• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • MRS Universe 2022; Who Is Amrita Tripathi? | Bhopal Physiotherapist Representing India In MRS Universe Contest

बेटे की बात चुभी तो बदल गई जिंदगी:भोपाल की बहू मिसेज यूनिवर्स की रेस में; कहा-वो सपना जी रहीं, जो कभी सोचा नहीं

भोपाल5 महीने पहलेलेखक: शुभांगिनी दुबे

भोपाल की 33 साल की अमृता त्रिपाठी जिन्होंने कुछ साल पहले अपना कॉन्फिडेंस भी खो दिया था, हताश हो गई थी, खुद को नाकारा समझना शुरू कर दिया था। जब लगा कि जीवन में कुछ नहीं बचा। यहां तक कि बेटा भी उनकी पहचान को लेकर सवाल करने लगा था। बेटे की बात अमृता को ऐसी चुभी कि उन्होंने ठान लिया और घर तक सीमित रहने वाली अमृता ने पहले हाउसवाइफ से मिसेज इंडिया बनने का सफर पूरा किया और अब वो वर्ल्ड में भारत को मिसेज यूनिवर्स कॉन्टेस्ट में रिप्रजेंट करेंगी। पढ़िए, उनके स्ट्रगल कि कहानी उन्हीं की जुबानी ---

साल 2009 में कॉलेज का फाइनल ईयर कम्पलीट हुआ और घरवालों ने मेरे हाथ पीले कर दिए। मैंने फीजियोथेरैपी में ग्रेजुएशन किया था। मेरी थैरेपिस्ट बनने की इच्छा ​​​​​थी। मुझे आगे और पढ़ना था। लेकिन शादी के बाद सभी को लगा ये क्या मालिश (फीजियोथेरैपी) वाला काम है। तो मेरी पढ़ाई छूट गई। मैं सिमट कर हाउस वाइफ बनने लगी।

मैं खुद को नाकारा समझने लगी थी
शादी के बाद एक वक्त ऐसा आया जब मैं पूरी तरह पति और परिवार वालों पर डिपेंड हो गई थी। मैंने अपना आत्मविश्वास खो दिया था। मुझे लगता था मैं किसी चीज में अच्छी नहीं हूं- न लुक्स में, न पढ़ाई में, न जॉब करने लायक हूं। बस मैं घर में बच्चा संभालने के लायक हूं। मेरे बेटे को कभी खिलौने चाहिए हो, उसके लिए कुछ लेकर आना हो तो मैं पूरी तरह अपने पति पर निर्भर थी। बस यही सोचती थी कि वो आएंगे तभी मैं जाउंगी। मुझे ऐसा लगा कि मेरा वजूद तो बस हाउसवाइफ तक ही सिमट कर रह गया है। फिर जब मेरा बेटा बड़ा होने लगा तो पूछने लगा - मां आप मेरे लिए कभी खिलौने क्यों नहीं लाती हो? आपकी कभी कोई फोटो क्यूं नहीं लेता? ये छोटी-छोटी बातें दिल में तीर की तरह चुभने लगी। इतना हर्ट हो जाती थी कि मैंने खुद को नाकारा समझना शुरू कर दिया था। लेकिन कहते है ना कि- हर इंसान की जिंदगी में एक न एक टर्निंग पॉइंट जरूर आता है, और इस स्टोरी में अमृता के लिए टर्निंग पॉइंट रहा उनका बेटा। ​

दिन भर बच्चा संभालती, रात में पढ़ाई करती थी
इसी बीच मेरा बेटा बड़ा हो रहा था और वही मेरी लाइफ का टर्निंग पॉइंट बना। मैंने 5 साल के गैप के बाद फिर से पढ़ाई शुरू की और साल 2014 में हॉस्पिटल मैनेजमेंट से MBA में एडमिशन ले लिया। दिन में बच्चे को संभालना और रात में पढ़ाई करना यही मेरा रूटीन बन गया। पहले सेमेस्टर में तो पास होने की उम्मीद भी नहीं थी लेकिन फाइनल सेमेस्टर में मैंने टॉप किया। बस फिर क्या था यहीं से जिंदगी ने एहसास करवा दिया कि अभी तो लम्बी पारी बाकी है। उस समय मैंने पीछे पलट कर नहीं देखा और मुझे यह एहसास हुआ कि लाइफ में सब कुछ मैनेज किया जा सकता है बस खुद पर विश्वास रखो।

Mrs India से Mrs Universe तक का सफर
लॉकडाउन में जब सब घर में बंद थे तो मुझे भी लगा कुछ ट्राई करना चाहिए। इसी बीच मैंने Mrs India के ऑनलाइन ऑडिशन दिए। 2 राउंड क्लियर भी हो गए और फाइनल राउंड में मुझे Mrs Middleeast Asia का टाइटल मिला। इस कॉन्टेस्ट में देश और NRI सभी को मिलाकर लगभग 70 पार्टिसिपेंट थे, जिनमें से मुझे मिलाकर 7 महिलाओं को चुना गया। इस सिलेक्शन से जिंदगी बदल सी गई। अब मैं Mrs Universe Contest से पूरे भारत को रिप्रेजेंट करने वाली हूं। मैं आज वो सपना जी रहीं हूं जिसे मैं कभी सपने में भी सोच नहीं सकती थी।

साड़ी है अमृता की पसंद
साड़ी है अमृता की पसंद

भारत को साड़ी से करूंगी रिप्रजेंट
अमृता ने बताया की इस कॉन्टेस्ट में वो भारत को साड़ी से रिप्रेजेंट करने वाली हैं। उनका पहला इम्प्रैशन कोरिया में साड़ी में ही रहेगा जिसे भोपाल के डिजाइनर्स ने चुना है।

अमृता 22 जून से 1 जुलाई तक Mrs Universe कॉन्टेस्ट में भारत का प्रतिनिधित्व करने साउथ कोरिया की राजधानी सियोल जा रहीं हैं। जिसमें दुनिया भर से 100 से भी ज्यादा वीमेन पार्टिसिपेट कर रही हैं।

खबरें और भी हैं...