पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • First Job Was Offered To The Unemployed, Then By Sending A Link In The Name Of Registration, Withdrew Money From The Bank Account

जॉब दिलाने के नाम पर ठगी:बेरोजगार को पहले नौकरी का ऑफर दिया, फिर रजिस्ट्रेशन के नाम पर लिंक भेजकर निकाल लिए बैंक खाते से रुपए, गिरफ्तार

भोपाल3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस गिरफ्त में आरोपी। - Dainik Bhaskar
पुलिस गिरफ्त में आरोपी।

राजधानी में बेरोजगारों को नौकरी का ऑफर देकर ठगी करने के मामले में साइबर पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। आरोपी के सहयोगियों को उत्तर प्रदेश पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। आरोपी बेरोजगारों को कॉल कर नौकरी का ऑफर देते थे। फिर रजिस्ट्रेशन के नाम पर मोबाइल पर लिंक भेजकर जानकारी मांगते थे। इसमें शातिर ठग पीड़ितों से बैंक की गोपनीय जानकारी भी हासिल कर लेते थे। फिर उनके बैंक से रुपए निकाल लेते थे। भोपाल साइबर पुलिस ने एक आरोपी संजय सिंह को दिल्ली के मयूर विहार से गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने बताया कि पीड़ित सुमित रोहिरा बैरागढ़ में रहते हैं। वह प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहा है। वह नौकरी डॉट पर नौकरी के लिए सर्च करता था। इस बीच सर्चिंग के बाद पीड़ित के पास अज्ञात नंबर से कॉल आया, जिसने कस्टमर केयर जॉब के लिए पीड़ित को ऑफर किया। इसके बाद अज्ञात नंबर से फरियादी को लिंक आई। जिसे ओपन करने पर जॉब के लिए रजिस्ट्रेशन फॉर्म था। इस फॉर्म को भरते वक्त फरियादी ने गोपनीय जानकारी जैसे खाता नंबर, एटीएम नंबर, आदि भी भर दिया। इसके बाद फरियादी को उसके मोबाइल पर ओटीपी प्राप्त हुआ। ओटीपी भी फरियादी द्वारा फॉर्म में भर दिया गया। जिसके बाद उसके खाते से 7 बार में कुल 31,448 रुपए डेबिट हो गए। फिरयादी के द्वारा इस दौरान मैसेज बॉक्स में खाते से राशि डेबिट होने का मैसेज भी नहीं देखा गया।

पुलिस ने बताया कि शिकायत के बाद आवेदन प्राप्त होने के बाद आवश्यक तकनीकी जानकारी एकत्र की गई। जिससे फ्रॉड में गई राशि दिल्ली मयूर विहार के एक खाता में ट्रांसफर होना पाई गई। साक्ष्यों के कई खाते खुलवाकर फ्रॉड राशि ट्रांसफर और एटीएम से निकालने का कार्य किया जाता था। आरोपी के अन्य सहयोगी जो इसके द्वारा दिए गए खाते का प्रयोग फ्रॉड राशि को निकालने में करते थे। उत्तर प्रदेश की अलीगढ़ पुलिस ने आरोपी के कई खाते और अपराध में प्रयुक्त मोबाइल फोन व सिम कार्ड जब्त किए है। आरोपी के द्वारा अपने सहयोगों के दिए गए खातो में लाखों रुपए क्रेडिट डेविट भी हुए है। आरोपी से घटना में प्रयुक्त मोबाइल आधार कार्ड व पेन कार्ड जब्त किया है।

खबरें और भी हैं...