आरोप- प्रदेश में फार्मेसी एक्ट की हो रही अनदेखी:फार्मासिस्ट की देखरेख में हो कोविड वैक्सीन का वितरण

भोपाल6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

स्टेट फार्मासिस्ट एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजकर मांग की है कि कोविड वैक्सीन का वितरण एवं भंडारण फार्मासिस्ट की देखरेख में होना चाहिए। संगठन के प्रदेश अध्यक्ष राजन नायर द्वारा सीएम को भेजे गए ज्ञापन में कहा गया है कि कोरोना से जुड़े इंजेक्शन और दवाओं की कालाबाजारी रोकने के लिए फार्मासिस्ट का सहयोग लिया जाए। वैक्सीन के वितरण एवं भंडारण से फार्मासिस्ट को दूर रखा गया है।

जो लोग वैक्सीन का वितरण एवं भंडारण कर रहे हैं उन्हें कोविड-19 की डोज तक की सही जानकारी नहीं है। फार्मेसी एक्ट 1948 ड्रग एंड कॉस्मेटिक एक्ट 1948 के तहत दवा का वितरण और भंडारण रजिस्टर्ड फार्मासिस्ट ही कर सकता है। यदि कोई अन्य व्यक्ति दवाओं का वितरण या भंडारण करेगा तो उसको छह माह की सजा या ₹1000 का जुर्माना या दोनों होने का प्रावधान है। इसके बावजूद प्रदेश में फार्मेसी एक्ट की अनदेखी की जा रही है।

खबरें और भी हैं...