पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Eco System Will Be Created For Women Entrepreneurs; National Patron Seema Kamble Said The Organization Will Provide New Opportunities For Entrepreneurship To The Women Who Have Completed Their Studies

DICCI महिला विंग की बैठक:महिला उद्यमियों के लिए बनाया जाएगा इको सिस्टम; राष्ट्रीय संरक्षक सीमा कांबले ने कहा- पढ़ाई पूरी कर चुकी महिलाओं को उद्यमिता के नए अवसर प्रदान करेगा संगठन

भोपाल10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बिजनेस फेसिलिटेशन सेंटर में रहेगी महिला उद्यमियों की सक्रिय भूमिका

दलित इंडियन चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (डिक्की) मप्र की महिला विंग महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए उद्यमिता के नए अवसरों को लेकर उनके बीच जाएगी। विभिन्न क्षेत्रों में महिलाओं के लिए उपलब्ध मौजूदा संभावनाओं और केन्द्र-राज्य सरकार की योजनाओं के बारे में उन्हें जागरूक किया जाएगा ताकि वे अपना स्व-रोजगार स्थापित कर सकें। साथ ही अफरमेटिव एक्शन के तहत औद्योगिक इकाइयों के साथ करने के लिए भी महिला विंग एक सेतु का काम करेगी।

डिक्की की महिला विंग की रविवार को हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया। बैठक में एससी-एसटी वर्ग की महिला उद्यमियों ने भाग लिया। सभी महिला उद्यमियों ने एक-दूसरे को अपने बिजनेस के बारे में बताया। इस बैठक में राष्ट्रीय संरक्षक सीमा कांबले ने वर्चुअल रूप से संबोधित किया। उन्होंने कहा कि पढ़ाई पूरी कर चुकी महिलाओं को उद्यमिता के नए अवसर प्रदान किया जाएगा।

कांबले महिला उद्यमियों को अपने नाम और काम को एक ब्रांड के रूप में स्थापित करने की सलाह दी और कहा कि इसके लिए संगठन प्रोत्साहित करेगा। उन्होंने कहा कि तमाम मुश्किलों के बाद भी एक महिला के अंदर जीवन के हर क्षेत्र में खुद को स्थापित करने की क्षमता होती है। उन्हें उद्यमिता का रास्ते दिखाने और हैंड-होल्डिंग का काम किया जाएगा। डिक्की महाराष्ट्र विंग की अध्यक्ष और मुंबई की चित्रा उबाले ने सफल उद्यमी बनने के लिए आवश्यक व्यवहार, कारोबार के दौरान रखी जाने वाले सावधानियों, बैंकिंग एवं फायनेंस और नए आईडियाज पर चर्चा की।

डिक्की मप्र के मेंटोर डॉ. मनोज आर्य और प्रेसिडेंट डॉ. अनिल सिरवैयां ने आगामी दिनों में आने वाले उद्यमिता और स्व-रोजगार के नए अवसरों की जानकारी दी। मप्र महिला विंग की कॉर्डीनेटर अर्चना जाऊरकर ने सभी महिला उद्यमियों से कहा कि डिक्की द्वारा प्रस्तावित उद्योग नीति में महिला उद्यमियों के सुझावों को भी शामिल कर सरकार को अवगत कराया जाएगा। संचालन डॉ. मोनिका जैन ने किया।

बैठक में महिला उद्यमी विजयश्री रंगारे, संध्या आर्य, पिंकी सिरवैया, कांता उइके, श्वेता सिलावट ठाकुर, डॉ. अनीता चौधरी, रीना किरार, सारिका पंथी, शैला सोमकुंवर, करिश्मा सिरवैया, संघमित्रा गजभिए, रुचि बागड़े, पूनम अहिरवार, संघमित्रा तायवाड़े, सुनीता बामनिया, एसबी गुंजन आदि मौजूद थीं। आभार पंकज पाटिल ने व्यक्त किया।

भोपाल में बनाए गए बिजनेस फेसिलिटेशन सेंटर के संचालन में महिला उद्यमियों की सक्रिय भूमिका रहेगी। महिला उद्यमियों को सार्वजनिक उपक्रमों (पीएसयू) के साथ जोड़ने के लिए जल्द ही वीडीपी कार्यक्रम होंगे। फूड प्रोसेसिंग, डेयरी, पशुपालन, वेयरहाउस, लॉजिस्टिक, हेल्थ केयर, आईटी, निर्माण, गारमेंट जैसे क्षेत्रों अनेक क्षेत्रों पर अवसर सृजित किए जा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...