पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कलेक्टर कोर्ट में हुई सुनवाई:चिटफंड कंपनी ने कैंप लगाकर वापस की 120 लोगों की रकम

भोपालएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राशि डबल करने के नाम पर चिटफंड कंपनी द्वारा ठगी करने का मामला सामने आया था। ये ठगी मथुरा की माउंट साॅफ्ट बैनिफिट म्यूचुअल फंड कंपनी ने की थी। इसमें शहर के 120 लोगों से 22 लाख 49 हजार की राशि ली गई थी। कलेक्टर अविनाश लवानिया ने शिकायत की जांच कराई थी। गड़बड़ी पकड़ में आने पर कंपनी के खाते सीज कर दिए गए। साथ ही प्रॉपर्टी कुर्क करने की हिदायत कंपनी के संचालकों को दी। इसके बाद संचालकों ने सभी की रकम वापस लौटाई।

कलेक्टर ने बताया कि मैच्योरिटी होने के बाद जब ये लोग भोपाल स्थित दफ्तर पहुंचे तो उन्हें चेक दे दिए गए, जो बैंक में जमा करने पर बाउंस हो गए। इसके बाद कंपनी ने दफ्तर भी बंद कर दिया। जांच के बाद कलेक्टर ने कंपनी के पंजाब नेशनल बैंक और आईसीआईसीआई बैंक के मथुरा स्थित खातों को 30 जनवरी को फ्रीज करने के आदेश दिए थे। साथ ही कंपनी के खिलाफ कोतवाली थाने में 20 नवंबर को निखिल के नाम से एफआईआर भी दर्ज कराई गई। जिसमें पुलिस ने डायरेक्टर पंकज चौधरी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। एक अन्य डायरेक्टर अरविंद कुमार यादव को भी नोटिस दिया गया है।

22 लाख 49 हजार रुपए किए वापस

कंपनी के डायरेक्टर ने 28 नवंबर को कलेक्टर के यहां 21 लाख 61 हजार 500 की राशि वापसी के संबंध में आवेदन पेश किया। इसके बाद पीरगेट, घोड़ा नक्कास, एमपी नगर में कैंप लगाकर राशि वापस की गई। जिसमें सभी 120 निवेशकों की ब्याज समेत 22 लाख 49 हजार 700 रुपए की दावा राशि की वापस कर दी है।

खबरें और भी हैं...