक्सीन लगने के बाद बुखार आए ही या कोई लक्षण दिखे। एंटीबॉडी सभी में डेवलप होगी।

10. राज्य में कोरोना की कौन-कौन से वैक्सीन उपलब्ध हैं? क्या अपनी पसंद की वैक्सीन लगवा सकते हैं?

हमारे यहां कोविशील्ड और को-वैक्सीन दो वैक्सीन उपलब्ध है। सेंटर पर उपलब्ध वैक्सीन ही आपको लगाना होगा, चॉइस नहीं मिलेगी।

11. क्या वैक्सीन लगवाना अनिवार्य है? लगवाने के लिए क्या करना पड़ेगा।

वैक्सीनेशन स्वैच्छिक है। इसके लिए रजिस्ट्रेशन करवाने के तीन मॉडल हैं। कोविन या आरोग्य सेतु के जरिए रजिस्ट्रेशन पहले कराएं और तारीख लेकर सेंटर पर चले जाएं। ऑन साइट रजिस्ट्रेशन के जरिए। यानी मौके पर ही जाकर रजिस्ट्रेशन करवाएं। स्लॉट खाली होने पर उसे तुरंत वैक्सीन लगा दी जाएगी। तीसरा, अधिकारियों की मदद से ग्रुप में रजिस्ट्रेशन करवा लेवें।

12. वैक्सीन की दोनों डोज लेने में कितने दिन का अंतर होना चाहिए?

कोविशिल्ड के लिए डीसीजीआई (DCGI) द्वारा दी गई अनुमति के अनुसार पहली खुराक लेने के बाद दूसरी खुराक 6 -8 सप्ताह बाद तथा को कोवैक्सीन की पहली खुराक लेने के बाद दूसरी खुराक 28 दिन बाद लिया जाना चाहिए। वैक्सीन के दाेनाें डाेज लगवाना जरूरी है।

13. यदि दूसरा डोज लगवाने से चूक गए तो क्या होगा?

यदि आप तय समय पर डाेज नहीं लगवा पाए ताे काेशिश करें की जल्द से जल्द लगवा लें। लंबा समय हुआ ताे फिर आपकी बाॅडी में इम्यूनिटी डेवलप नहीं होगी। दूसरा डोज लगवाने में पूरी तरह चूक गए तो वैक्सीनेशन का कोई फायदा नहीं होगा।

14. दोनों में से बेहतर वैक्सीन कौन सी है? मध्यप्रदेश में कोविशील्ड ज्यादा लग रही है?

दोनों ही वैक्सीन प्रभावी है। लगभग समान प्रभावकारी है। डोज की उपलब्धता के अनुसार वैक्सीनेशन हो रहा है। साथ ही व्यक्ति को बीमारी की गंभीर स्थिति में जाने से रोकता है। बुजुर्ग लोगों या कोमोरबिडिटी (दूसरी बीमारियों से ग्रस्त) लोगों में मृत्यु को रोकने में सहायक भी है।

15. क्या दोनों डोज एक ही कंपनी के वैक्सीन के होने चाहिए या अलग-अलग हो सकते हैं?

एक व्यक्ति को एक ही कंपनी की वैक्सीन के दोनों डोज लगने जरूरी है। यह तभी प्रभावकारी होगी।

16. बच्चों को वैक्सीन नहीं लग रही है। क्या कुछ महीने बाद इन्हें भी टीके लग सकेंगे?

जब बच्चों की बारी आएगी तब उन्हें भी लगा सकेंगे। फिलहाल तो नहीं लगेंगे। वर्तमान में दोनों टीके 18 वर्ष और उससे अधिक उम्र के लोगों में उपयोग के लिए हैं। बच्चों के परीक्षण चल रहे हैं और निकट भविष्य में बच्चों के लिए भी टीका उपलब्ध हो जाएगा। बच्चों को शेड्यूल के अनुसार अन्य बीमारियों के लिए टीकाकरण करवाना चाहिए। इनमें से कुछ टीके जैसे MMR और फ्लू के टीके कोरोना के खिलाफ भी कुछ सुरक्षा प्रदान कर सकते हैं।

17. क्या गर्भवती महिलाओं को वैक्सीन लगा सकते है।

अभी गर्भवती महिलाओं के लिए कोई सेफ्टी डाटा नहीं है। उनके लिए अभी सुरक्षित है या नहीं इस पर रिसर्च चल रही है। अभी उन्हें नहीं लगवा सकते हैं।

18. वैक्सीन लगाने के बाद कितने समय तक एंटीबॉडी रहेगी।

इस बारे में अभी कोई डाटा नहीं आया है। इस पर रिसर्च चल रहा है कि वैक्सीन से शरीर में एंटीबॉडी बनने के बाद यह कब तक प्रभावी रहेगी।

19. वैक्सीन के दोनों डोज लगाने के 14 दिन बाद भी कोविड का संक्रमण क्यों हो रहा है?

संक्रमण मुंह व नाक से प्रवेश करता है। ऐसे में भले ही आप कोरोना पॉजिटिव हो गए हो लेकिन वैक्सीन लगवाई है तो शरीर पर इसका गंभीर असर नहीं पड़ेगा।

20. क्या इन दो कंपनियों के अलावा और भी वैक्सीन बाजार में आ रही है क्या? और आ रही है तो वह इनसे कितनी ज्यादा अच्छी होगी?

बाजार में तीन कंपनियों की और वैक्सीन जल्द आने की संभावना है। इन वैक्सीन के ट्रायल चल रहे है, ट्रायल के नतीजे आने और भारत सरकार की मंजूरी के बाद ही बाजार में इन कंपनियों के टीके उपलब्ध होंगे। ये वैक्सीन कितनी अच्छी यह तो इनके ट्रायल के नतीजों पर निर्भर करेगा।

21. क्या जिस सेंटर से पहली डोज लगवाई, वहीं दूसरी डोज लगवाना जरूरी है? कहीं और से लगवा सकते है?

जरूरी नहीं कि आपने जिस सेंटर पर वैक्सीन की पहली डोज लगवाई है, वहीं दूसरी डोज लगवाएं। किसी भी अधिकृत स्वास्थ्य केन्द्र पर जाकर पहचान पत्र के साथ दूसरी डोज भी लगवा सकते हैं। ध्यान रहे कि वहीं पर जाएं जहां उस कंपनी की डोज लग रही हो जो आपको पहले लगी थी।

22. मुझे टीका कब लगेगा, यदि मेरी उम्र 43 साल है?

देश में अभी फ्रंट लाइन वर्कर्स, हेल्थ वर्कर्स के अलावा 1 जनवरी 1977 से पहले जन्मे सभी लोगों का वैक्सीनेशन किया जा रहा है। 45 साल से कम उम्र के लोगों को चौथे चरण में जून या जुलाई के बाद शामिल किया जा सकता है।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

और पढ़ें