बड़ी दिक्कत:विश्वस्तरीय RKMP स्टेशन के बाहर शताब्दी और जनशताब्दी के दौरान रोज ट्रैफिक जाम

भोपालएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रबंधन का दावा- एक हफ्ते में दूर कर दिए जाएंगे एंट्री और एग्जिट की पॉइंट। - Dainik Bhaskar
प्रबंधन का दावा- एक हफ्ते में दूर कर दिए जाएंगे एंट्री और एग्जिट की पॉइंट।
  • प्लेटफॉर्म नंबर 1 की ओर एंट्री और एग्जिट गेट नजदीक हाेने से परेशानी

नई दिल्ली शताब्दी और जबलपुर जनशताब्दी के आने के दौरान रानी कमलापति रेलवे स्टेशन(RKMP) के प्लेटफॉर्म नंबर-1 की ओर स्टेशन परिसर और बाहर सड़क पर ट्रैफिक जाम के हालात बन रहे हैं। इसका मुख्य कारण एंट्री और एग्जिट गेट का एक-दूसरे के नजदीक होना है। साथ में बाहर की तरफ सड़क पर चल रहा मेट्रो का काम भी इसकी एक वजह है।

डेवलपर कंपनी बंसल-हबीबगंज पाथ-वे प्राइवेट लिमिटेड के चीफ प्रोजेक्ट मैनेजर अबू आसिफ का कहना है कि एंट्री और एग्जिट गेट को अगले सप्ताह तक दूर-दूर कर दिया जाएगा। इसके लिए नई बिल्डिंग के सामने काम चल रहा है। वहां से एग्जिट हो जाएगी और एंट्री पुरानी बिल्डिंग के सामने से जारी रहेगी।

गौरतलब है कि पीएम मोदी के आगमन के समय नई बिल्डिंग के सामने एक गेट बनाया गया था। उनके कार्यक्रम के बाद उसे बंद कर दिया गया है। इस गेट को एग्जिट के रूप में उपयोग करने की तैयारी कंपनी ने कर रखी है। वहां पर भी बूम बैरियर लगने के बाद ही उस गेट को खोला जा सकेगा। इसके बाद एंट्री गेट और एग्जिट, दोनों दूर-दूर हो जाएंगे और स्टेशन के भीतर से निकलने वाले वाहनों का आवागमन व्यवस्थित हो जाएगा।

पुरानी बिल्डिंग में बोर्ड लगाए नहीं खुलेगा गेट, एयर कॉन्कोर्स से जाएं

इधर, स्टेशन प्रबंधन की ओर से पुरानी बिल्डिंग में प्लेटफॉर्म नंबर-1 की तरफ मौजूद गेट से एंट्री और एग्जिट पूरी तरह बंद कर दी गई है। इससे उन यात्रियों को समस्या हो रही है, जो किसी भी ट्रेन से वहां मौजूद दोनों गेट के सामने आने वाले कोचों में आते हैं।

उन्हें वापस पीछे की तरफ जाकर सब-वे से बाहर निकलना पड़ता है। लेकिन कंपनी ने डिजाइन का हवाला देते हुए गेट बंद कर उन पर दोनों ओर इस बात की सूचना लिखवा दी है कि एंट्री और एग्जिट नई बिल्डिंग से ही होगा। एंट्री करने के लिए यात्रियों को एयर कॉन्कोर्स पर पहुंचना होगा और ट्रेन आने के दौरान वे संबंधित प्लेटफॉर्म पर एस्केलेटर, लिफ्ट व ट्रेवलेटर से उतर सकेंगे। इसी तरह जो यात्री प्लेटफॉर्म पर आएंगे, उन्हें नई बिल्डिंग में ही दोनों छोर पर बनाए गए सब-वे से बाहर निकलना होगा।

पुरानी बिल्डिंग में रहेगा रिजर्वेशन ऑफिस

रिजर्वेशन ऑफिस प्लेटफॉर्म नंबर 1 की ओर पुरानी बिल्डिंग में ही फर्स्ट फ्लोर पर मौजूद है। फिलहाल यह ऑफिस वहीं रहेगा और उसे नई बिल्डिंग में शिफ्ट नहीं किया जा रहा है। प्रबंधन ने नई बिल्डिंग में जनरल टिकट काउंटर को ही शिफ्ट किया है। रिजर्वेशन आफिस में पहुंचने का रास्ता भी प्रबंधन ने दे रखा है।

दिक्कत ये भी- बोर्ड लगाए पर साइनेज अब भी कम ही

पुरानी बिल्डिंग के बाहर से लेकर भीतर तक एंट्री गेट व अन्य स्थानों पर आने-जाने संबंधी सूचना बोर्ड तो लगा दिए गए हैं लेकिन नई बिल्डिंग के सामने व भीतर की तरफ साइनेज की कमी के चलते यात्रियों को काफी परेशान होना पड़ रहा है। कई यात्री पुरानी बिल्डिंग में एसबीआई एटीएम की साइड से या अन्य जगह से भीतर जाने की जानकारी लेते नजर आ रहे हैं।

खबरें और भी हैं...