• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Father Used To Take 9 year old Priyanshi Every Day 20 Km Away To Teach Dance, Did Wonders In The TV Show Dance Deewane

भोपाल की बेटी के डांस की एक्ट्रेस नोरा भी दीवानी:नौ साल की बच्ची की जीतने की जिद की कहानी...

भोपाल5 महीने पहलेलेखक: अनूप दुबे

टीवी पर बच्चों के डांस रियलिटी शो 'डांस दीवाने जूनियर्स 2022' में भोपाल की बेटी प्रियांशी ने कमाल कर दिया। टॉप 100 में से शनिवार को टॉप 15 के लिए जब 9 साल की प्रियांशी मंच पर आई, तो उसका डांस देखकर एक्ट्रेस नोरा फतेही और नीतू सिंह भी खुद को रोक नहीं पाईं। प्रियांशी का डांस देख नोरा भी कुर्सी से खड़ी होकर डांस करने लगीं। वह उनकी दीवानी सी हो गईं।

प्रियांशी ने टॉप 15 के लिए क्वालीफाई कर लिया, लेकिन 9 साल की इस डांस स्टार का सफर इतना आसान नहीं रहा। पिता दीपक कनर्जी को बिजनेस में नुकसान हुआ, तो प्रियांसी को भाई के साथ CBSE स्कूल छोड़कर MP बोर्ड में आना पड़ा। दादा को खोया तो मां की पहली मंजिल से गिरकर कमर की हड्‌डी टूट गई, लेकिन पापा ने प्रियांशी को डांस सिखाना जारी रखा।

घाटा हुआ तो नहीं भर पाए बच्चों की फीस
शाहजहांनाबाद में रहने वाले दीपक कनर्जी का वॉटर प्रूफिंग का बिजनेस था। वे बताते हैं कि उन्होंने एक दोस्त के साथ मिलकर यह काम शुरू किया था। दोस्त ने उनके साथ धोखा किया, जिससे उन्हें 8 से 9 लाख रुपए का नुकसान हो गया। ऐसे में स्कूल की फीस नहीं भर पाने के कारण दोनों बच्चों का एडमिशन MP बोर्ड के प्राइवेट स्कूल में कराना पड़ा।

बिजनेस में हुए इस नुकसान और लॉकडाउन ने कमर तोड़ दी। इसी बीच पापा (प्रियांशी के दादा) को पैर में गैंगरिन हो गई और उनकी मौत हो गई। पत्नी भी पहली मंजिल से ऐसी गिरी कि उसकी कमर की हड्‌डी टूट गई। किसी तरह छोटी-मोटी नौकरी की। बेटी को रोज अवधपुरी डांस सिखाने लाना मुश्किल था, लेकिन बेटी की जिद थी कि पापा डांस तो सीखना ही है।

वह क्लास के बाद घर पर खुद ही डांस करती थी। उसकी लगन देखकर मैं खुद ही उसे शाहजहांनाबाद से अवधपुरी करीब 20 किमी दूर रोज ले जाता था। आज बेटी ने कमाल कर दिखाया। उसका डांस देखकर सभी खुश हैं। आज बेटी ने हमारा सिर गर्व से ऊंचा कर दिया।

4 से 14 साल के बच्चे शामिल
'डांस दीवाने' जूनियर्स 2022 में 4 साल से लेकर 14 वर्ष तक की आयु के बच्चों हिस्सा ले रहे हैं। सभी शहरों से प्रतियोगिता के लिए बच्चों को चुना गया है। टॉप 100 बच्चों को मुंबई बुलाया गया। करीब सवा महीने तक चले कॉम्पटिशन के बाद टॉप 15 का चयन हुआ। इसके बाद टॉप-10 का तीन से चार राउंड के बाद चयन होगा। इसी तरह टॉप 6 से लेकर फिर टॉप-1 को चुना जाएगा।