• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Demand For Mask sanitizer Increased By 200% In Bhopal, People Are Also Buying Gadgets Like Pulse Oximeter digital Thermometer

भरपूर है दवा और गैजेट्स का स्टॉक:भोपाल में मास्क-सैनिटाइजर की डिमांड 200% तक बढ़ी, पल्स ऑक्सीमीटर-डिजिटल थर्मामीटर जैसे गैजेट्स भी खरीद रहे लोग

भोपाल7 महीने पहले

राजधानी भोपाल में कोरोना ने चिंता बढ़ा दी है। जनवरी में ही कोरोना के केस 2500% तक बढ़ चुके हैं। कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए लोग मास्क-सैनिटाइजर या उन गैजेट्स को खरीद रहे हैं, जो जरूरी है। इसके चलते ही शहर के थोक दवा बाजार और मेडिकल स्टोर्स पर नवंबर-दिसंबर के मुकाबले में जनवरी में मास्क-सैनिटाइजर की डिमांड 200% तक बढ़ गई है। लोग पल्स ऑक्सीमीटर, डिजिटल थर्मामीटर जैसे गैजेट्स भी खरीद रहे हैं। अच्छी बात ये है कि मेडिकल स्टोर्स पर गैजेट्स और दवाइयों का भरपूर स्टॉक है।

भोपाल में 3 हजार से ज्यादा थोक दवा दुकानें और मेडिकल स्टोर्स हैं। दवा व्यापारियों का कहना है कि तीसरी लहर में बढ़ते संक्रमण के चलते वे सभी गैजेट्स मौजूद हैं, जो जरूरत पड़ने पर काम आते हैं। हालांकि, दूसरी लहर के दौरान अधिकांश लोगों ने ये गैजेट्स खरीद लिए थे, लेकिन अभी भी अच्छी बिक्री हो रही है। थोक दवा व्यापारी सुनील गुप्ता ने बताया, कफ-कोल्ड और फिवर की मेडिसिन की डिमांड 50% तक बढ़ गई है। ट्रिपल लेयर और N95 मास्क भी लोग खरीद रहे हैं।

थोक दवा व्यापारी गिरीश दयारामानी ने बताया, कोरोना की थर्ड वेव के चलते फेस मास्क, सैनिटाइजर के साथ पल्स ऑक्सीमीटर की डिमांड बढ़ी है। भांप लेने के लिए वेपोराइजर भी खरीद रहे हैं।

पहले से स्टॉक जमा

सेकेंड वेव के दौरान पल्स ऑक्सीमीटर, वेपोराइजर की कमी हो गई थी। इसके चलते कई मेडिकल स्टोर्स पर ये दोगुनी-तीन गुनी कीमत पर बेचे गए थे। इस बार ऐसी स्थिति नहीं है। दवा व्यापारी सुनील गुप्ता ने बताया, मेडिसिन के साथ गैजेट्स का भी भरपूर स्टॉक है। इससे लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है।

ऐसे बढ़ी डिमांड

भोपाल में नवंबर-दिसंबर में कोरोना केस बहुत कम थे। 31 दिसंबर को 31 केस मिले थे, जो 15 जनवरी को 1175 हो गए हैं। इसके चलते ही मास्क, सैनिटाइजर समेत अन्य गैजेट्स की डिमांड बढ़ गई है। पहले एक मेडिकल स्टोर्स पर 100 मास्क भी नहीं बिक रहे थे, लेकिन एवरेज 200 से 300 मास्क तक रोज बिक रहे हैं। कोरोना के अलावा जुर्माने से बचने के लिए भी लोग मास्क खरीद रहे हैं।

होम आइसोलेट संक्रमितों के लिए जरूरी गैजेट्स

होम आइसोलेशन में रहने वाले संक्रमितों को डॉक्टर भी सलाह दे रहे हैं कि वे ऑक्सीमीटर-डिजिटल थर्मामीटर जैसे गैजेट्स रखें। 15 जनवरी तक की स्थिति में राजधानी में कुल 5 हजार 623 एक्टिव केस हैं। इनमें 5482 संक्रमित होम आइसोलेट है।

ये गैजेट्स भी खरीदे जा रहे

  • वेपोराइजर : कोरोना वायरस से बचाव के लिए डॉक्टर भी भांप लेने की सलाह दे रहे हैं। इसके चलते भोपाल में वेपोराइजर की डिमांड बढ़ी है।
  • UV स्टरलाइजर : कोविड महामारी के दौरान घर पर होने वाले सबसे जरूरी गैजेट्स में से एक है। UV स्टरलाइजर घर की हवा में फैले बैक्टीरिया को साफ करने में मदद करता है। इसके साथ UV लाइट सैनेटाइजर बॉक्स स्मार्टफोन, गॉगल, ईयरबड्स, ईयरफोन, नोट या दूसरे छोटे आइटम को सैनेटाइज करने के काम में आता है।
  • पल्स ऑक्सीमीटर : यह भी उन जरूरी गैजेट्स का हिस्सा है जिसकी डिमांड कोविड महामारी ने बढ़ाई है। संक्रमित लोगों के ब्लड में ऑक्सीजन (SpO2) लेवल कम होने लगता है। इस बात का पता पल्स ऑक्सीमीटर से लगाया जा सकता है। होम आइसोलेशन में रहने वाले संक्रमितों के लिए यह सबसे खास गैजेट है।
  • बीपी मशीन : संक्रमितों को ब्लड प्रेशर की प्रॉब्लम भी होती है। ऐसे में घर पर बीपी मशीन का होना भी जरूरी हो जाता है। बाजार में अब बीपी चेक करने की इलेक्ट्रॉनिक मशीन मिलती हैं, जो ऑटोमैटिक बीपी को मेजर करती हैं। इसकी मदद से आम दिनों में भी अपना बीपी भी चेक कर सकते हैं।
  • डिजिटल थर्मामीटर : इसकी डिमांड भी भोपाल में है। इसके जरिए लोग फिवर के बारे में पता लगा रहे हैं।
खबरें और भी हैं...