घुटने तोड़ राजनीति से लेकर रामधुन तक:दिग्विजय ने कहा- भाजपा वाले कायर; रामेश्वर शर्मा का पलटवार बोले- गांधीवादी होने का ढोंग न रचें

भोपाल9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दिग्विजय सिंह ने चुनौती दी कि ...मैं आऊंगा, तुम घुटने तोड़कर दिखाओ... अहिंसा से जवाब दूंगा, उनके घर जाकर 1 घंटे तक रामधुन करुंगा। इसके बाद विधायक शर्मा ने भी कहा- आइए, मैं आपको रामचरित मानस भेंट करुंगा। - Dainik Bhaskar
दिग्विजय सिंह ने चुनौती दी कि ...मैं आऊंगा, तुम घुटने तोड़कर दिखाओ... अहिंसा से जवाब दूंगा, उनके घर जाकर 1 घंटे तक रामधुन करुंगा। इसके बाद विधायक शर्मा ने भी कहा- आइए, मैं आपको रामचरित मानस भेंट करुंगा।

हुजूर से भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा ने कलखेड़ा में विवादित बयान दिया था कि कांग्रेस का कोई आए तो उसके घुटने तोड़ दो...बस यहीं से चुनौती और पलटवार का दौर शुरू हुआ। पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने चुनौती दी कि ...मैं आऊंगा, तुम घुटने तोड़कर दिखाओ... अहिंसा से जवाब दूंगा, उनके घर जाकर 1 घंटे तक रामधुन करुंगा। इसके बाद विधायक शर्मा ने भी कहा- आइए, मैं आपको रामचरित मानस भेंट करुंगा। बुधवार को मिंटो हॉल से विधायक शर्मा के बंगले का घेराव करने कांग्रेसी निकले...।

यह हिंसा पर अहिंसा की जीत है

पहले आमंत्रण देते हैं, फिर पुलिस को आगे कर देते हैं। यह भाजपा है, उनमें साहस नहीं है। धौंस दपट करते हैं। पुलिस बुलाते हैं, बैरिकेड लगवाते हैं, भाजपा वाले कायर हैं। हे भाजपाईयों, हे साथियों हमारे साथ बैठकर रामधुन गाओ। भारतीय संविधान का पालन कर सभी धर्मों का सम्मान करो। ये हिंसा पर अहिंसा की जीत है। -दिग्विजय सिंह

रामधुन गाने के लिए बैठे हैं, वो आए नहीं

दिग्विजय गांधीवादी होेने का ढोंग रच रहे हैं। वे मुलताई में 24 बेकसूर किसानों पर गोली चलवाने से लेकर भोपाल में सड़क, पानी, बिजली के लिए आंदोलन करने पर लाठियों से पिटवाते थे। राम मंदिर बनाने में बाधक बनने, हिंदुत्व को आतंकवाद से जोड़ने और बालाकोट स्ट्राइक पर सवाल उठाते हैं। हम तो सिंह के साथ जयश्री रामधुन गाने के लिए तैयार बैठे थे, लेकिन वे तो घर नहीं आए। -रामेश्वर शर्मा

5 रास्ते 3 घंटे रहे बंद, 50 हजार से ज्यादा लोग हुए परेशान

  • सुबह 11.56 बजे - दिग्विजय सिंह कार्यकर्ताओं के हुजूम के साथ मिंटो हॉल स्थित गांधी प्रतिमा पर पहुंचे।
  • दोपहर 12.05 बजे - कार्यकर्ताओं को समझाया कि विरोध पूरी तरह अहिंसावादी तरीके से किया जाएगा। पुलिस-प्रशासन जहां रोके वहीं बैठकर रामधुन शुरू कर दें। किसी भी तरह की हिंसा नहीं की जाएगी।
  • 12.25 बजे - सभी कार्यकर्ता और नेता मिंटो हॉल पार्क से रामेश्वर शर्मा के बंगले का घेराव करने निकले।
  • 12.40 बजे - कार्यकर्ता राजभवन तिराहे से रोशनपुरा की ओर बढ़े तो अरेरा हिल्स थाने के सामने बेरिकैड्स लगे मिले। ऐसे में कार्यकर्ता यहीं बैठ गए।
  • 12.55 बजे - सिंह ने राजभवन तिराहे पर सड़क पर बैठकर कार्यकर्ताओं के साथ माइक पर रामधुन गाई।
  • 1.05 बजे - सिंह कार्यकर्ताओं के साथ आगे बढ़े और बेरिकैड्स के पास पहुंचे। यहां 20 मिनट तक रामधुन गाई।
  • 1.30 बजे - दिग्विजय सिंह कार्यक्रम स्थल से रवाना हुए और विराेध प्रदर्शन भी खत्म हो गया।
  • 2.02 बजे - पुलिस ने बेरिकैड खोले।

दूसरी ओर विधायक शर्मा के बंगले पर रामधुन, भजन और भंडारा चलता रहा। सिंह के रामेश्वर का नमक नहीं खाने वाले बयान पर शर्मा ने कहा कि उनकी नमक की फैक्ट्री नहीं है। यह हलुवा- पूड़ी तो श्रीरामधुन का प्रसाद था।

ये रास्ते सुबह 11 से 2:15 बजे तक रहे बंद

  • रोशनपुरा चौराहे से राजभवन
  • विधायक रामेश्वर शर्मा के बंगले वाली रोड के दोनों ओर
  • पुलिस कंट्रोल रूम से राजभवन
  • छोटे तालाब राजभवन की ओर
  • मालवीय नगर समेत इन रास्तों के बंद होने से 50 हजार से ज्यादा वाहन चालक परेशान हुए।
खबरें और भी हैं...