• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Day Temperature 37 Degrees In Gwalior Hoshangabad, Mercury At 33 34 Degrees In Bhopal; Cold Entry Possible After October 15

MP से मानसून की विदाई के बाद गर्मी बढ़ी:ग्वालियर-होशंगाबाद में दिन का तापमान 37 डिग्री, भोपाल में 33-34 डिग्री पर पारा; 15 अक्टूबर के बाद ठंड की एंट्री संभव

मध्यप्रदेशएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भोपाल में बुधवार को ऐसा है मौसम। - Dainik Bhaskar
भोपाल में बुधवार को ऐसा है मौसम।

MP में मानसून की विदाई के बाद गर्मी बढ़ गई है। कई जिलों में दिन का तापमान 35 डिग्री सेल्सियस के आसपास है। ग्वालियर और होशंगाबाद में 37 डिग्री पर तापमान पहुंच गया है। वहीं, भोपाल में 33 से 34 डिग्री के बीच तापमान चल रहा है। सबसे ज्यादा परेशानी तेज धूप ने बढ़ा रखी है। हालांकि, मौसम वैज्ञानिक 15 अक्टूबर के बाद ठंड की एंट्री होने की बात कह रहे हैं। इससे गर्मी से कुछ राहत मिल सकती है।

पिछले 24 घंटे में इंदौर संभाग के कुछ जिलों में हल्की बूंदाबांदी हुई। वहीं, ग्वालियर व होशंगाबाद में दिन का तापमान 37 डिग्री दर्ज किया गया। सबसे कम तापमान मंडला में 16 डिग्री सेल्सियस रहा। अगले 24 घंटे में प्रदेशभर में मौसम शुष्क रहेगा।

गर्मी ने परेशान किया

मध्यप्रदेश में मानसून की विदाई के साथ ही दिन और रात का पारा लोगों को अक्टूबर में मई जैसी गर्मी का एहसास करा रही है। सबसे ज्यादा ग्वालियर में तापमान बढ़ा हुआ है। यहां 38 डिग्री सेल्सियस तक तापमान पहुंच चुका है। प्रदेश के अधिकांश इलाकों में दिन का पारा 35 के आसपास बना हुआ है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार बादल छटने और सूरज की किरणें सीधी धरती पर पड़ने के कारण गर्मी बढ़ी है। अक्टूबर में सामान्यत: दिन में तेज धूप और रात को ठंडक होती है। अभी की स्थिति में 15 अक्टूबर के बाद पारा नीचे आना शुरू होगा। इसके बाद ठंड की एंट्री होगी।

इन तारीखों में हो चुकी मानसून की वापसी

  • 8 अक्टूबर को ग्वालियर, मुरैना, श्योपुर और नीमच से मानसून की विदाई हुई। विदा होने की सामान्य तारीख 30 सितंबर है। इस हिसाब से अबकी बार 8 दिन की देरी से मानसून ने वापसी की है।
  • 9 अक्टूबर को भोपाल, सागर, रीवा और शहडोल संभाग के सभी जिलों से विदाई हो गई। वहीं भिंड, दतिया, शिवपुरी, अशोकनगर, गुना, मंदसौर, उज्जैन, रतलाम, झाबुआ, धार, इंदौर, आगर, देवास, शाजापुर, होशंगाबाद, नरसिंहपुर, जबलपुर, मंडला और डिंडोरी जिलों से भी वापसी हुई। यहां 4 दिन की देरी से मानसून ने विदाई ली है। अमूमन 5 अक्टूबर को मानसून की वापसी हो जाती है।
  • 11 अक्टूबर को छिंदवाड़ा, सिवनी और बालाघाट जिलों से 5 दिन बाद मानसून की विदाई हुई।
  • 12 अक्टूबर को अलीराजपुर, बड़वानी, खरगोन, खंडवा, बुरहानपुर, हरदा और बैतूल से 7 दिन के विलंब से मानसून विदा हुआ।
खबरें और भी हैं...