• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Digvijay Singh Said Scholarship Issuing Officer Is Asking For 10% Bribe; This Process Is From Mamu To Small Mamu Of BJP Gathered In The Village; We Have To Fight Them

पूर्व CM का भाजपा पर गंभीर आरोप:दिग्विजय सिंह बोले - छात्रवृत्ति जारी करने अधिकारी 10% रिश्वत मांग रहा; यह प्रक्रिया मामू से लेकर गांव में छोटे मामू तक; हमें इनसे लड़ना है

भोपाल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह। - Dainik Bhaskar
पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह।

बढ़ती महंगाई, छात्रवृत्ति एवं बेरोजगारी जैसी समस्याओं को लेकर सतना से NSUI कार्यकर्ताओं की छात्र आक्रोश साइकिल यात्रा के समापन पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी मुख्यालय पर बुधवार को समापन कार्यक्रम हुआ। कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह शामिल हुए। उन्होंने रैली में शामिल युवाओं को बधाई देते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का नाम लिए बगैर निशाना साधा।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं 6 तारीख को राजगढ़ जा रहा हूं। राजगढ़ में में कलेक्टर का घेराव किया जाएगा। हम अनुसूचित जाति और पिछड़ा वर्ग के छात्रों को हम इकट्‌ठा कर रहे हैं। राजगढ़ का एक अधिकारी जो कि छात्रवृत्ति बांटता है। वह एक हर छात्रवृत्ति पर 10 % की रिश्वत मांग रहा है। यह 10 % मांगने की प्रक्रिया मामू से लेकर गांव-गावं में भाजपा के एकत्रित छोटे छोटे मामू तक है। हमें उनके खिलाफ लड़ाई लड़नी पड़ेगी।

पीसीसी मुख्यालय में युवा आक्रोश साइकिल यात्रा समापन कार्यक्रम में अतिथि
पीसीसी मुख्यालय में युवा आक्रोश साइकिल यात्रा समापन कार्यक्रम में अतिथि

पूर्व मुख्यमंत्री ने सतना से भोपाल तक 500 किमी साइकिल चलाकर पहुंचे NSUI के प्रदेश सचिव शुभम साहू और उनकी टीम की सराहना की। शुभम साहू ने बताया कि हमारी साइकिल यात्रा 15 सितंबर को शुरू हुई। जो 29 सितंबर को भोपाल में समाप्त हुई।

छात्रा आक्रोश साइकिल यात्रा का उद्देश्य रुकी हुई छात्रवृत्ति, महंगाई, बेरोजगारी को लेकर छात्रों का आक्रोश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भोपाल आकर बताना था। दो साल से छात्रवृत्ति नहीं मिलने से कई युवाओं की पढ़ाई छूट गई। महंगाई और बेरोजगारों ने उनको कहीं का नहीं छोड़ा है। इसके बावजूद सरकार की नींद नहीं टूट रही है। इस कार्यक्रम में पूर्व मंत्री पीसी शर्मा, सतना विधायक सिद्धार्थ कुशवाहा भी मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...