पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई व्यवस्था पर विचार:प्रदेश में विधायक-अफसरों की 25 हजार गाड़ियों का फास्टैग खर्च उठाएगी सरकार

भोपालएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतिकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
प्रतिकात्मक फोटो
  • प्रदेश में एमपीआरडीसी के 75 और एनएचएआई के 48 टोल प्लाजा हैं

प्रदेश में मध्यप्रदेश सड़क विकास निगम (एमपीआरडीसी) के 75 और राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) के 48 टोल पर अफसरों और विधायकों के वाहनों का फास्टैग लेन का खर्चा सरकार द्वारा उठाए जाने पर विचार चल रहा है। इस बारे में लोक निर्माण और परिवहन विभाग के बीच बातचीत चल रही है। चूंकि फास्टैग लेन का टोल एडवांस दिया जाना है।

इसके लिए नई व्यवस्था बनाई जा रही है, जिसमें पहला जिस विभाग का वाहन है, वह फास्टैग लेन चार्ज का भुगतान करे। दूसरा सभी विभागों के शासकीय वाहनों की एक सूची तैयार हो और सभी वाहनों का फास्टैग का एकमुश्त भुगतान किया जा सके।

दरअसल राज्य सरकार के प्रदेश में करीब 25 हजार वाहन हैं जो शासन की सेवा में लगे हैं। अभी तक वाहन की पहचान सरकारी वाहन के रजिस्ट्रेशन से होती है और टोल पर इन वाहनों की आवाजाही फ्री थी। अब नई व्यवस्था में एनएचएआई ने फास्टैग लेन के लिए एक इलेक्ट्रानिक टोल कनेक्शन तकनीक तैयार की है जिसे शुरुआत मे राष्ट्रीय राजमार्ग के प्लाजा पर लगाया गया है। फास्टैग को वाहन के विंड स्क्रीन पर लगाया जाता है, ताकि टोल प्लाजा पर मौजूद सेंसर पर पढ़ा जा सके।

इधर विधानसभा ने परिवहन विभाग को भेजा प्रस्ताव

विधानसभा सचिवालय ने माननीयों को फास्टैग लेन पर आवाजाही की सुविधा मुफ्त में दिए जाने का प्रस्ताव तैयार कर परिवहन विभाग को भेज दिया है। प्रस्ताव के अनुसार मौजूदा विधायकों के दो वाहनों और पूर्व विधायकों को के एक वाहन को फास्टैग लेन पर आवाजाही की फ्री सुविधा दिया जाना है। इसमें वर्तमान 229 में से 31 में मुख्यमंत्री समेत कैबिनेट और राज्यमंत्री 30 हैं जिन्हें शासन की सभी सुविधाएं राज्य सरकार यानी सामान्य प्रशासन विभाग देता है।

माननीयों का खुद का एक वाहन, दूसरा परिवार का भी फ्री

फास्टैग पर विधायकों के दो वाहन फ्री किए जाने का प्रस्ताव है, जिसके अनुसार एक वाहन तो माननीय का होगा, जबकि दूसरा उनके परिवार का रहेगा। इस तरह माननीयों के दो वाहन फास्टैग लेन पर किया जाना है। वहीं, पूर्व विधायक प्रदेश में जिनकी संख्या 1100 के करीब है, उनके स्वयं के वाहन को मुफ्त आवाजाही की सुविधा दिया जाना प्रस्तावित है। लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव का कहना है कि फास्टैग के मामले में अभी चर्चा चल रही है। इस बारे में अभी अंतिम निर्णय लिया जाना है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- वर्तमान परिस्थितियों को समझते हुए भविष्य संबंधी योजनाओं पर कुछ विचार विमर्श करेंगे। तथा परिवार में चल रही अव्यवस्था को भी दूर करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण नियम बनाएंगे और आप काफी हद तक इन कार्य...

    और पढ़ें