• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Drove Between Bina Itarsi At A Speed Of 130 180 Kmph; Right Now The Speed Is The Maximum Speed Of 130, Used 65 Times In Bhopal Kota

भोपाल रेलवे में ट्रेन का स्पीड ट्रायल सफल:बीना-इटारसी के बीच 130-180 किमी प्रतिघंटा की गति से चलाई; अभी रफ्तार अधिकतम 130 है, भोपाल-कोटा में 65 बार प्रयोग

भोपाल3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भोपाल के इटारसी और बीना के बीच अगर 180 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से ट्रेन चलती है, तो आधे घंटे तक की बचत होगी।- प्रतीकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
भोपाल के इटारसी और बीना के बीच अगर 180 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से ट्रेन चलती है, तो आधे घंटे तक की बचत होगी।- प्रतीकात्मक फोटो

भोपाल के बीना और इटारसी के बीच ट्रेन 130 से 180 किमी प्रतिघंटा की स्पीड से चल सकती है। इसके लिए अनुसंधान अभिकल्प और मानक संगठन (RDSO) ने भोपाल और कोटा मंडलों पर अधिकतम 180 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड बैंड में हाई स्पीड पर ट्रायल किया है। भोपाल के इटारसी-भोपाल और भोपाल-बीना सेक्शन और कोटा मंडल के कोटा-नागदा और कोटा-मथुरा सेक्शन शामिल रहे। RDSO द्वारा पश्चिम मध्य रेल पर वर्ष 2020-21 में 65 बार में कुल 8 हजार 900 किलोमीटर का ऑसिलेशन ट्रायल चलाया गया। अगर ट्रेनों की स्पीड बढ़ाई जाती है, तो यात्रियों के आधे घंटे तक के समय की बचत होगी।

इस कारण टेस्ट किया गया

ट्रेक की क्षमता को लेकर RDSO टेस्ट किया है। इसमें रेलवे ट्रेक के एक-एक पांइट को जांच जाती है। स्पीड के दौरान ट्रेक की क्षमता के साथ ही उसमें आने वाली दिक्कतों को भी परखा जाता है। चयनित खंडों को उच्च स्तर पर चेक किया जाता है। इसमें जैसे ट्रैक, पुल, सिग्नलिंग, ओएचई और इससे संबद्ध संपत्तियों का मेंटेनेंस किस तरह किया गया है।

स्पीड बढ़ने से कम समय में अधिक दूरी तय होगी

पश्चिम मध्य रेल वर्ष 2020-21 में ऑसिलेशन ट्रायल करने में अग्रणी रेलवे रहा है। आरडीएसओ द्वारा चुने गए ऑसिलेशन ट्रायल भोपाल मंडल के इटारसी-भोपाल और भोपाल-बीना सेक्शन पर हुआ। अभी भोपाल मंडल में अधिकतम 130 किमी प्रतिघंटा तक की रफ्तार से ट्रेन चल रही हैं। अगर इनकी गति 180 किमी प्रतिघंटा हो जाती है, तो इससे इस ट्रेक पर अधिक स्पीड से ट्रेन चलने से लोगों के समय की बचत होगी।

बीना से इटारसी के बीच की दूरी 230 किमी

भोपाल के बीना और इटारसी के बीच की दूरी कुल 230 किमी है। बीना से भोपाल के बीच 138 और भोपाल से इटारसी के बीच 92 किमी का रेलवे ट्रेक है। अगर ट्रेन बिना रुके अधिकतम 130 किमी प्रतिघंटा की गति से चलती है, तो यह दूरी तय करने में करीब पौने दो घंटे लगते हैं। यह स्पीड 180 हो जाती है, तो सवा घंटे में ही दूरी तय हो जाएगी। करीब आधे घंटे का फर्क पड़ सकता है।

इस तरह हुआ ट्रायल

वातानुकूलित तृतीय श्रेणी इकोनॉमी कोच (LWACCNE) के लिए 180 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हाई स्पीड ट्रायल किया गया है। इन परीक्षणों में ट्रेन की गति बढ़ाने से कोचों और ट्रैक के ऑसिलेसन को चेक किया गया। इसमें सभी त्वरण मापदंडों एवं ऑसिलोग्राफ परिणामों को विधिवत रिकॉर्ड किया गया। पश्चिम मध्य रेल वर्ष 2020-21में ऑसिलेशन ट्रायल करने में अग्रणी रेलवे रहा है। इन खंडों में और ऑसिलेशन ट्रायल आयोजित करने और नए लोकोमोटिव और रोलिंग स्टाक की डिजाइन सुविधाओं का परीक्षण करने में पश्चिम मध्य का प्रदर्शन सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन में से एक है।

खबरें और भी हैं...