सुभाषनगर ROB का लोकार्पण 23 को:फिजिकल की बजाय वर्चुअल लोकार्पण कर सकते हैं CM, डिवाइडर बनकर तैयार; डामरीकरण भी किया

भोपाल10 महीने पहले

भोपाल के सुभाष नगर ROB (रेलवे ओवरब्रिज) का 23 जनवरी को CM शिवराज सिंह चौहान लोकार्पण करेंगे। राजधानी में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए लोकार्पण फिजिकल की बजाय वर्चुअल तरीके से हो सकता है। ब्रिज के शुरू होने से 3 लाख से ज्यादा लोगों को बड़ी राहत मिलेगी।

23 जनवरी को सुभाषचंद बोस की जयंती है। इसी दिन सीएम ROB का लोकार्पण करेंगे। इससे पहले 5 से 12 जनवरी तक ट्रायल किया गया। वहीं, 100 मीटर लंबे डिवाइडर, ब्रिज की रंगाई-पुताई, छोटी रोटरी, सिग्नल से जुड़े काम किए गए। पीडब्ल्यूडी के चीफ इंजीनियर (ब्रिज) संजय खाड़े ने बताया कि ब्रिज पर फिर से डामरीकरण भी किया गया है। गुरुवार तक काम पूरे हो जाएंगे।

कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे के चलते वर्चुअल

भोपाल में कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। 24 घंटे के भीतर कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा 1300 पार पहुंच चुका है। मंत्री विश्वास सारंग, विधायक रामेश्वर शर्मा भी पॉजिटिव हो चुके हैं। इसके चलते 23 जनवरी को ROB का लोकार्पण तो होगा, लेकिन यह फिजिकल की बजाय वर्चुअल तरीके से हो सकता है।

40 करोड़ रुपए में बना है आरओबी

ROB करीब 23 महीने पहले ही बनकर तैयार हो चुका है, लेकिन मेट्रो प्रोजेक्ट और सर्विस रोड की वजह से ट्रैफिक शुरू नहीं हो पाया था। ब्रिज 40 करोड़ रुपए में बना है। 690 मीटर लंबा यह ROB नए को पुराने शहर को जोड़ेगा। 3 लाख से ज्यादा लोगों को फायदा होगा।

जाम से मिलेगी राहत

ROB से ट्रैफिक शुरू होने के बाद रोज एवरेज 3 लाख लोगों को फायदा होगा। वहीं, सुभाष नगर व रचना नगर अंडर ब्रिज के साथ अशोका गार्डन पर घंटों लगने वाले जाम की समस्या भी हल होगी। आरओबी से एमपी नगर और प्रभात चौराहा क्षेत्र से भोपाल स्टेशन, अशोका गार्डन व पिपलानी, गोविंदपुरा, एमपी नगर, रचना नगर की ओर आने-जाने वालों को सहूलियत होगी।