पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Firefighters Carried Out Bhopal's Largest Rescue Operation In Kohifija Area Of Bhopal, 35 People Were Saved Alive

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रियल हीरोज की कहानी:आग लगने से दोनों फ्लोर पर धुआं था, लोग कह रहे थे- भैया हमें बचाइए; हमने लैडर के सहारे एक-एक कर सभी को उतारा, बचाए 35 लोग

भोपाल3 महीने पहलेलेखक: राजेश गाबा
यासिर अली और आसिम खान फायरमैन जिन्होंने बचाई 35 लोगों की जान।
  • कोहेफिजा स्थित ऑर्चिड मैरिज हॉल में सगाई कार्यक्रम के दौरान सिलेंडर फटने से लगी थी आग

कहीं आग लगती है, तो लोग दूर भागते हैं, लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो आग में फंसे लाेगों की जान बचाने के लिए अपनी जान जोखिम में डाल देते हैं। ऐसे ही जाबांज हैं भोपाल फायर ब्रिगेड के फायर मैन आसिम खान, यासिर अली और नीलेश।

मंगलवार शाम करीब 7 बजे कोहेफिजा स्थित ऑर्चिड मैरिज हॉल में सगाई का कार्यक्रम चल रहा था। किचन में सिलेंडर ब्लास्ट हो गया। देखते ही देखते बिल्डिंग में आग फैल गई। दूसरी मंजिल पर लोग फंस गए। धुंए से लोगों का दम घुट रहा था। दोनों फायरमैन ने लैडर और रस्सी की मदद से करीब 35 लोगों की जान बचाकर सलामत निकाला। दोनों के लिए भी भोपाल में अब तक का ये सबसे बड़ा रेस्क्यू ऑपरेशन रहा। दैनिक भास्कर ने इन रियल हीरोज से बातचीत की।

फायर फाइटर्स बोले - ईश्वर ने इस काबिल बनाया कि किसी के काम आ सके

'आसिम खान। फायर ब्रिगेड में चालक और फायरमैन। 17 दिसंबर की शाम 7 बजे काॅल आया, कोहेफिजा के ऑर्चिड मैरिज हॉल में सिलेंडर फटने से आग लग गई है। मैं दो फायरमैन के साथ स्पॉट पर पहुंचा। आग और धुंए में 35 लोग फंसे थे। दूसरी मंजिल पर मौजूद लोग बचाओ-बचाओ चिल्ला रहे थे। इस दौरान भीड़ भी इकट्ठा हो गई। हमने होटल के आसपास खड़े वाहनों को पहले हटवाया। एक टीम आग बुझाने में लगी थी। मैं, फायरमैन यासिर अली और नीलेश तीनों ने रेस्क्यू शुरू किया।

बालकनी में भीड़ थी थर्ड और फोर्थ फ्लोर पर भी। यहां 3 माह से लेकर बच्चे से लेकर पुरुष, महिलाएं और बुजुर्ग थे। लोग सोच रहे थे कूद जाएं। क्योंकि थर्ड फ्लोर पर धुआं भरने के कारण सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। हमने लैडर के सहारे लोगों को उतारना शुरू किया। रस्सी के सहारे सेकंड फ्लोर पर फंसे लोगों को मेन रोड साइड में उतारने के लिए खिड़कियों में लगे कांचों को भी तोड़ा। लैडर से 25 लोगों को निकाला। बाकी को पीछे के रास्ते धुआं कम होने पर उतारा। इस दौरान हम कई बार गिरे भी थे, क्योंकि हर जगह धुआं भरा था। रोशनी तो आ रही थी, लेकिन धुएं की वजह से कुछ दिख नहीं रहा था।'

'यासिर अली फतेहगढ़ में फायर मैन। 12 साल से जॉब इस प्रोफेशन में हूं। सैकड़ों जानों का बचा चुका हूं। जब हम घटनास्थल पर पहुंचे, तो देखा कि फर्स्ट फ्लाेर पर बने किचन से धुआं निकल रहा था। ऊपर वाले हॉल से भी। सबसे छोटी बच्ची 3 महीने की और सबसे बड़ी बच्ची 9 साल की। सब हमें देखकर कहने लगे कि अंकल हमें बचाइए। हमने कहा कि घबराइए नहीं, हम हेल्प करेंगे। हम लैडर लगाकर टॉप फ्लोर पर पहुंचे। रस्सी कमर से बांधी। उसे नीचे लटकाया। वहां से बांध-बांधकर एक-एक करके बच्चों को उतारा। कई महिलाएं धुंए से इतनी परेशान हो गई थीं, वो कह रही थीं, भैया, हमें निकालो, नहीं कूद जाएंगे। मैंने साथी नीलेश और आसिम की मदद से एक-एक करके सबको उतारना शुरू किया।

बच्चों को बुजुर्गाें को फिर लेडीज और इसके बाद जेंट्स को उतारा। हमें धुंए की वजह से कुछ दिखा तो नहीं, लेकिन लोगों के कराहने की आवाज़ें आ रही थीं। मैं उनके पास पहुंचा और हाथ पकड़कर निकाला। पहली कोशिश में करीब 30-35 लोगों को बचाया था।'

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

और पढ़ें