आमिर खान के विज्ञापन पर विवाद:शादी के बाद गृह प्रवेश करते दिखे; MP के गृह मंत्री बोले- इसकी इजाजत नहीं

भोपाल4 महीने पहले

बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान एक विज्ञापन को लेकर विवादों में घिर गए हैं। विज्ञापन एक निजी बैंक का है, जिसमें उनके साथ एक्ट्रेस कियारा आडवाणी भी नजर आ रही हैं। इसमें आमिर शादी के बाद दुल्हन के गृह प्रवेश करने के उलट घर जमाई के रूप में ससुराल में गृह प्रवेश करते नजर आ रहे हैं।

इस ऐड को लेकर मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कड़ी आपत्ति जताई है। उन्होंने कहा कि ऐसे विज्ञापन से भावनाएं आहत होती हैं। उन्हें (आमिर खान) इसकी इजाजत नहीं है। मेरे पास शिकायत आई थी। जब मैंने इस विज्ञापन को देखा तो मुझे भी गलत लगा।

बुधवार को भोपाल में मीडिया से चर्चा में गृहमंत्री मिश्रा ने कहा- मेरे पास शिकायत आई है। इसके बाद निजी बैंक के लिए आमिर खान का यह विज्ञापन मैंने भी देखा है। मेरा आमिर खान से अनुरोध है कि भारतीय परंपराओं और रीति-रिवाजों को ध्यान में रखकर ही विज्ञापन करें।

भारतीय परंपरा, रीति-रिवाजों और देवी-देवताओं को लेकर आमिर खान के ऐसे मामले आते रहते हैं। तोड़-मरोड़कर अभिनय करने से धर्म विशेष की भावनाएं आहत होती हैं। किसी की भी भावना को आहत करने की इजाजत किसी को नहीं है।

निजी बैंक के विज्ञापन में कियारा आडवाणी और आमिर खान दूल्हा-दुल्हन के रूप में नजर आ रहे हैं।
निजी बैंक के विज्ञापन में कियारा आडवाणी और आमिर खान दूल्हा-दुल्हन के रूप में नजर आ रहे हैं।

विज्ञापन में यह दिखाया गया
इस ऐड में आमिर-कियारा न्यूली वेड कपल के रूप में नजर आ रहे हैं। आमिर, कियारा से कहते हैं, 'ये पहली बार है जब विदाई में दुल्हन रोई नहीं।' विज्ञापन में सामान्य प्रथा से अलग दूल्हा, दुल्हन के घर रहने जाता है, ताकि दुल्हन के बीमार पिता की देखभाल हो जाए। इस दौरान रियल लाइफ में जिस तरह दुल्हन घर में पहला कदम रखती है, उसी तरह इस ऐड में आमिर घर में पहला कदम रखकर गृह प्रवेश करते हैं। वहीं सारे मेहमान आमिर का धूमधाम से स्वागत करते हैं। इसे लेकर ही यूजर्स ट्रोल कर रहे हैं और इससे सामाजिक भावनाओं के आहत होने की बात कह रहे हैं।

विज्ञापन में बदलाव की बात कहते हुए दूल्हा बने आमिर खान दुल्हन की जगह खुद लड़की के घर में गृह प्रवेश करते नजर आ रहे हैं।
विज्ञापन में बदलाव की बात कहते हुए दूल्हा बने आमिर खान दुल्हन की जगह खुद लड़की के घर में गृह प्रवेश करते नजर आ रहे हैं।

संस्कृति बचाओ मंच ने भी दी चेतावनी
आमिर खान के इस ऐड को लेकर संस्कृति बचाओ मंच ने भी नाराजगी जताई है। मंच के अध्यक्ष चंद्रशेखर तिवारी कहा- मैं आमिर खान से पूछना चाहता हूं कि सिर्फ हिंदू धर्म की प्रथाओं को बदलवाने का ठेका आपने ले रखा है। हमारे देवी-देवताओं का अपमान करना, हिंदू धर्म को आघात पहुंचाना, यही आपका उद्देश्य है।

हिंदू धर्म में मातृ शक्ति को सर्वोपरि स्थान दिया गया है। स्त्री का सम्मान होता है। इसलिए गृह प्रवेश में भी पुत्र वधू का प्रथम चरण हमारे घर में प्रवेश करता है और आप उस प्रथा को बदलने का प्रयास करने की बात कर रहे हैं। इसका संस्कृति बचाओ मंच विरोध करता है।

विज्ञापन में आमिर खान शादी के बाद घर जमाई बनकर कियारा के घर पहुंचते हैं, इसमें वह परम्परा बदलने की बात कर रहे हैं।
विज्ञापन में आमिर खान शादी के बाद घर जमाई बनकर कियारा के घर पहुंचते हैं, इसमें वह परम्परा बदलने की बात कर रहे हैं।

डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री भी हो चुके हैं गुस्सा
'द कश्मीर फाइल्स' मूवी के डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री भी इस विज्ञापन को लेकर उन्हें खरी-खोटी सुना चुके हैं। अब मध्यप्रदेश के गृहमंत्री मिश्रा का बयान सामने आया है।

विज्ञापन पर विवाद से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ें...

जोमैटो ऐड में ऋतिक की महाकाल थाली पर बवाल: मंदिर के पुजारी ने जताया विरोध

दो महीने पहले ऑनलाइन फूड डिलीवरी कंपनी जोमैटो के विज्ञापन को महाकाल से जोड़ने पर विवाद हो गया था। कंपनी का यह विज्ञापन एक्टर ऋतिक रोशन ने किया था। इसमें वे कह रहे थे- थाली का मन किया। उज्जैन में हैं, तो महाकाल से मंगा लिया। महाकाल मंदिर के पुजारियों ने इस पर कड़ा विरोध जताया था। उनका कहना है कि महाकाल मंदिर किसी थाली की डिलीवरी नहीं करता है। जोमैटो और ऋतिक रोशन इस विज्ञापन पर माफी मांगें। पूरी खबर पढ़ें...

लाल सिंह चड्‌ढा का विरोध: लोग बोले- हिन्दू संस्कृति का अपमान करते हैं

आमिर खान की पिछली फिल्म 'लाल सिंह चड्ढा' की रिलीज से पहले ही सोशल मीडिया यूजर्स फिल्म के बायकॉट की मांग कर रहे थे। दरअसल, लोगों का आरोप था कि आमिर अपनी फिल्मों में हिंदू संस्कृति का अपमान करते हैं और उसे नीचा भी दिखाते हैं। उस वक्त ट्विटर पर #BoycottLaalSinghChaddha जमकर ट्रेंड हुआ था। पूरी खबर पढ़ें...

करीना ने ऐड में नहीं लगाई बिंदी:सोशल मीडिया पर फिर हुआ ट्रेंड 'नो बिंदी नो बिजनेस'

इसी साल मालाबार गोल्ड अक्षय तृतीया के मौके पर ज्वेलरी का नया विज्ञापन लाया था। विज्ञापन में करीना कपूर दिख रही थीं। इस ऐड पर यूजर्स करीना के बिंदी नहीं लगाने से भड़क गए थे। ट्रोलर्स का मानना था कि अक्षय तृतीया हिंदुओं का त्योहार है। पर्व या त्योहार में हिंदू औरतें कुमकुम या बिंदी लगाती हैं फिर ऐड बिना बिंदी क्यों? ऐसा दिखाना हिंदू धर्म का अपमान है। ये धीरे-धीरे हिंदू धर्म की संस्कृति को बदलने की कोशिश हो रही है। पूरी खबर पढ़ें...

फैब इंडिया का फेस्टिव कैंपेन विवादों में, दिवाली पर जश्न-ए-रिवाज कैंपेन का विरोध

पिछले साल लाइफस्टाइल प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनी फैब इंडिया अपने फेस्टिव कैंपेन को लेकर विवादों में आ गई है। ट्विटर पर इस कैंपेन को लेकर जमकर बवाल मचा था। कंपनी ने दिवाली से पहले जश्न-ए-रिवाज नाम से एक विज्ञापन कैंपेन शुरू किया था। इसे लेकर कंपनी ने एक ट्वीट में लिखा था, 'दिवाली का हम प्यार और प्रकाश के त्योहार के तौर पर वेलकम करते हैं, फैब इंडिया का जश्न-ए-रिवाज एक ऐसा कलेक्शन है, जो इंडियन कल्चर की खूबसूरती को दिखाता है।' फैब इंडिया का यह कैंपेन कई लोगों को पसंद नहीं आया। पूरी खबर पढ़ें...