भोपाल में 4 साल की बच्ची को कुत्ते ने काटा:टीम पकड़ने पहुंची तो आड़े आ गई पेट लवर, बोली- कुत्ते नहीं, बच्चे आवारा

भोपालएक महीने पहले

भोपाल के कोलार इलाके में 4 साल की बच्ची पर कुत्ते ने हमला कर दिया। बच्ची घर के पास खेल रही थी, तभी झुंड में से एक कुत्ता बच्ची पर टूट पड़ा। लोगों ने उसे बचाया। मोहल्ले वालों की शिकायत पर जब नगर निगम की टीम कुत्तों को पकड़ने पहुंची तो एक पेट लवर महिला आड़े आ गई। लोगों का आरोप है कि महिला ने टीम को कुत्तों को नहीं ले जाने दिया। उसने टीम से कहा कि आवारा कुत्ते नहीं, बच्चे हैं। घायल बच्ची के परिजन ने पेट लवर महिला की कोलार रोड थाने में शिकायत की है।

सर्वधम कॉलोनी निवासी भगवान दास (32), पत्नी के साथ दानिश हिल्स व्यू पर मजदूरी करते हैं। घटना 3 नवंबर की है। पुलिस में शिकायत के बाद ये मामला सामने आया है। 4 साल की बेटी अंचल को कुत्ते ने हाट पर काटा है। वसुंधरा नाम की महिला ने नगर निगम टीम को आवारा कुत्तों को नहीं पकड़ने दिया। महिला कुत्तों को रोज खाना खिलाती है। पेट लवर महिला ने भी दूसरे पक्ष के खिलाफ थाने में शिकायत की है।

कोलार थाना प्रभारी चंद्रकांत पटेल ने बताया कि मोहल्ले वालों का कहना है कि आवारा कुत्ते उनके बच्चों पर हमला करते हैं, इनसे काफी दिक्कत होती है। वहीं, वसुंधरा का कहना है, वो भी जीव हैं, उन्हें भी जीने का हक है। दोनों की शिकायत पर पुलिस जांच कर रही है।

पेट लवर ने कहा- कुत्ते आवारा नहीं, बच्चे आवारा हैं...
भगवान दास का आरोप है वसुंधरा को मोहल्ले वालों ने समझाया कि आवारा कुत्ते बच्चों के लिए खतरा बनते जा रहे हैं। इस पर वह झगड़ा करने लगी। बोली- कुत्ते आवारा नहीं हैं, यहां के बच्चे आवारा हैं। एक भी कुत्ता इस कॉलोनी से नहीं जाएगा। इस पर उसे कहा कि मेरी बेटी को कुत्ते ने काट लिया है, तो बोली कि अगली बार काटेगा तो देखा जाएगा। भगवानदास के मुताबिक, इससे पहले भी नगर निगम की टीम कुत्ते को ले गई थी, लेकिन महिला उसे वापस ले आई।

भोपाल में स्ट्रीट डॉग्स पहले भी कर चुके हैं हमले...

3 महीने पहले बच्ची की आंख नोच ली थी

17 अगस्त की शाम सुहानी पर कुत्ते ने हमला कर दिया था। उसका इलाज हमीदिया में चला। बच्ची को देखने मंत्री विश्वास सारंग भी अस्पताल पहुंचे थे। सुहानी अब ठीक है। घटना के बाद निगम टीम ने बांखेड़ी से 60 आवारा कुत्तों को पकड़ा था।
17 अगस्त की शाम सुहानी पर कुत्ते ने हमला कर दिया था। उसका इलाज हमीदिया में चला। बच्ची को देखने मंत्री विश्वास सारंग भी अस्पताल पहुंचे थे। सुहानी अब ठीक है। घटना के बाद निगम टीम ने बांखेड़ी से 60 आवारा कुत्तों को पकड़ा था।

बांसखेड़ी में रहने वाले शिवकुमार कुशवाह की 7 साल की बेटी सुहानी शाम को घर के पास से गुजर रही थी। एक कुत्ते ने उस पर हमला कर दिया था। कुत्ते ने बच्ची की आंख नोंच दी थी। सिर से मांस बाहर निकाल दिया था। बच्चों को लोग बचाकर अस्पताल लेकर पहुंचे थे। घटना तीन महीने पहले की है। पूरी खबर पढ़िए

जनवरी में भी मासूम पर कुत्तों के झुंड ने हमला किया था

1 जनवरी 2022 को बागसेवनिया इलाके में चार साल की बच्ची पर 5 आवारा कुत्तों ने अटैक कर दिया था। बच्ची के सिर, कान और हाथ में गहरे घाव हुए थे। चेहरे के साथ ही पेट, कमर और कंधे पर भी चोट लगी थी। इसके बाद काफी हंगामा मचा था। हाईकोर्ट ने मामले को संज्ञान में लेकर कलेक्टर और निगम कमिश्नर से जवाब मांगा था। CM शिवराज सिंह चौहान ने भी नाराजगी जाहिर की थी। इसके बाद निगम ने कुत्तों को पकड़ने की मुहिम शुरू की थी, जो कुछ दिन बाद ही ठंडी पड़ गई। पूरी खबर पढ़िए

अशोका गार्डन में भी आवारा कुत्तों का आतंक

अशोका गार्डन के आशीष वर्मा की 6 साल की बेटी निमिशा घर के बाहर खेल रही थी, तभी 3-4 कुत्तों ने निमिशा को घेर लिया था।
अशोका गार्डन के आशीष वर्मा की 6 साल की बेटी निमिशा घर के बाहर खेल रही थी, तभी 3-4 कुत्तों ने निमिशा को घेर लिया था।

26 फरवरी को ई-6 वर्धमान ग्रीन पार्क के पास अशोका गार्डन में घर के सामने खेल रही 6 साल की बच्ची को कुत्तों ने घेर लिया था। बच्ची निमिशा को 3 से 4 कुत्ते नोंचने लगे थे, तभी पड़ोसियों और परिजन ने दौड़कर कुत्तों को भगाया था। बावजूद कुत्तों ने पैर में काट लिया था। गहरा जख्म होने से निमिशा को प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। पूरी खबर पढ़िए

ये खबर भी पढ़िए..

14 दिन पहले ही खरगोन में कुत्ते ने 5 साल की बच्ची को मार डाला

खरगोन में 14 दिन पहले आवारा कुत्ते के हमले में 5 साल की बच्ची की जान चली गई। बच्ची घर से किराने का सामान लेने के लिए घर से बाहर निकली थी। कुछ ही दूर पहुंची थी कि रास्ते में एक कुत्ता आया और सीधे बच्ची की गर्दन पर हमला कर दिया। वहां मौजूद लोगों ने बच्ची को बड़ी मुश्किल से कुत्ते को कब्जे से छुड़ाया और अस्पताल लेकर गए। बच्ची को लहूलुहान हालत में अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उसकी मौत हो गई। डॉक्टरों का कहना है कि अधिक खून बहने से बच्ची ने दम तोड़ दिया। पूरी खबर पढ़िए

रतलाम में तो घर में घुसकर कुत्ते ने डेढ़ साल के मासूम को काटा

घटना 6 दिन पहले शाम 4.30 बजे की है। परिजन ने बच्चे की रोने की आ‌वाज सुनी और कुत्ते से बच्चे को छुड़ाया। जिला अस्पताल में कुत्ते के काटने से लटकी गाल की चमड़ी को जोड़ने के लिए पहले एक और कान के पास दो टांके लगाए गए।
घटना 6 दिन पहले शाम 4.30 बजे की है। परिजन ने बच्चे की रोने की आ‌वाज सुनी और कुत्ते से बच्चे को छुड़ाया। जिला अस्पताल में कुत्ते के काटने से लटकी गाल की चमड़ी को जोड़ने के लिए पहले एक और कान के पास दो टांके लगाए गए।

रतलाम के बापूनगर में डेढ़ साल के मासूम पर कुत्ते ने हमला कर दिया। बच्चा घर में खेल रहा था, तभी कुत्ते ने हमला कर बच्चे को गाल पर काट लिया। चेहरे पर घाव गहरा होने से डेढ़ साल के मासूम को तीन टांके लगाना पड़े। डॉग बाइटिंग के मामले में रतलाम प्रदेश में दूसरे नंबर पर है। पूरी खबर पढ़िए