पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Children Get Bored With Online Class, They Stop Doing Audio And Start Doing Mischief, Remedy Tell Stories To Children At Bedtime Will Increase Their Ability To Listen Carefully

एनसीईआरटी का ऑनलाइन सेमिनार...:ऑनलाइन क्लास से बच्चे ऊबे, वे ऑडियो बंद कर शरारतें करने लगते हैं, उपाय- सोते वक्त बच्चों को कहानियां सुनाएं उनकी ध्यान से सुनने की क्षमता बढ़ेगी

भोपालएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • स्पीकर की आंख से आंख मिलाकर बात सुनें।
  • जो कहा जा रहा है, उस पर प्रतिक्रिया में सिर हिलाते रहें।
  • स्पीकर ने जो कहा वह समझ में आ गया या नहीं आया।
  • डिस्ट्रैक्ट करने वाली चीजों को दूर रखें।
  • जो स्पीकर ने कहा, उसको रिपीट करते हुए सवाल करें।

क्लासरूम अब मोबाइल स्क्रीन पर सिमट गए हैं, जिससे अब बच्चे ऊब गए हैं। बच्चे टीचर्स की बात नहीं सुनते, वे कभी क्लास का ऑडियो बंद कर शरारतें करने लगते हैं या कई बार कुर्सी छोड़कर चले जाते हैं। पेरेंट्स भी बच्चों की बातें अब नहीं सुन रहे। पहले बच्चा स्कूल से आता था तो पैरेंट्स उससे पूछते थे- दिन कैसा रहा? इस तरह वे उनको ध्यान से सुन पाते थे, लेकिन अब घरों से यह कल्चर खत्म हो रहा है। दिनभर घर में रहने की वजह से अब पैरेंट्स ने बच्चों को सुनने का समय देना बंद कर दिया है, जो सही नहीं है। यह बातें शुक्रवार को एनसीईआरटी के किशोर मंच में ‘डेवलपिंग आर्ट ऑफ लिसनिंग’ विषय पर काउंसलर मीनाक्षी त्रिपाठी और आरआईई भोपाल की विशेषज्ञ डॉ. रश्मि शर्मा ने कहीं।

मीनाक्षी त्रिपाठी ने बताया कि कई बार हमें अहसास ही नहीं होता कि अब हमारी सुनने की स्किल कम होती जा रही है। इसको समझने का अच्छा तरीका है, जब भी आपसे कोई बात करे तो अपनी तीन बातों एटिट्यूड, अटेंशन और एडजस्टमेंट पर गौर करें। देखें कि जब आपसे कोई कुछ कहता है तो आपका सुनने का मन होता है या नहीं। यह नाेटिस करें कि किसी की बात सुनते-सुनते कहीं आपका ध्यान छोटी-छोटी चीजों के कारण भटक तो नहीं जाता। एडजस्टमेंट को जांचने का तरीका यह है कि जो बात कही जा रही है, क्या आप उसके साथ प्रवाह में हैं। मन में उससे जुड़े सवाल नहीं आ रहे हैं तो आप वक्ता के साथ एकलय नहीं हैं।

ये कर सकते हैं पैरेंट्स

  • बच्चों को ध्यान से सुनें।
  • बच्चों का स्क्रीन टाइम तय करें।
  • शेड्युल ऐसा होे कि वे अच्छी नींद ले सकें।
  • बच्चों को रात में कहानियां सुनाना शुरू करें। 2 से 3 मिनट मेडिटेशन भी कराएं।

ऑनलाइन क्लास के कायदे ऑनलाइन क्लास अटेंड
करते वक्त बच्चे भाषा का ध्यान रखें। ऐसी बात ऑनलाइन क्लास में न कहें, जिसे आप टीचर के सामने फेस-टू-फेस होने पर कहने में डरेंगे या हिचकिचाएंगे। टीचर से कुछ चैटबॉक्स में पूछ रहे हैं तो वाक्य को भेजने के पहले एक बार बोलकर पढ़ लें, ऐसा तो नहीं कि भाषा रूखी और गुस्से में लिखी गई महसूस हो। कुछ लिखकर कम्युनिकेट कर रहे हैं तो ग्रामर का पूरा ध्यान रखें, शॉर्टकट ना लिखें।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें