• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Dispute Between Additional SP And Three Constables Over Car Collision, All Were In Civil Dress, FIR Registered At TT Nagar Police Station

भोपाल में भड़के कॉन्स्टेबल, अफसर को पीटा:बैरिकेड्स हटाने उतरे ASP से 3 सिपाहियों की हुई तकरार, बात बढ़ी तो दांत से काटा, पत्नी को भी धक्का मारा; FIR दर्ज

भोपाल7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • फरियादी पुलिस अफसर और तीनों आरोपी कॉन्स्टेबल सिविल ड्रेस में थे

भोपाल में सिविल ड्रेस में घूम रहे 3 सिपाहियों ने ASP बीएम शाक्य से मारपीट की, उनको चांटे मारे और दांत से भी काटा। बीच-बचाव करने आई उनकी पत्नी को भी धक्का देकर गिरा दिया। ASP भी सिविल ड्रेस में ही थे। घटना सड़क पर रखे बैरिकेड्‌स हटाने के दौरान हुआ।

रविवार देर रात सड़क पर जगह कम होने से एडिशनल SP बैरिकेड्स सरका रहे थे। इसी बीच तेज रफ्तार में सिपाहियों की कार आई। कार से ASP को हल्की सी टक्कर लग गई। ASP ने सलीके से गाड़ी चलाने की हिदायत दी, तो तीनों सिपाही बिफर गए। तीनों नशे में थे।

TT नगर पुलिस ने एडिशनल SP की शिकायत पर तीनों आरोपी कॉन्स्टेबल विनोद पाराशर (ट्रैफिक), अनिल जाट (DRP) और 25वीं बटॉलियन के SAF अवधेश चौधरी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। इनमें से अनिल पहले से निलंबित चल रहे हैं।

रात करीब 11:40 बजे की है घटना

पुलिस के अनुसार ASP बीएम शाक्य रेडियो कॉलोनी में परिवार के साथ रहते हैं। वह डायल 100 मुख्यालय के वर्क शॉप शाखा में पदस्थ हैं। रिपोर्ट के अनुसार रात करीब 11.40 बजे वह अपने साढ़ू के घर से वर्धमान सिटी से परिवार के साथ सरकारी गाड़ी (एमपी03ए4419) से घर लौट रहे थे।

देसी शराब दुकान के सामने डिपो चौराहे पर बैरिकेड्स रखे हैं। जगह कम होने से ASP खुद उतरे और इन्हें सरकाने लगे। उसी समय भदभदा रोड की तरफ से नीले रंग की कार (एमपी 04 सीएस 3010) तेज रफ्तार से आई और उनसे हल्की छू गई। ASP ने ड्राइवर की तरफ देखते हुए उसे सलीके से गाड़ी चलाने के लिए कहा।

इस पर अंदर बैठे तीनों सिपाहियों ने बदसलूकी शुरू कर दी और धमकी दी। विवाद बढ़ा, तो नशे में धुत तीनों सिपाहियों ने ASP से झूमाझटकी शुरू कर दी। एक ने हाथ की उंगली में दांत से काट लिया। दूसरे ने चांटे मारे। तीसरे ने कंधे पर हमला किया।

शाक्य की पत्नी ने गाड़ी में उतरकर बीच-बचाव की कोशिश की, तो उनका भी हाथ पकड़कर धक्का मार दिया। शाक्य ने बताया कि जब तक वह परिचय देते, वे लोग यह कहते हुए निकल गए कि तुम मेरा कुछ नहीं बिगाड़ पाओगे। अगली बार हमसे उलझोगे, तो जान से मार देंगे। इसके बाद गाड़ी लेकर भदभदा रोड की ओर वापस चले गए।

3 में से एक आरक्षक है सस्पेंड

पुलिस के अनुसार 3 कॉन्स्टेबल में से एक विनोद पराशर ट्रैफिक पुलिस में है, जबकि दूसरा अनिल जाट जिला पुलिस बल में है। वह अभी सस्पेंड चल रहा है। तीसरा सिपाही अवधेश चौधरी 25वीं बटालियन SAF में तैनात है। तीनों दोस्त हैं। कॉन्स्टेबल विनोद पराशर छुट्‌टी पर घर जा रहा था। उसे छोड़ने के लिए अनिल और अवधेश साथ जा रहे थे। विनोद और अनिल नेहरू नगर पुलिस लाइन में रहते हैं। पुलिस ने बताया, आरोपी अनिल जाट को 2019 में देह व्यापार के एक रेड में पकड़ा गया था। टीम ने कोलार में एक स्पा से 23 आरोपियों को पकड़ा था। इसमें एक आरोपी अनिल था। उसके बाद से वह सस्पेंड है।