• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • For The First Time In 10 Years; Beginning Of December With Mawthe And Badal; Mercury 23.8 Degrees

वेदर अपडेट:10 साल में पहली बार; मावठे और बादल से दिसंबर की शुरुआत, पारा 23.8 डिग्री

भोपाल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बड़ा तालाब। - Dainik Bhaskar
बड़ा तालाब।
  • आज भी शहर में बादल, मावठे और बूंदाबांदी के आसार

राजधानी सहित प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में दिसंबर की शुरुआत मावठे की बूंदों, बादल और ठंडक से हुई। 10 साल में पहली बार दिसंबर के पहले दिन मौसम का मिजाज ऐसा रहा। भोपाल में दिन का तापमान 23.8 डिग्री दर्ज किया गया, जो सामान्य से 4 डिग्री कम रहा।

यह भी 10 साल में 1 दिसंबर को दर्ज दिन का सबसे कम तापमान है। भोपाल में बादल छाने के कारण धूप नहीं निकली और सर्द हवा चलने से फिजा में ठंडक घुल गई। ठंडक की वजह से पारे की चाल भी धीमी पड़ गई थी। बुधवार को दर्ज 23.8 डिग्री तापमान इस सीजन में भी दिन का सबसे कम तापमान है।

ठंडक का असर- 9 घंटे में सिर्फ 6.6 डिग्री बढ़ सका था तापमान

दिन में हुई ठंडक के कारण सुबह 5:30 बजे से दोपहर 2:30 बजे तक 9 घंटे में तापमान सिर्फ 6.6 डिग्री ही बढ़ सका था। सुबह 5:30 बजे पारा 16.4 डिग्री पर था, जो दोपहर 2:30 बजे 23 डिग्री तक ही पहुंच सका था। 2012 से 2020 तक 1 दिसंबर को बारिश दर्ज नहीं हुई।

यह है वजह

मौसम वैज्ञानिक एचएस पांडे ने बताया कि अरब सागर के दक्षिणी पूर्वी एवं पूर्व मध्य हिस्से में 5.8 किमी ऊंचाई तक चक्रवाती हवा का घेरा बना है। इसी घेरे से गुजरात के कच्छ होती हुई एक ट्रर्फ लाइन गुजर रही है। इससे भोपाल सहित पश्चिमी मप्र में बहुत नमी आ रही है।

अब बनेगा तूफान

पांडे ने बताया कि अंडमान सागर व उसके आसपास कम दबाव का क्षेत्र बन गया है। गुरुवार को यह डिप्रेशन में बदलेगा और फिर अगले दिन यह तूफान में बदल जाएगा। इसके उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढ़ने की संभावना है।

खबरें और भी हैं...