पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Digvijay Singh Shared The Photo Of Black Marketing Of Remedesvir Injection With CM And Asked Shivraj Ji, You Know This 'male Vampire' Akash Dubey, Don't You? See What Action You Take

रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वाले का CM के साथ फोटो!:दिग्विजय सिंह ने फोटो शेयर कर पूछा- शिवराजजी आप इस ‘नर पिशाच’ आकाश दुबे को जानते हैं ना?

भोपालएक महीने पहले
पूर्व मुख्यमंत्री दिग्वियज सिंह ने मुख्यमंत्री ने शिवराज सिंह पर इंजेक्शन की कालाबाजारी के आरोपियों के साथ फोटो शेयर कर साधा निशाना

कोरोना संक्रमण काल में दवाओं की कालाबाजारी करने वालों के नेताओं से कनेक्शन पर राजनीति भी तेज हो गई है। रविवार को पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने भोपाल में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कलाबाजारी करते पकड़ाए एक आरोपी का मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ फोटो शेयर किया है। इसके साथ ही दिग्विजय सिंह ने लिखा है कि जबलपुर “नर पिशाच” के बाद एक और “नर पिशाच” आकाश दुबे को पहचानते हैं ना? देखते हैं आप क्या कार्रवाई करते हैं?

इसके साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री ने लिखा कि क्या अंकित सलूजा और दिलप्रीत सलूजा पुत्र गुरबचन सिंह भी भाजपा से ही जुड़े है‌ं? भोपाल में दोनों “नर पिशाच” इंजेक्शन की कालाबाजारी में पकड़े गए?

पूर्व सीएम ने फोटो शेयर करके ट्वीट किया।
पूर्व सीएम ने फोटो शेयर करके ट्वीट किया।

यह है मामला

भोपाल के जेके अस्पताल में कोविड केयर सेंटर के कर्मचारी और मैनेजर रेमडेसिवीर इंजेक्शन चोरी कर बाहर बेच रहे थे। पुलिस ने इस मामले में जेके अस्पताल के आईटी विभाग के मैनेजर आकाश दुबे सहित चार आरोपियों के खिलाफ रासुका के तहत केस दर्ज किया है।

इस मामले में पुलिस ने एमपी नगर में इंदौर सीट कवर नाम से दुकान चलाने वाले दिलप्रीत उर्फ नानू सलूजा, उसके भाई अंकित सलूजा एवं ग्रीन मेडोज कॉलोनी में रहने वाले मेडिकल स्टोर संचालक आकर्ष सक्सेना को 5 इंजेक्शन के साथ रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। इनको मैनेजर आकाश ने अस्पताल से रेमडेसिवीर इंजेक्शन चोरी कर 16 हजार रुपए में बेचे थे।

कांग्रेस नेता स्वयं देते है कालाबाजारियों को संरक्षण

चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग बोले किसकी फोटो किसके साथ इस पर बहुत टिप्पणी नहीं की जा सकती। परंतु कार्रवाई शिवराज सरकार ने ही की है। दिग्विजय सिंह और कांग्रेस नेता तो स्वयं काला बाजारियों को संरक्षण देते है। और समाज में कौन व्यक्ति किस नेता के साथ फोटो खिंचा लेगा। इसकी जिम्मेदार कोई नहीं ले सकता। लेकिन यदि कोई गलत काम करता है तो उस पर कार्रवाई करने की जिम्मेदारी हमारी सरकार लेती है। इसलिए इस तरह से भ्रम पैदा करना सही नहीं है।

खबरें और भी हैं...