ऐसी है भोपाल की तासीर... / होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना मरीजों को हिकारत नहीं, हौसला दे रहे पड़ाेसी

पड़ोसी इस तरह पहुंचाते हैं सामान। पड़ोसी इस तरह पहुंचाते हैं सामान।
X
पड़ोसी इस तरह पहुंचाते हैं सामान।पड़ोसी इस तरह पहुंचाते हैं सामान।

  • भोपाल में कोरोना पेशेंट्स से नहीं हो रहा अमानवीय व्यवहार
  • 30 से ज्यादा काेराेना पॉजिटिव मरीज में कोई लक्षण नहीं है

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

भाेपाल. देश के कुछ शहरों में होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना पेशेंट्स के साथ पड़ोिसयों द्वारा हिकारत भरा अमानवीय बर्ताव किए जाने की खबरों के बीच भोपाल में तस्वीर इसके एकदम उलट नजर आती है। यहां 30 से ज्यादा ऐसे काेराेना पॉजिटिव मरीज हैं, जिन्हें किसी तरह के लक्षण नहीं हैं। उन्हें होम आइसोलेशन में रखकर इलाज दिया जा रहा है। यहां पड़ोसी इनकी हरसंभव मदद कर रहे हैं। आज संडे स्टोरी इसी जज्बे पर...

कोरोना ड्यूटी के दौरान संक्रमित 

पटवारी अमित जायसवाल। बैरागढ़ में किराए से रहते हैं। ड्यूटी के दाैरान संक्रमित हुए, लेकिन उन्हें काेई लक्षण नहीं थे। घर पर ही क्वारेंटाइन। अमित काेराेना में ड्यूटी करते हुए संक्रमित हुए, ऐसे में पड़ोसियों के मन में ज्यादा सम्मान का भाव है। वे बालकनी से बकेट नीचे कर देते हैं ताे पड़ाेसी दूध समेत अन्य सामान उसमें रखकर भिजवा देते हैं।
सब लोग पूरी मदद कर रहे
दिलीप कुमार आडवानी, मकान मालिक के मुताबिक, अमित डाॅक्टराें काे काेराेना पाॅजिटिव मरीजाें के घर तक ले जाने की ड्यूटी करते हुए संक्रमित हुए। वे हमारे काेराेना वाॅरियर्स है। सब लाेग पूरी मदद कर रहे हैं।

भरोसा दिलाया-सब उनके साथ हैं 

ये हैं सुविध विहार निवासी राजेंद्र मीणा। 12 मई काे इनकी रिपोर्ट पाॅजिटिव आई, ताे इन्हें घर पर ही क्वारेंटाइन कर दिया गया। पड़ाेसियाें काे पता चला तो सबने उन्हें भराेसा दिलाया कि वे सब उनके साथ हैं। सभी उनकी भरपूर मदद भी कर रहे हैं। डॉक्टरों ने मीणा को दवाइयां दीं और सुबह से लेकर शाम तक की दिनचर्या बता दी। मीणा सुबह-शाम याेग करते हैं। काढ़ा पीते हैं और वक्त पर दवाइयां लेते हैं। 

नफरत नहीं, प्यार की जरूरत  
महेशचंद्र विश्वकर्मा, अध्यक्ष, सुविध विहार रेसिडेंस एसाेसिएशन के मुताबिक, पीड़ित काे नफरत नहीं प्यार और सहयाेग की जरूरत हाेती है। हमारी काॅलाेनी वाले इस बात काे समझते हैं।  इसी का परिणाम है कि सब लाेग अपने स्तर पर राजेंद्र मीणा का सहयाेग कर रहे हैं।

केक काटकर बढ़ाया था उत्साह

आदित्य एवेन्यू में रहने वाले सुरेश गिरधानी और सुनील दुबे की कोरोना रिपोर्ट 12 मई काे पाॅजिटिव आई। उन्हें काॅलाेनी के ही एक खाली मकान में क्वारेंटाइन किया गया। 18 मई को रिपोर्ट निगेटिव आई तो काॅलाेनीवासियों ने साेशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए केेक काटकर हाैसला बढ़ाया।

अकेला महसूस न होने दिया
संदीप गाेधा, अध्यक्ष, आदित्य एवेन्यू साेसायटी के मुताबिक, काेराेना मरीज काे सहयाेग की जरूरत हाेती है, इसी काे ध्यान रखते हुए हम उनसे लगातार संपर्क बनाए हुए थे। दोनों अब भी क्वारेंटाइन हैं, हम उनके साथ हैं।-

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना