पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Fracture In Foot Due To Bike Slipping, JP Went To Private Hospital And Had Infection After Operation.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापरवाही का आरोप:बाइक फिसलने से पैर में फ्रैक्चर, जेपी गए तो निजी अस्पताल भेजा ऑपरेशन के बाद इन्फेक्शन हुआ तो काटना पड़ा युवक का पैर

भोपाल5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
विकास - Dainik Bhaskar
विकास
  • पिता का आरोप- ऑपरेशन कर 4 दिन तक देखने तक नहीं आए, चंद रुपयों के कमीशन के लालच में बर्बाद की जिंदगी

हमेशा से यही सुना था कि डॉक्टर भगवान का रूप होते हैं, लेकिन यही भगवान मुझे जीवनभर का दर्द देंगे, ये कभी सपने में भी नहीं सोचा था। 3 महीने पहले यह सोचकर भोपाल आया था कि यहां से डीएमएलटी करके छिंदवाड़ा में पैथोलॉजी लैब शुरू करूंगा। लेकिन, जेपी अस्पताल के डॉक्टर ने चंद रुपयों के कमीशन की लालच में मुझे अपाहिज बना दिया है। हालांकि पैर कटने के बाद भी मैंने हिम्मत नहीं हारी है, मैं अपने हक के लिए लडूंगा और जीतूंगा। यह कहना है विकास रायकवार का।

अरेरा काॅलोनी में कुत्ते के सामने आने से स्लिप हुई थी बाइक
23 साल के विकास ने प्राइवेट यूनिवर्सिटी में प्रवेश लिया था। दिसंबर में भोपाल आए। कक्षाएं फरवरी से शुरू होने की बताई गई तो वे जोमेटो में डिलीवरी ब्वॉय बन गए। 5 जनवरी की रात 10 बजे विकास डिलीवरी देकर लौट रहे थे। अरेरा कॉलोनी में कुत्ते के सामने आने से बाइक फिसली तो उनके बाएं पैर में घुटने के नीचे फ्रैक्चर हो गया।

निजी हॉस्पिटल जाने को कहा
विकास का कहना है कि जेपी में डॉ. तन्मय शाह ने देखा तो कहा कि ऑपरेशन करना होगा। यहां सुविधाएं नहीं मिल पाएंगी। अगर आयुष्मान कार्ड और आधार कार्ड है तो अरेरा ट्रामा एंड क्रिटिकल केयर हॉस्पिटल में भर्ती हो जाओ। वहां मैं ऑपरेशन कर दूंगा, पैसा भी नहीं लगेगा।

कमलनाथ ने भिजवाया नागपुर
पिता भगवान ने बताया कि हालत बिगड़नं पर 23 जनवरी को पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से संपर्क किया, उन्होंने 20 हजार रुपए देकर गाड़ी की व्यवस्था कराई। हम विकास को लेकर नागपुर पहुंचे। यहां पांच फरवरी को विकास का पैर काटा गया। हमने इसकी शिकायत हबीबगंज थाने में भी की है।

डॉक्टर की सफाई- इलाज के बीच परिजनों ने कराया डिस्चार्ज
विकास के पैर में फ्रेक्चर था। वे अपनी इच्छा से अरेरा ट्रामा एंड क्रिटिकल केयर हॉस्पिटल में भर्ती हुए थे। मैंने वहां ऑपरेशन किया था। कई मरीजों को ऑपरेशन के बाद इंफेक्शन होता है। उनका इलाज अच्छा चल रहा था, सुधार हो रहा था। 22 जनवरी को परिजनों ने खुद ही डिस्चार्ज कराया। उस वक्त भी पूरी तरह क्लीन था। 15 दिन बाद विकास के परिजनों ने फोन पर बताया कि इंफेक्शन बढ़ गया है। नागपुर के डॉक्टर पैर काटने की बात कह रहे हैं। अब इन 15 दिनों में क्या हुआ, मैं क्या कह सकता हूं। यह तो ब्लैकमेलिंग जैसा लगता है।
डॉ. तन्मय शाह, ऑर्थोपेडिक सर्जन, जेपी अस्पताल

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज जीवन में कोई अप्रत्याशित बदलाव आएगा। उसे स्वीकारना आपके लिए भाग्योदय दायक रहेगा। परिवार से संबंधित किसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर विचार विमर्श में आपकी सलाह को विशेष सहमति दी जाएगी। नेगेटिव-...

    और पढ़ें