• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Delay In Laying Kolar Line, 50 Lakh Deducted From Tata's Bill; Maintenance Work Also Taken Away

नई एजेंसी की तलाश:कोलार लाइन बिछाने में देरी, टाटा के बिल से 50 लाख की कटौती; मेंटेनेंस का काम भी छीना

भोपाल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • मेंटेनेंस के लिए नई एजेंसी की तलाश, हर साल बचेंगे 50 लाख
  • मई में पानी सप्लाई शुरू, कुछ काम अभी भी बाकी

कोलार पाइप लाइन बिछाने में हुई देरी के कारण नगर निगम टाटा प्रोजेक्ट्स के बिल में से 50 लाख की कटौती करने के साथ ही लाइन के मेंटेनेंस का काम भी वापस लेगा। 2017 में जब टाटा को काम दिया गया था तब उसमें लाइन बिछाने के साथ 5 साल का मेंटेनेंस भी करना था।

टेंडर की शर्त के अनुसार इस मेंटेनस की एवज में निगम टाटा को हर साल 1 करोड़ रुपए का भुगतान करता, लेकिन अब नई एजेंसी की तलाश है। अनुमान है कि अब 50 लाख में मेंटेनेंस का काम हो जाएगा।

मई में पानी सप्लाई शुरू, कुछ काम अभी भी बाकी

कोलार की नई पाइप लाइन से मई में सप्लाई शुरू हो गई है, लेकिन अभी कुछ काम बाकी हैं। पिछले दिनों टाटा के कामकाज की समीक्षा के दौरान सामने आया कि टाटा को अभी 8 करोड़ रुपए का पेमेंट होना है। निगम कमिश्नर वीएस चौधरी कोलसानी ने इसमें से 5 करोड़ के बिल पर 50 लाख रुपए कटौती करने के निर्देश दिए। अभी 3 करोड़ रुपए का अंतिम बिल पेश होने पर उसमें भी कटौती की जा सकती है।

मेंटेनेंस के लिए टाटा पर निर्भर नहीं रह सकते। नई एजेंसी के लिए टेंडर जारी किया है। काम में देरी के लिए 50 लाख कटौती की हैं।

-वीएस चौधरी कोलसानी, कमिश्नर, ननि

दोनों ही मुद्दों पर अभी निगम ने अधिकृत रूप से कोई सूचना नहीं दी है। जानकारी मिलने के बाद प्रबंधन स्तर पर निर्णय लिया जाएगा।

-संतोष तिवारी, प्रोजेक्ट मैनेजर, टाटा प्रोजेक्ट्स

खबरें और भी हैं...