पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चिरायु अस्पताल में मरीजों के खर्च को लेकर विवाद:परिजनों ने आयुष्मान योजना से कोरोना इलाज की रखी मांग, चिरायु नेे किया इनकार

भोपालएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अस्पताल संचालक ने कहा– आयुष्मान योजना के तहत हो रहा है इलाज

चिरायु मेडिकल कॉलेज में भर्ती कोविड पॉजिटिव मरीज का इलाज आयुष्मान योजना के तहत नहीं किए जाने को लेकर प्रबंधन और परिजनों में विवाद हुआ। इसका वीडियो रविवार दोपहर वायरल हुआ। इसमें एक हॉस्पिटल अफसर संचालक डॉ. अजय गोयनका के निर्देशानुसार आयुष्मान योजना में कोविड मरीजों का इलाज नहीं होने की बात कह रहे हैं।

वीडियो के वायरल होने के करीब 6 घंटे बाद संस्थान के संचालक डॉ. अजय गोयनका ने वीडियो बयान जारी कर, आयुष्मान मरीजों काे इलाज दिए जाने की बात कही है। साथ ही संस्थान के सोशल वर्कर द्वारा आयुष्मान मरीजों का इलाज नहीं किए जाने की बात का खंडन किया है। वीडियो में कांट- छांटकर वायरल किए जाने की बात कही है।

वायरल वीडियो के मुताबिक 19 अप्रैल को कोविड के इलाज के लिए भर्ती कराया गया था। यहां 26 दिन चले इलाज के बाद मौत हो गई। अस्पताल प्रबंधन ने साढ़े तीन लाख रुपए मांगे। साथ ही महिला का शव बिल का पेमेंट हाेने के बाद सौंपने की बात कही। जबकि परिजन 6 मई के बाद का इलाज योजना के तहत करने की मांग कर रहे थे। उनका तर्क था कि जब योजना लागू नहीं थी, तब तक के करीब 3 लाख रुपए का पेमेंट किया है। राज्य

सरकार ने 6 मई से आयुष्मान योजना लागू की है। लेकिन, अस्पताल योजना के तहत इलाज देने को राजी नहीं हुए। इसके चलते विवाद हो गया। इधर, भारत निरामयम के सीईओ एस विश्वनाथन ने वायरल वीडियो के आधार पर कलेक्टर भोपाल से मामले की रिपोर्ट मांगी है। उन्होंने कहा कि रिपोर्ट के आने के बाद मामले में संबंधित अस्पताल पर कार्रवाई की जाएगी।

ऐसी घटनाएं बर्दास्त नहीं की जाएंगी: मुख्यमंत्री

घटना सामने आने के बाद मुख्यमंत्री ने कोरोना समीक्षा बैठक में साफ कर दिया कि मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना के अंतर्गत अनुबंधित कोई भी निजी अस्पताल बेड खाली होने पर योजना के पात्र मरीज का निःशुल्क उपचार करने से इंकार करे, यह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...