• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Fraud Of 32 Lakh Rupees In The Name Of Fish Farming, The Gang Absconded By Locking The Office In Lockdown

हरियाणा की कंपनी ने भोपाल के किसानों को ठगा:मछली पालन के नाम पर 32 लाख रुपए की ठगी, लाॅकडाउन में दफ्तर पर ताला लगाकर गिरोह हुआ फरार

भोपाल8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

भोपाल के कोहेफिजा इलाके में हरियाणा की कंपनी ने मछली पालन के नाम पर करीब 32 लाख रुपए किसानों से ठग कर भाग निकली। इससे पहले भी कंपनी के खिलाफ कोहेफिजा थाने में मामला दर्ज हो चुका है। पुलिस का कहना है कि कंपनी के खिलाफ लगातार शिकायतें पुलिस को मिल रही हैं।

कोहेफिजा पुलिस के मुताबिक, संजय विश्वकर्मा और लक्ष्मण सिंह पेशे से किसान हैं। दोनों ने हलालपुर स्थित हरियाणा की फिशरीज नामक एक कंपनी में मछली पालन के नाम पर निवेश किया था। संजय विश्वकर्मा ने करीब 15 लाख रुपए देकर अनुबंध किया था। इस मामले में पुलिस ने प्रहलाद शर्मा, राजेंद्र सिंह राजपूत, बृजेश कश्यप, विजय शर्मा, मनोज और धर्मेंद्र के खिलाफ केस दर्ज किया।

इसी तरह 60 वर्षीय लक्ष्मण सिंह ने भी कंपनी से अनुबंध कर करीब 16.50 लाख रुपए निवेश किए पुलिस ने इस मामले में प्रहलाद शर्मा, राजेंद्र सिंह राजपूत, बृजेश कश्यप और विनय के खिलाफ केस दर्ज किया है। इसमें कुछ आरोपी कंपनी के कर्मचारी हैं। कंपनी के मुख्य कर्ताधर्ता लॉकडाउन के बाद से कंपनी के दफ्तर में ताला डालकर गायब हो गए। पुलिस का कहना है कि फरार आरोपियों की तलाश करने जल्द ही टीम हरियाणा जाएगी। साथ ही दूसरे मामले के आवेदन की जांच के बाद केस दर्ज किए जाएंगे। अब तक कई किसानों को कंपनी ने मछली पालन के नाम पर ठगा है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।

दोगुना रकम देने का झांसा देकर की ठगी

कंपनी किसानों से यहकर निवेश कराया था कि सालभर में उनकी रकम दोगुनी हो जाएगी। लालच में आए किसानों ने कंपनी में निवेश कर दिया। कंपनी करीब सालभर भोपाल में दफ्तर खोली रखी। जब किसानों की रकम वापसी का समय आया तभी कंपनी के लोग दफ्तर में ताला लगाकर गायब हो गए।

खबरें और भी हैं...