पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • CM Jobat To Launch 'Dengue Se Jung Janata Ke Sang' Campaign Tomorrow; Number Reached 203 With 9 New Dengue Cases Found In A Day In Bhopal

'डेंगू से जंग जनता के संग' अभियान शुरू:मुख्यमंत्री ने हरी झंडी दिखाकर की शुरुआत; भोपाल में एक दिन में डेंगू के  9 नए केस मिलने के साथ कुल मरीज 203

भोपाल12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
भोपाल में अभियान की शुरुआत करते सीएम। - Dainik Bhaskar
भोपाल में अभियान की शुरुआत करते सीएम।

मध्यप्रदेश में डेंगू के मरीज तेजी से बढ़ रहे हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 'डेंगू से जंग-जनता के संग' अभियान का शुभारंभ सीएम भोपाल के नेहरू नगर स्थित पलकमती कॉलोनी में बुधवार सुबह साढ़े दस बजे शुरुआत की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि डेंगू से जंग जनता के संग अभियान को सफल बनाना है। जिस तरह से कोरोना से जंग जनता ने लड़ी। ये जंग भी जनता को ही लड़ना है। उन्होंने कहा कि भगवान की कृपा रही तो तीसरी लहर नहीं आने देंगे। हर तरह की सावधानी रखें। उन्होंने कोरोना की गंभीरता से बचने के लिए लोगों से वैक्सीन लगाने की अपील की। साथ ही कहा कि भोपाल में सेकंड डोज सिर्फ 40 प्रतिशत लोगों को ही लगा है। पहला डोज 97 प्रतिशत लोगों को लगा है। बता दें प्रदेश में डेंगू के 25 हजार से ज्यादा मामले सामने आ गए है। इसमें मंदसौर और जबलपुर में डेंगू के मरीज तेजी से बढ़ रहे है।

इससे पहले सीएम ने डेंगू मलेरिया जन जागरूकता रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इसके बाद उन्होंने सांकेतित लार्वा मारने के लिए दवा का छिड़काव ऑर फॉगिंग की। पलकमती कॉलोनी में सीएम ने डेंगू से बचाव और सावधानी की जागरूकता के लिए पोस्टर लगाए। साथ ही बोर्ड पर हस्ताक्षकर स्वास्थ्य विभाग के डेंगू से जंग जनता के संग अभियान का शुभारंभ किया।

अभियान में जनता को जोड़कर सप्ताह में एक दिन पानी एकत्रित करने वाली जगह को साफ करने के लिए प्रेरित किया जाएगा।साथ ही, प्रदेश में एंटी लार्वा गतिविधियों को तेज किया जाएगा। सीएम ने लोगों से कूलर, गमले, पक्षियों के बर्तन में सप्ताह में एक दिन पानी बदलने और साफ करने की अपील की। साथ ही उन्होंने कॉलाेनी में पानी एकत्रित होने पर उसे साफ करने और नगर निगम और मलेरिया विभाग की टीम से संपर्क कर दवा का छिड़काव करने की बात भी बात कही।

पलकमती कॉलोनी में कार्यक्रम से एक दिन पहले सड़क का निर्माण करने पर सवाल खड़े हुए। बता दें सीएम के कार्यक्रम के एक दिन पहले कॉलोनी के सामने सड़क का निर्माण किया गया। इस सड़क को बरसते पानी में पन्नी डालकर बनाया गया। इस पर नेहरू नगर निवासी अजीत कुमार ने कहा कि अधिकारी मुख्यमंत्री से शहर की सड़कों की हालत को छिपा रहे है। उनको शहर का निरीक्षण करना चाहिए। जिससे गड्‌ढों में तब्दील सड़को के भी हालत सुधरें।

भोपाल में मंगलवार को डेंगू के 9 नए केस के साथ मरीजों की संख्या 203 पहुंच गई है। इससे बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग शहर के विभिन्न क्षेत्रों, अति संवेदनशील क्षेत्रों, स्लम एरिया और अन्य बस्तियों में डेंगू लार्वा, मलेरिया, रैपिड टेस्ट, ब्लड स्लाइड कलेक्शन और कोरोना से बचाव की जानकारी आदि का काम कर रहा है।

जिला मलेरिया अधिकारी अखिलेश दुबे ने बताया कि मलेरिया की रोकथाम के लिए विभिन्न क्षेत्रों में दल नियुक्त कर अभियान चलाया जा रहा है। भोपाल जिले में 312 लोगों की रैपिड टेस्ट से मलेरिया की जांच की गई। इनमें भोपाल शहर में 168 और बैरसिया में 53 से अधिक लोगों की मलेरिया जांच के लिए नमूने लिए गए।

शहर के विभिन्न क्षेत्रों में डेंगू के लार्वा के लिए 38 टीमों का दल नियुक्त किया गया है। इनके द्वारा 1428 घरों का सर्वे कर किया गया। 138 घरों में लार्वा पाया गया। अलग-अलग जगह 10 हजार से अधिक बर्तनों में लार्वा सर्वे किया गया, जिसमें केवल 159 बर्तनों में लार्वा पाया गया। डेंगू के लार्वा को टेमोफॉस डाल कर नष्ट किया गया।

यह है सेंसेटिव जोन

भोपाल में साकेत नगर, बरखेड़ा पठानी, बागसेवनिया, कमला नगर, निजामुद्दीन कॉलोनी, लालघाटी सेंसेटिव इलाके हैं। यहां 5 से ज्यादा डेंगू मरीज मिले हैं। जनवरी से अब तक भोपाल में 1 लाख 65 हजार घरों की जांच की गई। इनमें से करीब 14 हजार घरों में लार्वा मिला, जिसे नष्ट करने की कार्रवाई की गई।

प्रदेश में यहां बढ़ रहे केस

  • डेंगू के कारण सबसे ज्यादा प्रभावित मंदसौर, जबलपुर, रतलाम, आगर मालवा, भोपाल, सिवनी है। मंदसौर में 800 से ज्यादा डेंगू मरीज मिले हैं।

इन बातों का रखें ख्याल

  • मच्छरों को दूर रखने के लिए मच्छर भगाने वाले क्रीम और स्प्रे, मच्छरदानी का इस्तेमाल करें।
  • बाहर जाते समय लंबी बाजू की शर्ट और पैंट पहनें।
  • पानी को घर के पास एकत्रित न होने दें।
  • कूलर, गमले, पक्षियों के लिए रखे बर्तन का पानी बार-बार बदलते रहें।

यह है डेंगू के लक्षण

  • तेज बुखार, ठंड गलना, जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द, आंखों के पीछे दर्द, थकान, ऐंठन, शरीर पर लाल चकते।

डेंगू का इलाज

यदि आपको डेंगू बीमारी से संबंधित कोई भी लक्षण हैं, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। डेंगू से जल्दी ठीक होने के लिए आराम करें। तरल पदार्थों का सेवन करते रहें।

खबरें और भी हैं...